×

व्यापारियों के लिए खुशखबरी, सरकार ने उद्योगों के लिए किया ये बड़ा काम

इन्वेस्ट इंडिया एक्सक्लूसिव इन्वेस्टमेंट फोरम द्वारा आज इलेक्ट्राॅनिक्स सिस्टम डिजाइन एण्ड मैन्युफैक्चरिंग के सम्बन्ध में आयोजित किए गए वेबिनार में उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने कहा कि प्रदेश सरकार की इलेक्ट्रानिक्स विनिर्माण नीति के फलस्वरूप उत्तर प्रदेश में इलेक्ट्रानिक्स उद्योग के लिए एक अनुकूल वातावरण बना है।

Ashiki
Published on: 28 May 2020 6:02 PM GMT
व्यापारियों के लिए खुशखबरी, सरकार ने उद्योगों के लिए किया ये बड़ा काम
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

लखनऊ: इन्वेस्ट इंडिया एक्सक्लूसिव इन्वेस्टमेंट फोरम द्वारा आज इलेक्ट्राॅनिक्स सिस्टम डिजाइन एण्ड मैन्युफैक्चरिंग (ईएसडीएम) के सम्बन्ध में आयोजित किए गए वेबिनार (ऑनलाइन संगोष्ठी) में उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने कहा कि प्रदेश सरकार की इलेक्ट्रानिक्स विनिर्माण नीति के फलस्वरूप उत्तर प्रदेश में इलेक्ट्रानिक्स उद्योग के लिए एक अनुकूल वातावरण बना है।

ये भी पढ़ें: भोपाल से दिल्ली तक चार यात्रियों के लिए बुक हुआ पूरा प्लेन, खर्च की इतनी रकम

उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने वेबिनार में कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा उद्योगों तथा व्यवसाय को अनुमतियों के लिए देश का सबसे बड़ा ऑनलाइन सिंगिल विंडो पोर्टल आरम्भ किया गया है। इससे कार्यप्रणाली में गति तथा पारदर्शिता आई है। निवेशकों में सुरक्षा की भावना आई है और भरोसा उत्पन्न हूआ है। प्रदेश की ईज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग में भी सुधार हुआ है।

प्रदेश सरकार द्वारा अवस्थापना एवं औद्योगिक निवेश नीति के अतिरिक्त इण्डस्ट्री संबंधी नीतियां प्रख्यापित की गई हैं। उत्तर प्रदेश में सूचना प्रौद्योगिकी एवं स्टार्ट-अप नीति-2017 तथा यूपी इलेक्ट्रानिक्स विनिर्माण नीति-2017 प्रचलित है। ऑटोमोबाइल, दूरसंचार, सौर ऊर्जा इत्यादि क्षेत्रों पर विशेष ध्यान सहित, सम्पूर्ण राज्य में इलेक्ट्रानिक्स विनिर्माण के विस्तार के उद्देश्य से प्रदेश की वर्तमान इलेक्ट्रानिक्स विनिर्माण नीति को संशोधित किए जाने पर भी काम किया जा रहा है जिससे निवेशकों को एक अनुकुल वातावरण प्राप्त हो और वह दीर्घकालीन अवधि हेतु व्यवसायिक इकाइयों की स्थापना के लिए उत्तर प्रदेश में निवेश करें।

ये भी पढ़ें: ट्रेन किराए तक के पैसे नहीं, मगर फ्लाइट से पहुंचे घरः ऐसे पूरा हुआ मजदूरों का सपना

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश इलेक्ट्रानिक्स विनिर्माण के क्षेत्र में अग्रणी राज्य के रूप में स्थापित हुआ है। प्रदेश सरकार के प्रयासों के फलस्वरूप अनेक प्रतिष्ठित इलेक्ट्रानिक्स उपकरण तथा कम्पोनेन्ट्स निर्माता कम्पनियॉं पूंजी निवेश के लिए उत्तर प्रदेश में आ रही हैं। ईकोटेक-6, ग्रेटर नोएडा के 100 एकड क्षेत्र में एक इलेक्ट्रानिक्स मैन्युफैक्चरिंग क्लस्टर (ई.एम.सी.) विकसित किया जा रहा है।

