village

अब लोगों को अपने घरों को खाली करने को कहा गया है। शनिवार को चरेकटर नाम के गांव के लोगों ने छह घरों को आग के हवाले कर दिया। शुक्रवार को भी 10 घरों में आग लगाई गई थी।

सदर तहसील के सुहेड़ी गांव में ग्रामीणों ने जब कई सालों तक इंतजार किया और निर्माणाधीन पुल पर सम्पर्क मार्ग न बनने से उन्हें मायूसी हाथ लगी तो ग्रामीण खुद ही भागीरथ बन गए और अपने आवागवन के लिए सुखेता नदी पर खुद ही लकड़ी का पुल बनाकर आत्मनिर्भर बन गए।

देश के प्रधानमंत्री जी चाहे जितना दावा करें और आत्मनिर्भर होने की बात करें लेकिन ग्रामीण क्षेत्र तब तक आत्मनिर्भर नहीं हो सकेगा जब तक गांवों में लघु एवं सीमान्त उद्योगों की स्थापना नहीं होगी।

इस लॉक डाउन में शहर और महानगर के वासी इस बीमारी में एक-दूसरे को छूने से कतराते नजर आ रहे है क्योंकि बीमारी ने संक्रमित लोगो को छूने से बड़ा रूप ले लिया है। इस कारण लोग घरों में कैद नजर आ रहे है लेकिन ग्रामीण इस महामारी में स्वछंद होकर जीवन बिता रहे है। 

रतन इस वक्त अपने गांव में फंसी हुई हैं और लॉकडाउन होने के चलते उन्हें वहां से निकलने का भी मौका नहीं मिल पा रहा है। अपने इस मुश्किल भरे दिनों को रतन राजपूत ने सोशल मीडिया के जरिए लोगों को दिखाने की कोशिश की है।

इटली में कोरोना वायरस की वजह से अभी तक लगभग 13,000 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके साथ ही 1 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित है। कोरोना के जंजाल से इटली क्या पूरा विश्व परेशान है।

बॉलीवुड एक्टर सलमान खान ने हाल ही में एक बाढ़ पीड़ित गांव को गोद लेने का फैसला लिया है। गांव का नाम है खिदरापुर, और यह कोल्हापुर जिले में है। 2019 में यहां भीषण बाढ़ आई थी। बाढ़ प्रभावित इलाके में सलमान खान और ऐलान फाउंडेशन मिलकर लोगों के लिए आश्रय और आवास का जिम्मा लिया है।

 विश्व प्रसिद्ध नगर देवबंद से आठ किलोमीटर दूर मिरगपुर एक ऐसा अनूठा गांव है, जो अपने विशेष रहन सहन और सात्विक खानपान के लिए जाना जाता है। इस गांव में ना तो कोई शराबी है और ना ही कोई नॉनवेज खाता है। यहां तक कि लोग प्याज और लहसून तक भी नहीं छूते।

पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी की मौजूदगी में चार दिन तक चली इस पाठशाला में यूपी कांग्रेस के जिला व शहर अध्यक्षों को जहां राजनीति में संघर्ष का पाठ पढ़ाया गया तो वही पार्टी के स्वर्णिम इतिहास के बारे में बताते हुए, इसे वापस पाने का संकल्प दिलाया गया।

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आरम्भ की गई सुकन्या समृद्धि योजना में लखनऊ डाक परिक्षेत्र ने पहल करते हुए नई इबारत लिखी है।