पाकिस्तान की सेना ने फेंका पासा! इमरान के खिलाफ किया ये एलान

नई दिल्ली: सिख धर्म के संस्थापक बाबा गुरु नानक देव की 550वीं जयंती से पहले शनिवार को करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन किया जाएगा।

इसी बीच बड़ी खबर आ रही है कि करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन से ठीक पहले पाकिस्तान आर्मी की तरफ से बड़ा बयान आया है। इस बयान से साफ हो रहा है कि पाकिस्तान की सेना ने अपने ही प्रधानमंत्री को झूठा साबित कर दिया है।

सेना ने कहा…

पाकिस्तान के सेना ने कहा है कि करतारपुर साहिब के दर्शन करने के लिए श्रद्धालुओं को पासपोर्ट रखना जरूरी है, पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने कहा कि करतारपुर कॉरिडोर के लिए भारतीय श्रद्धालु बिना पासपोर्ट नहीं आ सकते हैं।

हत्या की साजिश: इमरान सरकार पूर्व पीएम को दे रही धीमा जहर

पीएम इमरान ने किया था ट्वीट…

ध्यान देने योग्य बात यह है कि इससे पहले पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने ट्वीट कर कहा था कि भारतीय श्रद्धालुओं को करतारपुर दर्शन के लिए किसी पासपोर्ट की जरूरत नहीं है।
उन्होंने कहा था कि पासपोर्ट के बदले उनके पास सिर्फ एक वैध आईडी कार्ड होना जरूरी है।

यह भी पढ़ें. अयोध्या राम मंदिर! फैसला आने से पहले यूपी में घुसे भगवा आतंकी

इमरान खान का ट्वीट…

इमरान खान के इस वादे पर पाकिस्तान की सेना मुंह फेरा है। पाकिस्तानी सेना ने जवाब देते हुए कहा है कि पीएम के इस फैसले को मानने से इनकार कर दिया है। बताते चलें कि इससे पहले भारत की तरफ से कहा गया था पाकिस्तान पासपोर्ट वाले मामले पर अपना रुख साफ करे।

यह भी पढ़ें.  चोरी हो गया दिल्ली का ये फुटओवर ब्रिज, है गजब कहानी

पाकिस्तान की तरफ से कोई सफाई नहीं…

पाकिस्तान की तरफ से अभी तक कई मामलों को लेकर सफाई नहीं मिली है, पाकिस्तान ने विशिष्ट लोगों के लिए इंतजामों और जरूरी चीजों के बारे में अवगत कराने के लिए एक टीम भेजने के भारत के अनुरोध पर भी अब तक जवाब नहीं दिया है।

गुरु नानक जयंती, निशुल्क यात्रा…

यह भी पढ़ें.  मोदी का मिशन Apple! अब दुनिया चखेगी कश्मीरी सेब का स्वाद

इमरान खान ने गुरु नानक जयंती के मौके पर शुल्क माफ करने की भी घोषणा की थी, उन्होंने कहा था कि उद्घाटन समारोह पर आने वाले और गुरु जी (सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव जी) की 550वीं जयंती पर आने वाले श्रद्धालुओं से कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। बता दें कि करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन 9 नवंबर को होगा।

यह है कहानी…

गुरुद्वारा दरबार साहिब के नाम से प्रसिद्ध करतारपुर साहिब गुरुद्वारा सिख धर्म में खास मान्यता रखता है, जहां गुरु नानक देव ने 18 साल गुजारे थे और यहीं उन्होंने निर्वाण प्राप्त किया था।

यह भी पढ़ें.  जहरीली हवा में जी रहे आप, बचने के लिए करें ये उपाय 

यह भी पढ़ें.  सावधान दिल्ली वालों! हेल्थ इमरजेंसी घोषित, अब नहीं सुधरे तो भुगतोगे