इसके अतिरिक्त इलेक्ट्रानिक्स विनिर्माण इकाइयों की स्थापना हेतु अनेक निवेशक प्रदेश सरकार के सम्पर्क में हैं। मोबाइल निर्माण के क्षेत्र में देश के 50 प्रतिशत से अधिक पूंजी निवेश केवल उत्तर प्रदेश में हो रहा है। डॉ शर्मा ने प्रदेश में निवेश हेतु निवेशकों को आमंत्रित भी किया और कहा कि उत्तर प्रदेश निवेशकों कि भावी व्यवसायिक परियोजनाओं के लिए आदर्श स्थल हो सकता है।

ये भी पढ़ें: झांसी से इन शहरों के लिए रवाना हुईं ट्रेनें, अब श्रमिकों को मिलेगी ये सुविधा

डॉ शर्मा ने कहा कि उत्तर प्रदेश में न केवल सकल घरेलू उत्पाद में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है, अपितु यहां पर वे सभी सुविधायें भी मौजूद हैं जिनकी आवश्यकता उद्योगों को होती है। व्यवसाय के प्रत्येक क्षेत्र में हमारा सहयोग रहेगा और आपके साथ भविष्य में एक मजबूत व्यवसायिक सहभागिता के लिए हम पूरी तरह से कृतसंकल्प हैं।

इस अवसर पर प्रमुख सचिव सूचना प्रौद्योगिकी तथा इलेक्ट्रॉनिक्स उत्तर प्रदेश, आलोक कुमार ने प्रदेश में निवेश की संभावनाओं के संबंध में प्रेजेंटेशन प्रस्तुत किया और प्रदेश में निवेश हेतु चलाई गई योजनाओं के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में निवेश हेतु बेहतर विकल्प उपलब्ध हैं। प्रदेश में विश्वस्तरीय आधारभूत सुविधाएं और मल्टीमॉडल लॉजिस्टिक हब है।

उन्होंने कहा कि नोएडा में भारत का सबसे बड़ा जेवर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा निर्माणाधीन है जो शीघ्र ही तैयार हो जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 1700 किलोमीटर लंबा देश का सबसे बड़ा एक्सप्रेस-वे जाल उपस्थित है जिसमें यमुना एक्सप्रेस-वे, आगरा एक्सप्रेस-वे, पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे एवं बुंदेलखंड एक्सप्रेस- वे है।

वेबिनॉर में सैमसंग के वाइस प्रेसिडेंट दीपक भारद्वाज ने उत्तर प्रदेश में अपने निवेश यात्रा को सबके समक्ष रखा। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में बेहतर लॉ एंड ऑर्डर, बेहतर आधारभूत सुविधाएं तथा पॉलिसी के कारण उत्तर प्रदेश निवेश हेतु एक आकर्षक विकल्प है।

ये भी पढ़ें: लोहिया अस्पताल के CMS पर गिरी गाज: योगी के दौरे के वक्त थे गायब, मिली ये सजा

वेबिनॉर में उत्तर प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह और महाराष्ट्र, गुजरात एवं तेलंगाना के प्रतिनिधि, सचिव स प्रौद्योगिकी एवं इलेक्ट्रॉनिक्स, भारत सरकार तथा इन्वेस्ट इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर एवं सी.ई.ओ. श्री दीपक बागला सहित देश-विदेश की लगभग 150 से अधिक कम्पनियों के प्रतिनिधि भी शामिल हुये।

रिपोर्ट: श्रीधर अग्निहोत्री

ये भी पढ़ें: कोविड-19: DM ने ट्रामा सेंटर का किया निरीक्षण, अधिकारियों को दिए ये सख्त निर्देश

Ashiki

Ashiki

Next Story