पाकिस्तान का बड़ा कदम: करतारपुर साहिब पर लिया ये निर्णय, जारी अधिसूचना

पाकिस्तान सरकार करतारपुर मसले पर भारत का सहयोग करता दिखाई दे रहा है। बताया जा रहा है कि गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के साथ सटी 1450 एकड़ भूमि को भी गुरुद्वारा परिसर में शामिल कर लिया गया है। इस संदर्भ में पाकिस्तान सरकार ने विशेष अधिसूचना जारी किया है। इन पवित्र खेतों में

नई दिल्ली: पाकिस्तान सरकार करतारपुर मसले पर भारत का सहयोग करता दिखाई दे रहा है। बताया जा रहा है कि गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के साथ सटी 1450 एकड़ भूमि को भी गुरुद्वारा परिसर में शामिल कर लिया गया है।

इस संदर्भ में पाकिस्तान सरकार ने विशेष अधिसूचना जारी किया है। इन पवित्र खेतों में गुरु नानक देव ने ‘खेती कर नाम जपो, किरत करो और वंड छको’ का मानवतावादी संदेश दिया था।

यह भी पढ़ें.  अरे ऐसा भी क्या! बाथरूम में लड़कियां सोचती हैं ये सब

इसके बाद होगा। पाकिस्तान सरकार ने प्रथम चरण का काम पूरा कर लिया है। दूसरे और तीसरे चरण के काम दो वर्ष में पूरा होगा। पाकिस्तानी इतिहासकार शब्बीर ने एक वीडियो जारी कर यह जानकारी दी है।

यह भी पढ़ें. बेस्ट फ्रेंड बनेगी गर्लफ्रेंड! आज ही आजमाइये ये टिप्स

दरअसल, गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के मुख्य भवन में सफेद रंग का पेंट किया गया है। मुख्य भवन के सबसे बड़े गुंबद के ऊपर स्थापित सोने के कलश को साफ कर दोबारा लगाया गया है।

यह भी पढ़ें.  झुमका गिरा रे…. सुलझेगी कड़ी या बन जायेगी पहेली?

इसके साथ ही गुरुद्वारा साहिब के आसपास के प्रांगण में संगमरमर लगाने का काम पूरा हो चुका है। अब पूरे परिसर में सफाई हो रही है। गुरुद्वारा साहिब के आसपास पौधे लगा दिए गए हैं।

भवन में हजार श्रद्धालुओं के ठहरने की व्यवस्था…

बता दें कि करतारपुर गुरुद्वारे के लंगर हॉल और यात्री निवास का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है। खास बात यह है कि अब पाकिस्तान सरकार चार नए यात्री निवास का निर्माण करेगी।

यह भी पढ़ें. लड़की का प्यार! सुधरना है तो लड़के फालो करें ये फार्मूला

बताया जा रहा है कि यात्री निवास के हर भवन में एक हजार श्रद्धालु ठहर सकेंगे। गुरुद्वारा साहिब के मुख्य भवन के सामने निर्माणाधीन दीवान हॉल में गुंबद लगाने का काम युद्धस्तर पर चालू है।

पुरानी विरासत से नहीं की छेड़छाड़…

यह भी पढ़ें. असल मर्द हो या नहीं! ये 10 तरीके देंगे आपके सारे सवालों के सही जवाब

पाकिस्तान सरकार ने गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के आसपास करवाए निर्माण में गुरुद्वारा साहिब के मुख्य भवन की सदियों पुरानी विरासत के साथ छेड़छाड़ नहीं की है। मुख्य भवन अपने पुराने रूप में ही है। दर्शनी ड्योढ़ी और पवित्र परिक्रमा के आसपास खुशबूदार फूलों की क्यारियां लगाई जा रही हैं।

बनाया जायेगा मीनार-ए-पाकिस्तान का मॉडल…

यह भी पढ़ें.  होंठों का ये राज! मर्द हो तो जरूर जान लो, किताबों में भी नहीं ये ज्ञान

पाकिस्तान सरकार ने विश्व का सबसे बड़ा खंडा उस स्थान पर बनाया है जहां से कुछ ही दूरी पर रावी नदी है। इसके लिए एक एकड़ से अधिक जमीन का उपयोग किया गया है। यहां से कुछ गज दूरी पर मीनार-ए-पाकिस्तान का एक सांकेतिक मॉडल फूलों की लता से भी बनाया गया है।

दिल्ली सरकार का बड़ा ऐलान: करतारपुर कॉरिडोर जाने वाले यात्रियों के लिए खुशखबरी

बनेगा पांच सितारा होटल…

टपाकिस्तान सरकार दूसरे और तीसरे चरण में गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के नजदीक पांच सितारा होटल का निर्माण भी करेगी। साथ ही दुनिया भर से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर के बाजार का भी निर्माण किया जा रहा है ताकि श्रद्धालु पाकिस्तानी गिफ्ट आइटम खरीद सकें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App