nasa

मंगल और बृहस्पति ग्रह के बीच में एक ऐसा एस्टेरॉयड पाया गया है कि अगर यह किसी धरती वासी के हाथ लग जाए तो वह मालामाल हो जाए। ख़बरों की माने तो 16 Psyche नाम के इस एस्टेरॉयड पर अब नासा ने अपनी नज़र जमा ली है।

अमेरिकी स्पेस एजेंसी NASA ने बताया है कि ऐस्टरॉइड 2020 RK2 धरती की तरफ 24046 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड से आ रहा है। अनुमान लगाया जा रहा है कि इस ऐस्टरॉइड का व्यास 36 से 81 मीटर जबकि चौड़ाई 118 से 265 फीट तक हो सकती है।

वैज्ञानिक लंबे समय से यह मानते आ रहे थे कि कभी पूरे लाल ग्रह पर पानी भरपूर मात्रा में बहता था। तीन अरब साल पहले जलवायु में आए बड़े बदलावों के कारण मंगल का नक्शा बदल गया।

नासा ने कहा कि वह 2024 में चंद्रमा पर पहली महिला और एक पुरुष एस्ट्रॉनॉट को उतारेगा। इसके लिए योजना बनाई गई है और उस पर काम भी शुरू कर दिया गया है।

नासा ने बताया कि इस खगोलीय घटना की तारीख पर दिन और रात एक ही बराबर होते हैं। भारत में एक सितंबर को यह खगोलीय घटना देखने को मिली और दो सितंबर को भी होगी।

धरती की चुंबकीय शक्ति इतनी कमजोर हो गई है कि अगर इस इलाके के ऊपर से विमान गुजरता है तो उससे संपर्क स्थापित करने में परेशानी हो सकती है।

नासा(NASA) अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी को लेकर अहम खबर सामने आई है। नासा उस एस्टेरॉयड का अध्ययन करने जा रहा है, जो धरती पर रह रहे हर इंसान को अरबपति बना दे। ये एस्टेरॉयड पूरा का पूरा लोहे, निकल और सिलिका का बना हुआ है।

एलोन मस्क की कंपनी स्पेस एक्स के ‘ड्रैगन’ कैप्सूल में सवार होकर नासा के दो अंतरिक्ष यात्री अंतरिक्ष में करीब दो महीने की परीक्षण उड़ान के बाद पृथ्वी पर सकुशल लौट आये हैं ।

पहली बार अंतरिक्ष में कोरोना मिला है, जो गायब हो कर फिर वापस आ जाता है। इस कोरोना को देखकर अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी NASA के वैज्ञानिक हैरान रह गए।