student

केरल के कोच्चि में नौवीं के मेधावी छात्र अरशद ने लॉकडाउन के दौरान अपनी साइकिल को बाइक में बदल दिया। अपने दादा के दोपहिया वाहन के इंजन का उपयोग कर अरशद ने बाइक बनाई है। ऑटोमोबाइल इंजीनियर बनने का सपना देखते हुए अरशद का दावा है

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 10 या उससे अधिक कोरोना पाॅजिटिव केसेज वाले जनपदों में लाॅक डाउन व्यवस्था को पूरी तरह से जारी रखने को कहा है।

उत्तर प्रदेश के मेरठ जनपद के थाना सरधना क्षेत्र में प्रेम-प्रसंग के चलते 12 वीं की एक छात्रा की उसके ही परिजनों द्वारा गोली मारकर हत्या कर दी गई। सूचना पर..

उत्तर प्रदेश के कानपुर में नवाबगंज थाना के अंतर्गत आज सुबह एक इंटर कॉलेज में एक छात्र का क्लास रूम के अंदर पंखे के सहारे लटका हुआ शव मिलने से इलाके में...

राजस्थान के बूंदी में सात वर्षीय दिव्यांग बच्चे को उसकी क्लास टीचर ने छड़ी से बेरहमी से पीटा। यही नहीं, जब टीचर का मन इतने से नहीं भरा तो उन्होंने बच्चे...

नई दिल्‍ली: विद्यार्थी लगातार आत्महत्या की ओर बढ़ रहे हैं, यह एक चिंतनीय विषय है, हाल ही में प्रसारित हुए एक आकड़े में यह बात सामने आई है कि देश की सर्वश्रेष्‍ठ श‍िक्षण संस्‍थानों में से एक आईआईटी में आत्‍महत्‍याओं का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। दरअसल, मानव संसाधन व‍िकास मंत्रालय ने जो र‍िपोर्ट …

रांची के कांके इलाके में गैंगरेप की वारदात को अंजाम देने वाले आरोपी 17 से 24 साल के हैं। इनमें से तीन शादीशुदा हैं, जबकि बाकी 9 में से एक-दो को छोड़कर ज्यादातर मजदूर हैं। जिस सेंट्रो कार से छात्रा को जबरन ले जाया गया,

शिल्प और चित्रकला की तमाम छात्राओं ने सूखी शारदा नदी की रेत पर अपनी प्रतिभा उकेरते हुए प्रभु श्री राम और अन्य देवी-देवताओं की भव्य प्रतिमाएं गढ़ी हैं।

नई दिल्ली। अपने देश में कड़े कंपटीशन के कारण ढेरों छात्र विदेशों में मेडिकल की पढ़ाई करते हैं। लेकिन उनमें से मात्र १५ फीसदी छात्र ही ‘फॉरेन मेडिकल ग्रेजुएट्स एक्जामिनेशनÓ (एफएमजीई) पास कर पाते हैं जो भारत में डॉक्टरी का लाइसेंस प्राप्त करने के लिये अनिवार्य है। इन १५ फीसदी छात्रों में से भी अधिकांश …

अहरौरा के हिनौता के सीयूर गांव में स्थित प्राथमिक विद्यालय में आज बच्चों को मिड-डे-मील भोजन में नमक और रोटी परोस दिया गया जबकि सरकार की तरफ से बच्चों को खाने के लिए चार्ट बनाकर हफ्ते में अलग अलग प्रोटीन युक्त भोजन देने की कवायद है जिसके लिए लाखों का बजट व्यय होता है।