×

परिजन बोले, घर में खाने की कमी से परेशान मजदूर ने खुद को लगाई आग

कोतवाली देहात क्षेत्र के जसोवर पहाड़ी गांव निवासी अकील (40) वर्ष ने खुद को आग लगा ली। उसे जलता देख परिजनों ने इलाज के लिए मण्डलीय...

Ashiki
Published on: 31 March 2020 6:11 PM GMT
परिजन बोले, घर में खाने की कमी से परेशान मजदूर ने खुद को लगाई आग
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

बृजेंद्र दुबे, मीरजापुर: कोतवाली देहात क्षेत्र के जसोवर पहाड़ी गांव निवासी अकील (40) वर्ष ने खुद को आग लगा ली। उसे जलता देख परिजनों ने इलाज के लिए मण्डलीय अस्पताल ले गए। इस समय अकील का इलाज चल रहा है। उसके परिवार में पांच लोग हैं। उसका कालीन बुनाई का काम है। ऐसा अकील के परिजनों का कहना है।

ये पढ़ें- निजामुद्दीन केस: सरकार का बड़ा फैसला, ऐसे लोगों का टूरिस्ट वीजा किया बैन

क्या कहता है अकील

अकील का कहना है कि घर में पिछले चार दिनों से खाने के लिए कुछ नहीं था। घर में जो थोड़ा-बहुत सामान था, उसी से काम चला। अब बन्दी के कारण काम नहीं हो रहा है, जिसके कारण खाने की कमी हो गई। बच्चे भूख से तड़प रहे हैं, जो मुझसे देखा नहीं गया और मैंने आत्महत्या की कोशिश की।

अकील के घर में कुछ स्थिति में बना हुआ खाना मिला

ये पढ़ें- कमजोर हुआ अमेरिका: कोरोना ने बना दी ऐसी हालत, सड़क पर आ गए लोग

अकील की पत्नी की गुहार

अकील की पत्नी अफसरी कहती हैं कि सोमवार को सरकारी लोग आए थे। सबका नाम लिख कर गए थे। उस दिन घर में केवल उसी दिन के लिए दाना था। हमें आशा थी कि अगले दिन खाने की व्यवस्था हो गई है। फिर अगले दिन से हम भूखे मरने लगे। यही दुख देखकर इनसे रहा नहीं गया और आत्महत्या की कोशिश की।

अधिकारियों की ओर से जिलाधिकारी को लिखा गया सफाईनामा

ये पढ़ें- मालदीव बना दुनिया का पहला देश: यहां वर्चुअल अंदाज में हुआ ये काम..

जिलाधिकारी ने क्या बताया

जिलाधिकारी ने बताया कि इस प्रकरण को तत्काल संज्ञान लिया गया। उपजिलाधिकारी सदर को जांच के लिए भेजा गया। वहां पति-पत्नी का विवाद होना पाया गया। अकील का उसकी पत्नी से शराब को लेकर विवाद हुआ। फिर उसने खुद को आग लगा ली।

ये पढ़ें- मजदूरों का पलायन रोके सरकार, डर भगाने के लिए भजन-कीर्तन भी कराएं: सुप्रीम कोर्ट

तबलीगी जमात से जौनपुर आए 50 लोग और 14 बांग्लादेशी क्वॉरेंटाइन में रखे गए

मजदूरों का पलायन रोके सरकार, डर भगाने के लिए भजन-कीर्तन भी कराएं: सुप्रीम कोर्ट

कोरोना के खिलाफ जंग में पीएम मोदी की मां भी हुईं शामिल, केयर्स फंड में दिए इतने रुपये

Ashiki

Ashiki

Next Story