12 बच्चों पर फायरिंग: 8 की दर्दनाक मौत से कांप उठा देश, हर तरफ मातम ही मातम

कैमरून के एक स्कूल में बंदूकधारियों की ताबड़तोड़ गोलाबारी से हड़कंप मच गया। इस अंधाधुंध गोलाबारी में करीब 8 बच्चों की मौके पर मौत हो गई। इस हमले में 12 से ज्यादा बच्चे घायल हो गए हैं। 

Gunmen shoot indiscriminately at a school in Cameroon

फोटो-सोशल मीडिया

याउंडे। कैमरून जोकि अफ्रीका का एक देश है यहां के एक स्कूल में बंदूकधारियों की ताबड़तोड़ गोलाबारी से हड़कंप मच गया। इस अंधाधुंध गोलाबारी में करीब 8 बच्चों की मौके पर मौत हो गई। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, इस हमले में 12 से ज्यादा बच्चे घायल हो गए हैं।  इन सभी घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। सामने आई पुलिस रिपोर्ट में बताया गया है कि इस घटना को नौ हमलावरों ने अंजाम दिया है। ऐसे में मरने वाले बच्चों की आयु 9 साल से 12 साल के बीच है।

ये भी पढ़ें… कंकाल बना लड़का: बोला था कुछ देर में आ रहा, सदमे में आया पूरा परिवार

घटना की जितनी भी निंदा की जाए, उतनी कम

कैमरून राष्ट्रपति मौसा फकी महामत ने ताबड़तोड़ गोलाबारी की इस घटना पर ट्वीट कर दुख व्यक्त किया। ट्वीट करते हुए उन्होंने लिखा कि कुंबा के प्राथमिक स्कूल में बच्चों को निशाना बनाने वाले क्रूर हमले के आतंक को व्यक्त करने और दुख जताने के लिए मेरे पास कोई शब्द नहीं है। इस घटना की जितनी भी निंदा की जाए, उतनी कम होगी।

इसके साथ ही इस प्रांत में मानवीय मामलों को देख रहे संयुक्त राष्ट्र कार्यालय ने वारदात के बारे में बताया कि संयुक्त राष्ट्र कार्यालय ने बताया कि कुंबा के मदर फ्रांसिस्का इंटरनेशनल बायलिंगुअल एकेडमी में बंदूकधारियों के हमले में आठ बच्चों की मौत हुई है। इलाज के लिए 12 बच्चों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां सभी का इलाज शुरू हो गया है।

ये भी पढ़ें…पाक सेना के उड़े चिथड़े: ऐसा था ये लड़ाकू विमान, आज भी कांपता है पाकिस्तान

crime scene
फोटो-सोशल मीडिया

वहीं शहर के उप-प्रांत मंत्री अली अनौगू ने बताया कि आतंकवादियों ने कक्षा में बच्चों को देखकर गोलियां चलाना शुरू कर दिया। इसके बाद बच्चों ने जान बचाने के लिए दूसरी मंजिल की खिड़की से कूदना शुरू कर दिया, जिसमें कई बच्चे घायल भी हुए।

ऐसे में कुंबा समुदाय के डिप्टी परफेक्ट अली अनाऊगो ने हमले के पीछे उन अलगाववादी संगठनों का हाथ होने का आरोप लगाया है, जो पश्चिमी कैमरून में सेना के साथ लड़ रहे हैं। ये अलगाववादी लगातार स्कूलों या छात्रों को अपना निशाना बनाते रहते हैं।

ये भी पढ़ें…दशहरा पर राजनाथ सिंह ने किया शस्‍त्र पूजन, चीन को लेकर दिया ये बड़ा बयान

छह छात्रों को बेहद करीब से गोली मारी

आगे अनाऊगो ने कहा, छह छात्रों को बेहद करीब से गोली मारी गई, जिनकी हालत गंभीर बनी हुई है। साथ ही अधिकारी ने शपथ ली कि इस घटना के साजिशकर्ता पकड़े या मारे जाएंगे और स्कूल के आसपास रहने वालों के भी खिलाफ हस्तक्षेप नहीं करने के लिए कार्रवाई की जाएगी।

बच्चों की मौत पर अनाऊगो ने यह भी कहा कि यह स्कूल अवैध रूप से चल रहा था, वरना अधिकारियों ने इस स्कूल की सुरक्षा के लिए उपाय अवश्य किए होते। इस घटना के बाद से पूरे देश में कोहराम मचा हुआ है।

ये भी पढ़ें…बंपर डिस्काउंट: इस फेस्टिव सीजन इतना सस्ता ये सब, करें ऑनलाइन शॉपिंग

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App