latest news in hindi

जबरदस्ती धर्म-परिवर्तन कराने को लेकर हिमाचल प्रदेश में नया कानून आया है। जीं हां यहां जबरन धर्मातरण पर रोक लगा दी गई है। जबरदस्ती, झांसा देकर या फिर लालच देकर धर्म-परिवर्तन करवाना अब जघन्य अपराध माना जाएगा।

तीस हजारी कोर्ट में हिंसा मामले पर देश में वकीलों का प्रदर्शन तेज हो गया है। दिल्ली के वकीलों का समर्थन करने के लिए राजस्थान, हरियाणा, पंजाब और चंडीगढ़ के वकीलों ने समर्थन किया है।

भूपेश बघेल सरकार आरक्षण की नई व्‍यवस्‍था के लिए नई नियमावली तैयार करेगी। सरकार के इस फैसले का असर अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) और गरीब सवर्णों के कोटे पर पड़ने की संभावना है।

अगर आप घूमने का प्लान बना रहे हैं और ट्रेन की टिकट बुक कराना है तो ये खबर जरूर पढ़े। जीं हां तेजस ट्रेन जो अभी जल्द ही शुरू हुई है उनमें नए ऑफर निकाले है। तेजस में महंगे किराए की वजह से आप अगर प्लान नहीं बना पा रहे थे तो ये मौका अब आपके हाथों में है। 

बीजेपी ने चुनाव में जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने जैसे मुद्दों का जमकर इस्तेमाल किया, वहीं विपक्ष ने किसानों की परेशानी और बेरोज़गारी जैसे मुद्दे उठाए।

एफएटीएफ (फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स) की बैठक में पाकिस्तान कुछ महीनों के लिए ब्लैक लिस्ट होने से बच गया है। आतंकवाद को रोकने के लिए सुझाए गए उपायों पर ठोस कार्रवाई करने के लिए पाकिस्तान को अब फरवरी, 2020 तक का वक्त दिया गया है लेकिन तब तक वो ग्रे-लिस्ट में ही रहेगा। 

अफगानिस्तान से बम धमाके की फिर बड़ी खबर आ रही है। अफगानिस्तान के नंगरहार प्रांत में शुक्रवार को एक मस्जिद के अंदर दो बम धमाके हुए। इस बम धमाके में 18 लोगों की मौत हो गई। साथ ही मिली जानकारी के अनुसार, इस बम धमाके में 50 से ज्यादा लोगों घायल हो गए है।

देश में भूकंप के डर से सहमे लोग सदमें से बाहर आ ही नही पा रहे कि तुरंत भूकंप का अगला झटका आ जा रहा है। भूकंप के झटके कम होने का नाम ही नही ले रहें हैं। भारत के राजस्थान में अब भूकंप ने अपना कहर बरपाया है। राजस्थान के बीकानेर में 4.5 तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। 

बिजली उपभोक्ताओं के लिए सरकार ये सुविधा दे रही है कि वे अपनी मन-मुताबिक किसी कंपनी से बिजली ले सकते हैं। उपभोक्ता अपनी बिजली वितरण कंपनी को कभी भी बदल सकते हैं। इस नए प्लान के तहत केंद्र सरकार ने राज्यों से कहा है कि वे 1 साल के भीतर ही कृषि के फीडर को अलग कर लें। 

इंदौर के पेट्रोल-डीजल टैंकर संचालकों ने ट्रक ऑपरेटर्स की हड़ताल को अपना समर्थन दिया है। इस मामलें में संगठन का मानना है कि यदि ये हड़ताल 3 दिन से अधिक चली तो इंदौर में ईंधन की मारा-मारी हो सकती है। संगठन के मुताबिक इंदौर में सिर्फ 3 दिनों के लिए पेट्रोल-डीजल की व्यवस्था है।