अयोध्या पर फिल्म लेखक सलीम खान ने कहा- 5 एकड़ भूमि का यह हो इस्तेमाल…

सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिये गये अयोध्या फैसले पर बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान के पिता सलीम खान ने शनिवार को कहा कि अयोध्या में मुस्लिमों को दी जाने वाली पांच एकड़ भूमि पर स्कूल बनाया जाना चाहिए

Published by Harsh Pandey Published: November 10, 2019 | 2:59 pm
Modified: November 10, 2019 | 3:02 pm

नई दिल्ली: अयोध्या राम मंदिर बाबरी मस्जिद विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट ने 9 नवंबर शनिवार को ऐतिहासिक फैसला दिया है।

कोर्ट ने विवादित भूमि का मालिकाना हक राम जन्मभूमि न्यास को दिया है, वहीं मुस्लिमों को मस्जिद बनाने के लिए अयोध्या में किसी और जगह 5 एकड़ वैकल्पिक जमीन दी जाएगी।

यह भी पढ़ें.  जहरीली हवा में जी रहे आप, बचने के लिए करें ये उपाय 

इसके साथ ही कोर्ट ने केंद्र सरकार को 3 महीने में ट्रस्ट बनाने को कहा है, कोर्ट ने निर्मोही अखाड़ा और वक्फ बोर्ड की याचिका खारिज कर दी है।

कोर्ट के द्वारा दिये गये फैसले से बाद तमाम नेताओं, राजनीति जगत एवं सभी समुदाय के धर्मगुरूओं के बयान सामने आ रहे है। इसी बीच पूर्व उप पीएम लालकृष्‍ण आडवाणी ने प्रेस कांफ्रेंस करते हुए मीडिया से बातचीत किया।

यह भी पढ़ें.  सावधान दिल्ली वालों! हेल्थ इमरजेंसी घोषित, अब नहीं सुधरे तो भुगतोगे

पांच एकड़ भूमि पर स्कूल…

सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिये गये अयोध्या फैसले पर बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान के पिता सलीम खान ने शनिवार को कहा कि अयोध्या में मुस्लिमों को दी जाने वाली पांच एकड़ भूमि पर स्कूल बनाया जाना चाहिए, अयोध्या पर आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सलीम खान ने कहा कि भारत के मुसलमानों को मस्जिद नहीं, स्कूल की जरूरत है।

इसके साथ ही समीं खान के कहा कि पैगंबर ने इस्लाम की दो खूबियां बताई है, जिसमें प्यार और क्षमा शामिल हैं।

यह भी पढ़ें. अयोध्या राम मंदिर! फैसला आने से पहले यूपी में घुसे भगवा आतंकी

साथ ही उन्होंने कहा कि अब जब इस कहानी का द एंड हो गया है तो मुस्लिमों को इन दो विशेषताओं पर चलकर आगे बढ़ना चाहिए। उन्होंने कहा कि मोहब्बत जाहिर करिए और माफ करिये, अब इस मुद्दे को फिर से मत कुरेदिये..यहां से आगे बढ़िए, बता दें कि अयोध्या फैसले पर बॉलीवुड के चर्चित फिल्म स्क्रिप्ट राइटर सलीम खान ने यह अपील मुस्लिम समुदाय से की है।

सलीम खान ने कहा…

भारतीय समाज के परिपक्व होने की बात करते हुए सलीम खान ने कहा कि फैसला आने के बाद जिस तरीके से शांति और सौहार्द्र कायम रही यह प्रशंसनीय है, अब इसे स्वीकार कीजिए..

यह भी पढ़ें.  10 करोड़ की होगी मौत! भारत-पाकिस्तान में अगर हुआ ऐसा, बहुत घातक होंगे अंजाम

साथ ही उन्होंने कहा कि एक पुराना विवाद खत्म हुआ है। मैं तह-ए-दिल से इस फैसले का स्वागत करता हूं, मुस्लिमों को अब इसकी (अयोध्या विवाद) चर्चा नहीं करनी चाहिए, इसकी जगह उनको बुनियादी समस्याओं की चर्चा करनी चाहिए और उसे हल करने की कोशिश करनी चाहिए, मैं यही कहना चाहूंगा कि हमें स्कूल और अस्पताल की जरूरत है, अयोध्या में मस्जिद के लिए मिलने वाली पांच एकड़ जगह पर कॉलेज बने तो बेहतर होगा।

यह भी पढ़ें.  मोदी का मिशन Apple! अब दुनिया चखेगी कश्मीरी सेब का स्वाद

सलीम खान कहा है कि हमें मस्जिद की जरूरत नहीं, नमाज तो हम कहीं भी पढ़ लेंगे। ट्रेन में, प्लेन में जमीन पर, कहीं भी पढ़ लेंगे, लेकिन हमें बेहतर स्कूल की जरूरत है, तालीम अच्छी मिलेगी 22 करोड़ मुस्लिमों को, तो इस देश की बहुत सी कमियां खतम हो जाएंगी।

पीएम मोदी…

यह भी पढ़ें. पुलिस नहीं जल्लाद है ये, वीडियो देख कांप जायेगी रूह

बालीवुड के फिल्म लेखक ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी शांति पर जोर देते हैं, उन्होंने कहा कि मैं प्रधानमंत्री से सहमत हूं, आज हमें शांति की जरूरत है। हमें अपने उद्देश्य पर फोकस करने के लिए शांति चाहिए, हमें अपने भविष्य पर सोचने की जरूरत है, हमें पता होना चाहिए कि शिक्षित समाज में ही बेहतर भविष्य है, मुख्य मुद्दा यह है कि मुस्लिम तालीम में पिछड़े हैं। इसलिए मैं दोहराता हूं कि आइए हम अयोध्या विवाद को द एंड कहें और एक नई शुरुआत करें।