×

अयोध्या ओर राम पर नहीं मान रहा नेपाल, अब उठाएगा ये कदम

नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के भगवान श्री राम और अयोध्या पर बेतूका बयान देने के बाद अब वहां का पुरातत्व विभाग शोध की योजना बना रहा है।

Shreya
Published on: 17 July 2020 6:02 AM GMT
अयोध्या ओर राम पर नहीं मान रहा नेपाल, अब उठाएगा ये कदम
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

काठमांडू: नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के भगवान श्री राम और अयोध्या पर बेतूका बयान देने के बाद अब वहां का पुरातत्व विभाग शोध की योजना बना रहा है। पुरातत्व विभाग बीरगंज के परसा जिले के थोरी गांव में खुदाई करने को लेकर विचार कर रहा है। बता दें कि पीएम ओली ने बेतुका बयान देते हुए कहा था कि ‘भारत ने सांस्कृतिक अतिक्रमण के लिए नकली अयोध्या का निर्माण किया है जबकि असली अयोध्या नेपाल में है।’

यह भी पढ़ें: हिना-सिद्धार्थ के फैंस को लगा झटका, खतरों के खिलाड़ी पर हुआ ये फैसला

भारत में बनाया गया अयोध्या वास्तविक नहीं है

उन्होंने कहा था कि हम अब भी मानते हैं कि हमने भारतीय राजकुमार राम को अपनी नेपाली सीता दी थी। लेकिन हमने भारत के बसे अयोध्या के राजकुमार राम को नहीं बल्कि नेपाल की अयोध्या के राजकुमार को सीता दी थीं। उन्होंने बताया कि नेपाल में बीरंगज के पश्चिम में अयोध्या नाम का एक गांव हैं। जो असली अयोध्या है। उन्होंने कहा कि भारत में बनाया गया अयोध्या वास्तविक नहीं है।

पीएम ओली के बयान की हुई थी आलोचना

वहीं पीएम ओली के इस बयान की भारत में तो आलोचना हुई ही, लेकिन देश में भी उनकी इस बयान को लेकर काफी आलोचना की गई। विपक्ष के तमाम नेताओं ने प्रधानमंत्री के इस बयान को गैर-जरूरी करार दिया था और कहा था कि इससे भारत-नेपाल के संबंधों को नुकसान पहुंचेगा।

यह भी पढ़ें: कौन हैं कालीचरण महाराज जिन्हें शेयर किया अनुपम खेर ने, हो रही वाह वाह

पुरातत्व विभाग थोरी गांव में करेगा अध्ययन

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ओली के बयान के बाद अब नेपाल का पुरातत्व विभाग बीरगंज के परसा जिले के थोरी गांव में अध्ययन को लेकर कई मंत्रालयों के संपर्क में है। पुरातत्व विभाग के प्रवक्ता राम बहादुर कंवर के हवाले से मीडिया रिपोर्ट्स में लिखा गया है कि विभाग बीरगंज के थोरी में संभावित पुरातात्विक अध्ययन की संभावना पर चर्चा के लिए कई मंत्रालयों से बातचीत कर रहा है।

यह भी पढ़ें: हादसे से दहला यूपी: दीवार गिरने से कई की मौत, CM योगी ने किया मुआवजे का ऐलान

विभाग PM के बयान के बाद शोध के लिए काफी गंभीर

वहीं पुरातत्व विभाग के डायरेक्टर जनरल दामोदार गौतम का कहना है कि पुरातत्व विभाग प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के बयान के बाद थोरी गांव में शोध को लेकर काफी गंभीर है। उन्होंने कहा कि पुरातत्व विभाग विशेषज्ञों से बातचीत करेगा और इसे लेकर जल्द ही किसी नतीजे पर आएगा। गौतम नेम कहा कि हमारी जिम्मेदारी है कि पीएम के बयान के बाद वहां पर शोध कराएं। हालांकि मैं ये नहीं कह सकता हूं कि नेपाल में अयोध्या के होने की बात साबित करने के लिए हमारे पास पर्याप्त आधार हैं।

यह भी पढ़ें: ड्यूटी से अचानक गायब हो गया वायुसेना का जवान, बीवी ने फोन पर कही थी ये बात

पाल के विदेश मंत्रालय ने जारी किया था स्पष्टीकरण

वहीं ओली के बयान के बाद बढ़ते विवाद को देखते हुए नेपाल के विदेश मंत्रालय ने स्पष्टीकरण जारी किया था। मंत्रालय ने अपने बयान में कहा था कि प्रधानमंत्री ओली की टिप्पणी किसी भी तरह से राजनीतिक नहीं है और किसी की भावनाओं को आहत करने का कोई उद्देश्य नहीं था। उनकी टिप्पणी का मकसद अयोध्या या उसके सांस्कृतिक महत्व को कम करना नहीं था।

यह भी पढ़ें: आतंकियों की बिछीं लाशें, ताबड़तोड़ एनकाउंटर, खोज-खोजकर मार रही सेना

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story