Top

चीन का लुका-छिपी खेल: वैक्सीन बनाने के बाद अब खुद कर रहा मना, क्या है हकीकत

कोरोना वायरस की वैक्सीन को लेकर लंदन में चीन के राजदूत ने एक सभा के दौरान कहा कि उनके देश ने कोरोना की वैक्सीन तैयार कर ली है। लेकिन इसके बाद में चीन इससे पलट गया।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 7 Jun 2020 11:27 AM GMT

चीन का लुका-छिपी खेल: वैक्सीन बनाने के बाद अब खुद कर रहा मना, क्या है हकीकत
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की वैक्सीन को लेकर लंदन में चीन के राजदूत ने एक सभा के दौरान कहा कि उनके देश ने कोरोना की वैक्सीन तैयार कर ली है। लेकिन इसके बाद में चीन इससे पलट गया। सूत्रों से मिली रिपोर्ट के अनुसार, चीनी राजदूत लीऊ श्याओमिंग ने एक सभा में कहा था- 'हम कोरोना वैक्सीन के चौथे चरण के ट्रायल में पहुंच गए हैं। हम इसे दुनिया को उपलब्ध कराना चाहते हैं।' बता दें, चौथे ट्रायल का मतलब होता है कि वैक्सीन बड़ी आबादी को दिए जाने के लिए तैयार है।

ये भी पढ़ें...अभी-अभी 4 आतंकी ढेर: सेना ने चारों को दी ऐसी मौत, मुठभेड़ जारी

वैक्सीन के 'दूसरे चरण' में होने की बात

इसके बाद मेें सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, जब चीनी एम्बेसी से राजदूत के बयान के बारे में पूछा तो एक ट्रांसक्रिप्ट का लिंक भेज दिया गया। सामने आई इस रिपोर्ट के अनुसार, ट्रांसक्रिप्ट में राजदूत के शब्दों को बदलकर वैक्सीन के 'दूसरे चरण' में होने की बात लिखी गई।

हालांकि सामने आई रिपोर्ट के अनुसार, राजदूत लीऊ श्याओमिंग ने सभा में अंग्रेजी में अपनी बात रखी थी। उन्हें रिकॉर्डिंग में ये बोलते हुए सुना जा सकता है कि वे वैक्सीन के चौथे चरण में होने की बात कह रहे हैं।

इसके साथ ही कुछ रिपोर्ट में ऐसा कहा जा रहा है कि चीन ने अपने ही राजदूत के भाषण को 'सेंसर' कर दिया। वहीं, सभा में ब्रिटेन के उद्योग जगत और और दवा कंपनियों से जुड़े लोग हिस्सा ले रहे थे जो राजदूत की बात सुनकर हैरान रह गए।

ये भी पढ़ें...इमरान का झूठ: भारत पर बोल रहे ऐसा, लेकिन देख नहीं रहे पाकिस्तान की हालत

कोरोना वायरस से जुड़ी जानकारी

चीन के राजदूत लीऊ श्याओमिंग ने सभा में कहा कि चीन वैक्सीन निर्माण की एडवांस्ड स्टेज में पहुंच चुका है। साथ ही ऐसा समझा जाता है कि चीन पश्चिमी देशों को अभी ये नहीं बताना चाहता है कि वह वैक्सीन निर्माण में अन्य देशों से आगे चल रहा है।

साथ ही कुछ रिपोर्ट्स में ये भी दावा किया गया था कि चीन ने कोरोना वायरस से जुड़ी जानकारी विश्व स्वास्थ्य संगठन को देने में जनवरी में देरी की थी। हालांकि, डब्ल्यू एच ओ और चीन ने ऐसे आरोपों को बिल्कुल खारिज कर दिया है।

ये भी पढ़ें...राम मंदिर पर बड़ा ऐलान: इस दिन शुरू हो रहा निर्माण, तैयारियां हुई तेज

इंसानियत के साझे भविष्य में भरोसा

इसके साथ ही पिछले महीने एक सभा में चीनी राजदूत लीऊ श्याओमिंग ने कहा था- हम चाहते हैं कि वैक्सीन उपलब्ध हो और गरीब और कम विकसित देशों को उपलब्ध हो। हम हमेशा से ये मानते हैं कि कोविड-19 ने दुनिया को नजदीक लाया है। हम इंसानियत के साझे भविष्य में भरोसा करते हैं।

ऐसे में चीन की मंशा को लेकर तरह-तरह के सवाल उठ रहे हैं, कि आखिरकार अब चीन किस नए प्लान की तैयारी में है। जो बार-बार लुका-छिपी का खेल खेलकर दुनिया के सामने महान बनने की कोशिश कर रहा है।

ये भी पढ़ें...बढ़ेंगी भारतीयों की मुश्किलें: सऊदी अरब-रूस का ये फैसला बनेगा वजह

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Desk Editor

Next Story