अयोध्या फैसला! डोभाल के आवास पर संत समाज की बड़ी बैठक

अयोध्या पर आए उच्चतम न्यायालय के फैसले के बाद रविवार को दिल्ली में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल के आवास पर बाबा रामदेव, स्वामी परमात्मानंद, स्वामी अवधेशानंद, शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जवाद और अन्य धर्मगुरुओं की बैठक हुई।

Published by Harsh Pandey Published: November 10, 2019 | 4:11 pm
Modified: November 10, 2019 | 4:27 pm

नई दिल्ली: राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल का साथ संतों की बैठक हो रही है। बता देंं कि स्वामी अवधेशानन्द, रामदेव, स्वामी परमात्मानंद समेत कई संत बैठक के लिए डोभाल के आवास पहुंच गए हैं।

बताते चले ंकि राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल ने बाबा रामदेव और स्‍वामी पमरमात्‍मानंद समेत दूसरे संतों की बैठक बुलाई है। बैठक में भाग लेने के लिए डोभाल के आवास पर बाबा रामदेव पहुंच गये हैं।

अयोध्या फैसले को लेकर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल का साथ संतों की बैठक हो रही है। डोभाल के आवास पर बाबा रामदेव, कल्बे जवाद समेत कई धर्मगुरु शामिल हुए हैं।

यह भी पढ़ें.  सावधान दिल्ली वालों! हेल्थ इमरजेंसी घोषित, अब नहीं सुधरे तो भुगतोगे

 

ये संत पहुंचे आवास पर…

अयोध्या पर आए उच्चतम न्यायालय के फैसले के बाद रविवार को दिल्ली में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल के आवास पर बाबा रामदेव, स्वामी परमात्मानंद, स्वामी अवधेशानंद, शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जवाद और अन्य धर्मगुरुओं की बैठक हुई। बताया जा रहा है कि देश में शांति व्यवस्था को लेकर बैठक में चर्चा की गई।

शनिवार को भी अजीत डोभाल ने अवधेशानंद गिरि, स्वामी परमात्मानंद और बाबा रामदेव से उनके आवास पर मुलाकात की थी जो लगभग एक घंटे तक चली। डोभाल से मुलाकात के बाद अवधेशानंद गिरि ने कहा कि उन्होंने फैसले के बाद की स्थिति पर चर्चा की है। परमात्मानंद ने कहा, हम देश में शांति बनाए रखने की आवश्यकता पर चर्चा करने के लिए डोभाल से मिले। हम इसके लिए काम जारी रखेंगे।

पीएम मोदी ने देश को किया संबोधित…

इससे पहले अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद पीएम मोदी ने देश को संबोधित किया है। उन्होंने अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान किया और भारत की जनता की तारीफ की।

यह भी पढ़ें.  मोदी का मिशन Apple! अब दुनिया चखेगी कश्मीरी सेब का स्वाद

उन्होंने कहा कि भारत विविधता में एकता के लिए जाना जाता है। आज की घटना इतिहास के पन्नों पर लिखी जाएगी। ये इतिहास के पन्नों से नहीं उठाई गई। ये तो 130 करोड़ जनता के सहयोग की एकता स्वर्णित अक्षरों में लिखी जाएगी।

यह भी पढ़ें. अयोध्या राम मंदिर! फैसला आने से पहले यूपी में घुसे भगवा आतंकी

पीएम मोदी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने भी बहुत धैर्य से इस फैसले को सुनाया है। उन्होंने कहा कि आज के दिन ही 9 नवम्बर को बर्लिन की दिवार गिरी थी। आज ही करतारपुर कॉरिडोर की शुरूआत हुई है। आज का दिन बहुत ही ऐतिहासिक है। आज के दिन को कभी भूलाया नहीं जा सकता।

यह भी पढ़ें. पुलिस नहीं जल्लाद है ये, वीडियो देख कांप जायेगी रूह

सर्वोच्च न्यायालय के इस फैसले ने यह संदेश दिया है कि कानुन के दायरे समय चाहे लगे पर धैर्य रखना बहुत जरूरी है।

बता दें कि अयोध्या पर फैसला आने के पहले भी केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ मिलकर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, केंद्रीय गृह सचिव अजीत भल्ला, खुफिया ब्यूरो के निदेशक अरविंद कुमार और कई अन्य अधिकारी ने बैठक की थी।

यह भी पढ़ें.  जहरीली हवा में जी रहे आप, बचने के लिए करें ये उपाय