Russia

चीन दक्षिण चीन सागर से लेकर लद्दाख तक पड़ोसी देशों की जमीन हथियाने की कोशिश में लगा है। चीन के सरकारी चैनल का दावा है कि रूस का व्लादिवोस्तोक शहर असल में चीन का है।

पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में भारत और चीन के बीच तनाव चरम पर है। अब इस बीच चीन ने एक देश की जमनी हथियाने की कोशिश में है। वह देश कोई नहीं रूस है। चीन के सरकारी चैनल का दावा है कि रूस का व्लादिवोस्तोक शहर असल में चीन का है।

लद्दाख में एलएसी पर भारत और चीन के बीच तनाव चरम पर पहुंच गया है। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से बातचीत की है।

वर्ष 1999 में रूस की सत्ता में व्लादिमीर पुतिन के हाथों में आई थी। 1999 के बाद से पुतिन आज तक रूस के राष्ट्रपति हैं और वह 2036 तक इस पद पर बने रह सकते हैं।

रूस के ऐतिहासिक विजय दिवस यानी विक्ट्री डे की परेड की खास माने होते हैं। ये परेड दूसरे विश्व युद्ध में सोवियत सेनाओं की विजय और पराक्रम की याद में आयोजित की जाती है।

ऐसी जगह जहां तापमान कंपाने क्या जमा के गला देने वाला यानी -68 डिग्री सेल्सियस तक जाने का रिकार्ड है, आज उस जगह से ठंड तो छोड़ों आग की लपटे निकल रही हैं।

भारत और चीन के बीच जारी सीमा विवाद के बीच रूस ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में स्थायी सदस्यता के लिए भारत का जोरदार तरीके से समर्थन किया है।

रूस हर साल नौ मई को विक्टरी डे परेड (Victory day parade) का आयोजन करता है। लेकिन इस बार कोरोना वायरस महामारी के चलते यह परेड टाल दिया गया।

लद्दाख में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हिंसक झड़क के बाद दोनों देशों में तनाव चरम पहुंच चुका है। चीन की हरकतों को देखते हुए भारत अब हर मोर्चे पर एक्टिव हो गया है।

इस वक्त पूरी दुनिया कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ जंग लड़ रही है। इस बीच एक अच्छी खबर सामने आई है। दरअसल, रूस ने कोरोना वायरस की वैक्सीन तैयार कर ली है और अब इसका क्लीनिकल ह्यूमन ट्रायल शुरू किया है।