चीन की नई करतूत: अब सीमा पर संचार कर रहा मजबूत, भारत अभी इस पर ही निर्भर

एक ओर भारतीय सेना अपने कमांड और सभी फैसलों के लिए अभी भी रेडियो संचार पर निर्भर है तो वहीं दूसरी ओर चीनी सेना संचार तंत्र मजबूत करने के इरादे से ऑप्टिकल केबल फाइबर बिछाने में जुटी हुई है।

PLA

चीन की नई करतूत: अब सीमा पर संचार कर रहा मजबूत, भारत अभी इस पर ही निर्भर (फोटो- सोशल मीडिया)

नई दिल्ली: पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीन अपनी चालाकियों से बाज नहीं आ रहा। सीमा पर भारत और चीन के बीच तनाव चरम पर बना हुआ है। दोनों देशों के बीच कई दौर की वार्ता के बाद भी कोई ठोस नतीजा नहीं निकला है और दूसरी ओर युद्ध की भी आशंका गहराती जा रही है। इस बीच चीन वास्तविक नियंत्रण रेखा तक ऑप्टिकल फाइबर केबल बिछाने की तैयारी में जुटा हुआ है।

यह भी पढ़ें: सोना और चांदी में निवेश करने का सबसे शानदार मौका, जानिए क्या है आज का रेट

भारतीय सेना अब भी रेडियो संचार पर निर्भर

जी हां, जहां एक ओर भारतीय सेना अपने कमांड और सभी फैसलों के लिए अभी भी रेडियो संचार पर निर्भर है तो वहीं दूसरी ओर चीनी सेना संचार तंत्र मजबूत करने के इरादे से ऑप्टिकल केबल फाइबर बिछाने में जुटी हुई है। चीन ऐसा इसलिए कर रहा है ताकि सीमा पर सैनिकों को किसी भी कार्रवाई के लिए तैयार किया जा सके और उसमें संचार की व्यवस्था बाधक ना बने।

यह भी पढ़ें: राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 को लेकर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कही ये बातें

Chinese Army
ऑप्टिकल फाइबर केबल बिछा रहा चीन (फोटो- सोशल मीडिया)

उच्च-स्तरीय वार्ता के बाद भी खुदाई में जुटे चीनी सैनिक

चीन की इस हरकत को लेकर दो भारतीय अधिकारियों ने कहा कि चीनी सेना पश्चिमी हिमालयी फ्लैशपॉइंट पर ऑप्टिकल फाइबर केबल का नेटवर्क बिछा रही थी। अधिकारियों ने कहा कि दोनों पक्षों के बीच गतिरोध को खत्म करने के लिए जारी उच्च-स्तरीय वार्ता के बाद भी चीनी सैनिक खुदाई करने में जुटे हुए थे।

यह भी पढ़ें: गैंगरेप से हिला यूपी: सोशल मीडिया पर वायरल हुआ वीडियो, अलर्ट हुई पुलिस

पैंगोंग के दक्षिण में बिछाया जा रहा केबल

जानकार अफसरों का कहना है कि पैंगोंग झील के दक्षिणी हिस्से में केबल बिछाने का काम काफी तेजी से किया जा रहा है। चीनी सेना ने पहले झील के उत्तरी किनारे पर केबल बिछाने का काम किया था। सरकारी अधिकारी के मुताबिक, हिमालय क्षेत्र लद्दाख में पैंगोंग त्सो झील के दक्षिण में ऐसे केबल देखे गए हैं, जो पीछे के ठिकानों तक फ्रंट लाइन की टुकड़ी को संचार की सुरक्षित सुविधा उपलब्ध कराते हैं।

यह भी पढ़ें: कंगना के तीखे बोल: करन जौहर की हो गई खटिया खड़ी, फिल्मों को बताया वाहियात

भारतीय सेना भी अलर्ट पर

चीन की इस नई शरारत का खुलासा होने के बाद भारतीय पक्ष सतर्क हो गया है। चीन के इरादों को भांपते हुए भारतीय सेना को भी अलर्ट कर दिया गया है। हालांकि अभी इस मामले में चीन के विदेश मंत्रालय ने कोई जवाब नहीं दिया है। भारत के इस खुलासे के बाद भी चीन के विदेश मंत्रालय और सेना की चुप्पी नहीं टूटी है।

यह भी पढ़ें: चीन पर गरजे राजनाथ: कहा सीमा पर जुटाए सैनिक, भारतीय सेना भी बिल्कुल तैयार

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App