अब चीन की खैर नहीं, दुश्मन पर कहर बनकर टूटेगा, ये विमान

लद्दाख में लाइन ऑफ एक्‍चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर भारत-चीन के बीच जारी विवाद के बीच भारत चीन को मुंहतोड़ जवाब देने की तैयारी में है। इस बीच खबर है कि 27 जुलाई को फ्रांस से छह राफेल लड़ाकू विमान भारत आ सकते हैं।

नई दिल्ली: लद्दाख में लाइन ऑफ एक्‍चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर भारत-चीन के बीच जारी विवाद के बीच भारत चीन को मुंहतोड़ जवाब देने की तैयारी में है। इस बीच खबर है कि 27 जुलाई को फ्रांस से छह राफेल लड़ाकू विमान भारत आ सकते हैं। पहले राफेल मई में भारत पहुंचने वाले थे, लेकिन कोरोना के चलते भारत को यह समय पर नहीं मिल सके।

यह भी पढ़ें: UP में मानसून सक्रिय: इन जिलों में होगी भारी बारिश, बिहार में टूटा 22 साल का रिकाॅर्ड

अंबाला शहर स्थित एयर फोर्स स्टेशन पर लैंड करेंगे राफेल

सूत्रों के हवाले से पता चला है कि फ्रांस से उड़ाने भरने के बाद लड़ाकू विमान राफेल भारत के अंबाला शहर स्थित एयर फोर्स स्टेशन पर लैंड करेंगे। पहले केवल चार राफेल भारत पहुंचने वाले थे, लेकिन अब बताया जा रहा है कि छह विमान भारत पहुंचेंगे। चीन के साथ सीमा पर जारी तनाव के बीच राफेल विमान भारत पहुंचने से वायु सेना की ताकत में जबरदस्त इजाफा होगा।

यह भी पढ़ें: बड़ा खतराः बिहार में घुसे छह प्रशिक्षित आतंकवादी, अलर्ट पर पुलिस प्रशासन

हिंसक झड़प के बाद तनाव और बढ़ा

बता दें कि सीमा पर मई महीने से ही भारत और चीन के बीच तनाव जारी है, लेकिन 15 जून को लद्दाख की गलवान घाटी में हुए हिंसक झड़प में भारतीय सेना के 20 जवानों के शहादत ने इस तनाव को और आग दे दी है। अब भारत ने भी अपना रुख स्पष्ट कर दिया है कि भारत चीन की सीनाजोरी कतई बर्दाश्त नहीं करेगा।

यह भी पढ़ें: केजरीवाल ने इस बात के लिए केंद्र को दिया क्रेडिट, कहा इसी से आया ये आंकड़ा

एलएसी के पार चीन ने की एयरफोर्स की तैनाती

बता दें कि अभी हाल ही में एलएसी के पार चीन ने भी अपनी एयरफोर्स की तैनाती की है। चीन के सर्विलांस एयरक्राफ्ट एलएसी के बेहद पास तक उड़ते नजर आए हैं। वहीं चीनी सेना पर नजर रखने और किसी भी हरकत का तुरंत जवाब देने के लिए भारतीय वायुसेना (IAF) ने भी ने अब मिसाइल डिफेंस सिस्‍टम तैनात कर दिया है। अब पूरे सेक्‍टर में एडवांस्‍ड क्विक रिएक्‍शन वाला सरफेस-टू-एयर मिसाइल डिफेंस सिस्‍टम मौजूद है जो चीन के एयरफोर्स के किसी भी फाइटर जेट को कुछ सेकेंड्स में तबाह करने में सक्षम है।

यह भी पढ़ें: सोनिया का बड़ा हमलाः मुसीबत का फायदा उठा, मुनाफाखोरी पर घेरा

एयर डिफेंस सिस्‍टम तैनात किए गए

मीडिया रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि सेक्‍टर में बढ़ते बिल्‍ड-अप के बीच, भारतीय सेना और इंडियन एयरफोर्स, दोनों के एयर डिफेंस सिस्‍टम तैनात कर दिए गए हैं ताकि चीनी एयरफोर्स या PLA चॉपर्स की किसी गलत हरकत का जवाब दिया जा सके।

यह भी पढ़ें: इस संगठन ने ली कराची स्टॉक एक्सचेंज पर हमले की जिम्मेदारी, अब क्या करेगा पाक

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App