Top

BCCI अध्यक्ष 'दादा' का फरमान! विराट की टीम को करना होगा ये काम

कोलकाता के दमदम हवाई अड्डे पर पत्रकारों से बात करते हुए सौरव गांगुली ने कहा कि यह एक बड़ी जिम्मेदारी है। उम्मीद है कि वे अच्छा काम कर पाएंगे। उनकी प्राथमिकता प्रथम श्रेणी क्रिकेट ही होगी। प्रथम श्रेणी का क्रिकेट बेहद महत्वपूर्ण है, क्योंकि ये भारतीय क्रिकेट का आधार है। हम सिर्फ शीर्ष

Harsh Pandey

Harsh PandeyBy Harsh Pandey

Published on 16 Oct 2019 1:07 PM GMT

BCCI अध्यक्ष दादा का फरमान! विराट की टीम को करना होगा ये काम
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के अध्यक्ष की कुर्सी संभालने जा रहे हैं।

खबर आ रही है कि दादा ने बीसीसीआइ अध्यक्ष चुने जाते ही अपने इरादे साफ कर दिए हैं। इसी बीच उन्होंने भारतीय टीम से कहा है कि वे बड़े टूर्नामेंट पर ज्यादा ध्यान दे।

यह भी पढ़ें. अरे ऐसा भी क्या! बाथरूम में लड़कियां सोचती हैं ये सब

BCCI अध्यक्ष बनना बड़ी जिम्मेदारी...

यह भी पढ़ें. झुमका गिरा रे…. सुलझेगी कड़ी या बन जायेगी पहेली?

कोलकाता के दमदम हवाई अड्डे पर पत्रकारों से बात करते हुए सौरव गांगुली ने कहा कि यह एक बड़ी जिम्मेदारी है। उम्मीद है कि वे अच्छा काम कर पाएंगे।

यह भी पढ़ें. लड़की का प्यार! सुधरना है तो लड़के फालो करें ये फार्मूला

उनकी प्राथमिकता प्रथम श्रेणी क्रिकेट ही होगी। प्रथम श्रेणी का क्रिकेट बेहद महत्वपूर्ण है, क्योंकि ये भारतीय क्रिकेट का आधार है। हम सिर्फ शीर्ष स्तर पर ध्यान देते आ रहे हैं। टीम इंडिया के प्रदर्शन पर दादा ने कहा है कि भारतीय टीम अच्छा कर रही है।

यह भी पढ़ें. असल मर्द हो या नहीं! ये 10 तरीके देंगे आपके सारे सवालों के सही जवाब

भारतीय टीम का अच्छा प्रदर्शन, लेकिन...

प्रिंस ऑफ कोलकाता के नाम से मशहूर सौरव गांगुली ने कहा है कि बड़े टूर्नामेंटों में टीम इंडिया का अच्छा प्रदर्शन है, लेकिन सेमीफाइनल और फाइनल में उस तरह का प्रदर्शन करने में टीम नाकाम हो रही है।

यह भी पढ़ें. होंठों का ये राज! मर्द हो तो जरूर जान लो, किताबों में भी नहीं ये ज्ञान

इसके लिए विशेष योजना तैयार करने की जरूरत है। इसके बाद बंगाल क्रिकेट संघ के दफ्तर में गांगुली ने कहा कि कई बार जिंदगी में कम ही बहुत होता है इसलिए हमें इससे सतर्क रहना पड़ेगा।

यह भी पढ़ें. बेस्ट फ्रेंड बनेगी गर्लफ्रेंड! आज ही आजमाइये ये टिप्स

इसके साथ ही गांगुली ने आगे कहा कि जब पहली बार चैंपियंस ट्रॉफी का आयोजन हुआ था तो मैं 1998 में इसमें खेला था। मैंने दो बार चैंपियंस ट्रॉफी में भारतीय टीम की अगुआई की और दोनों बार टीम फाइनल में पहुंची जिसमें एक बार हम संयुक्त विजेता रहे थे लेकिन टी-20 एक ऐसा प्रारूप है जिसने लोगों को ज्यादा आकर्षित किया है।

यह भी पढ़ें. ओह तेरी! पत्नी कहेगी पति से, बिस्तर पर ‘ना बाबा ना’

विराट कोहली की प्रशंसा...

इससे पहले उन्होंने विराट कोहली की प्रशंसा करते हुए कहा कि वह भारत की शान हैं। वह बिना किसी दबाव के काम करेंगे और क्रिकेट की सोच का इस्तेमाल करेंगे। अगले साल टी-20 विश्व कप है और मैं कोहली को खुलकर खेलने के लिए कहूंगा।

यह भी पढ़ें: लड़कियों को पसंद ये! बताती नहीं पर हमेशा ही खोजती हैं ये चीजें

Harsh Pandey

Harsh Pandey

Next Story