पाकिस्तान की धमकी: बोला नहीं डरता राफेल से, हाक रहा बड़ी-बड़ी डींगे

पाकिस्तान की बेचैनी अब दिन-प्रति-दिन बढ़ती ही जा रही हैै। दुश्मन देश की बेचैनी बढ़ने का कारण भारतीय वायुसेना में शामिल हुए राफेल फाइटर जेट हैं।

पाकिस्तान के पीएम इमरान खान की फाइल फोटो

पाकिस्तान के पीएम इमरान खान की फाइल फोटो

नई दिल्ली। पाकिस्तान की बेचैनी अब दिन-प्रति-दिन बढ़ती ही जा रही हैै। दुश्मन देश की बेचैनी बढ़ने का कारण भारतीय वायुसेना में शामिल हुए राफेल फाइटर जेट हैं। ऐसे में पाकिस्तानी सेना ने बृहस्पतिवार को एक बार फिर से भारत में सैन्य खर्च बढ़ने के मुद्दे का जिक्र करते हुए, राफेल की बात छेड़ी। इस बारे में पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता जनरल बाबर इफ्तिकार ने कहा कि पाकिस्तान भारत के सैन्य खर्च और रक्षा बजट में बढ़ोतरी को लेकर चिंतित है लेकिन भारत के फ्रांस से पांच राफेल जेट खरीदने के बावजूद सेना किसी भी हमले का जवाब देने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

ये भी पढ़ें… भारी बारिश से रूका सदन: डूब गई विधायक की बस, नहीं रुक रही ये तबाही

भारत का सैन्य खर्च दुनिया में सबसे ज्यादा

राफेल का लेकर पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता ने गुरुवार को आंतरिक और बाहरी सुरक्षा से जुड़े मुद्दों को लेकर बुलाई गई एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में ये बातें कहीं। बता दें, आज पाकिस्तान अपना स्वतंत्रता दिवस भी मना रहा है।

इस मौके पर भारत के राफेल खरीदने से पैदा हुए खतरे के सवाल पर पाकिस्तान सेना प्रवक्ता ने कहा कि भारत का सैन्य खर्च दुनिया में सबसे ज्यादा है और वो हथियारों की होड़ में शामिल है।

ये भी पढ़ें…आसमान से आई तबाही: आफत बन ले रही लोगों की जान, घर छोड़ने को हुए मजबूर

हमें अपनी क्षमता पर कोई शक नहीं

बाबर इफ्तिकार ने कहा, जिस तरह से राफेल को फ्रांस से भारत पहुंचाने के रास्ते में कवर किया गया, उससे उनकी असुरक्षा के स्तर का पता चल जाता है। वैसे, वे चाहे पांच राफेल खरीदें या 500, हमें कोई फर्क नहीं पड़ता है। हम पूरी तरह से तैयार हैं और हमें अपनी क्षमता पर कोई शक नहीं है।

राफेल

आगे कहते हुए- हम इस बात को पहले भी साबित कर चुके हैं और राफेल के आने से कोई अंतर नहीं आने वाला है। लेकिन उनके रक्षा खर्च और हमारे रक्षा बजट का फर्क क्षेत्र में पारंपरिक संतुलन को प्रभावित कर रहा है। जब ऐसी चीजें होती हैं तो अंतरराष्ट्रीय समुदाय को ध्यान देना चाहिए।

ये भी पढ़ें…अब चीन का होगा शिकारः चालबाजी का जवाब देने आ गई कॉम्बेट की टीम

रक्षा बजट में महंगाई की दर

पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता ने कहा, पाकिस्तान में कई लोग कहते हैं कि रक्षा बजट बहुत ज्यादा है, वर्तमान में आर्मी, नेवी और एयरफोर्स को मिलाकर बजट का 17 प्रतिशत सेना पर खर्च होता है। बीते 10 सालों में पाकिस्तान का रक्षा बजट लगातार कम होता जा रहा है।

बीते दो सालों में रक्षा बजट में महंगाई की दर के हिसाब से भी बढ़ोतरी नहीं हुई। लेकिन इसका ये मतलब नहीं है कि इससे हमारी तैयारी पर कोई असर पड़ा है। कम संसाधनों में भी हम अपने दुश्मनों का सामना करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।

imran khan

बाबर इफ्तिकार ने कहा, इसलिए आप चाहे राफेल ले आइए या S-400 मिसाइल सिस्टम। हमारी अपनी तैयारी है और हम हर बात का अपने तरीके से जवाब देंगे।

ये भी पढ़ें…नौकरियां ही नौकरियां: डिफेंस कॉरिडोर से लाखों को रोजगार, जल्द होगी शुरूआत

कश्मीर मुद्दे की कितनी अहमियत

कश्मीर मुद्दे को लेकर उन्होंने कहा, “पाकिस्तान की सरकार ने सभी क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय मंचों से कश्मीर मुद्दे को लेकर आवाज उठाई है। बीते एक साल में संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर का मुद्दा तीन बार उठा जिससे ये साबित होता है कि दुनिया की नजरों में कश्मीर मुद्दे की कितनी अहमियत है। कश्मीरियों की लड़ाई एक दिन जरूर कामयाब होगी।”

आगे भारत की रक्षा व्यवस्था को लेकर सेना प्रवक्ता ने कहा कि भारत अपने रक्षा बजट में बढ़ोतरी कर रहा है और हथियारों की रेस में शामिल हो गया है। भारत सबसे ज्यादा हथियार खरीदने वाले देशों की सूची में शीर्ष पर है।

पाकिस्तान भारत के इरादों और उसकी क्षमता से अच्छी तरह वाकिफ है लेकिन युद्ध केवल हथियारों के दम पर नहीं लड़े जाते हैं बल्कि लोगों का भरोसा और देश की इच्छाशक्ति आर्मी के असली हथियार होते हैं।

ये भी पढ़ें…कांपे पाकिस्तान-चीन: वायुसेना प्रमुख की ललकार, ऐसे ही हो गया सफाया

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App