mayawati

बसपा सुप्रीमों ने शनिवार को जारी किये गये 2011 जनगणना के आंकड़ों पर केंद्र व प्रदेश सरकार की नीतियों पर सवाल उठाते हुये कहा है कि देश में बेरोजगारी ज्वलन्त राष्ट्रीय सम्स्या है किन्तु सरकारी आँकड़े गवाह हैं कि पिछले सालों में गाँवों के युवाओं में बेरोजगारी की दर तीन गुना बढ़ गई है जो इस धारणा के विपरीत है कि शहरों की तुलना में गावों में बेरोजगारी कम रहती है।

बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने ’नीट’ परीक्षा में सफल नहीं होने पर तमिलनाडु के दो लोगों द्वारा आत्महत्या किये जाने पर दुख व्यक्त करते हुये केंद्र सरकार से तमिलनाडु आदि राज्यों की मांग पर ’नीट’ जारी रखने पर पुनर्विचार करने पर बल दिया है।

सपा सुप्रीमों मायावती केवल यूपी में ही गठबन्धन तोडने में आगे नहीं हैं उन्होंने प्रदेश के बाहर दूसरे राज्यों में  भी अन्य दलों के साथ गठबन्धन कर फिर अलग होने का काम किया है। चाहे वह हरियाणा हो अथवा छत्तीसगढ।

समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) गठबंधन को लेकर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एक बार फिर बयान दिया है। अखिलेश यादव ने कहा कि जिंदगी में कई बार प्रयोग असफल होते हैं लेकिन उससे कमियों को पता चल जाता है।

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने अपनी करीब ढाई दशक पुरानी दुश्मनी भुलाकर लोकसभा चुनाव 2019 में एक साथ आए थे, लेकिन चुनाव खत्म होने के महज दो हफ्तों के भीतर ही सपा और बसपा के बीच बना गठबंधन खत्म हो चुका है।

सपा व रालोद से गठबंधन करने के बावजूद लोकसभा चुनाव में मिली करार हार के बाद बसपा सुप्रीमों मायावती के बयान पर पलटवार करते हुये मुलायम की छोटी पुत्रवधू अपर्णा यादव ने कहा है कि जो सम्मान पचाना नहीं जानता वह अपमान भी नहीं पचा पाता है।

लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन टूटने की कगार पर पहुंच चुका है। मायावती और अखिलेश के आए बयानों से साफ हो चुका है कि गठबंधन की गांठ खुल चुकी है।

लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन टूटने की कगार पर पहुंच चुका है। मायावती और अखिलेश के आए बयानों से साफ हो चुका है कि गठबंधन में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है।

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) गठबंधन की गांठ खुल चुकी है। बसपा की समीक्षा बैठक के बाद खबर आई कि मायावती ने कहा है कि बसपा उपचुनाव में अकेले उतरेगी।

मायावती ने पार्टी के हार की समीक्षा करते हुए अखिलेश यादव पर जमकर निशाना साधा जिसके बाद से मीडिया में हलचल मच गई और सपा बसपा गठबंधन के टूटने का खतरा भी साफ नजर आने लगा।