Top

मशहूर क्रिकेटर मैदान पर करता था चौके-छक्के की बरसात, आज टेंपो चलाने को मजबूर

पाकिस्तान क्रिकेट लगातार विवादों में घिरी रही है, यह बात किसी से छिपी नहीं है। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड से जुड़ी एक खबर सामने आ रही है, जिसने पाकिस्तान की पोल खोल के रख दी है। 

Harsh Pandey

Harsh PandeyBy Harsh Pandey

Published on 14 Oct 2019 12:46 PM GMT

मशहूर क्रिकेटर मैदान पर करता था चौके-छक्के की बरसात, आज टेंपो चलाने को मजबूर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

यह भी पढ़ें. ओह तेरी! पत्नी कहेगी पति से, बिस्तर पर ‘ना बाबा ना’

नई दिल्ली: पाकिस्तान क्रिकेट लगातार विवादों में घिरा रहा है, यह बात किसी से छिपी नहीं है। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड से जुड़ी एक खबर सामने आ रही है, जिसने पाकिस्तान की पोल खोल के रख दी है।

यह भी पढ़ें. अरे ऐसा भी क्या! बाथरूम में लड़कियां सोचती हैं ये सब

दरअसल, पाकिस्तानी क्रिकेट टीम बदलाव के दौर से गुजर रही है, इसको दोबारा खड़ा करने के लिए पीसीबी ने अपने विभागीय क्रिकेट को भंग करने का फैसला लिया था, जिसकी चौतरफा आलोचनाएं हो रहा थीं। खबर आ रही है कि इसी बदलाव के कारण खिलाड़ी अब टेंपो चलाने पर मजबूर हो गये हैं।

यह भी पढ़ें. झुमका गिरा रे…. सुलझेगी कड़ी या बन जायेगी पहेली?

सोशल मीडिया पर साझा किया दर्द...

बताया जा रहा है कि आर्थिक संकट से भी जूझ रहे पाकिस्तान बोर्ड के पास अपने खर्च निकालने तक के पैसे नहीं हैं। मैदान के रखरखाव और स्टाफ का वेतन निकाल पाना तक मुश्किल साबित हो रहा है, ऐसे में कई विभागीय खिलाड़ी अब इस खेल से ही दूर हो रहे हैं।

यह भी पढ़ें. लड़की का प्यार! सुधरना है तो लड़के फालो करें ये फार्मूला

दरअसल, पाकिस्तानी खिलाड़ी फजल सुभान की कहानी कुछ इसी तरह है, फजल एक प्रथम श्रेणी क्रिकेटर है।

साथ ही अंडर -19 टीम और फिर पाकिस्तान 'ए' टीम के अहम खिलाड़ी रह चुके सुभान ने सोशल मीडिया पर अपना दर्द साझा किया है।

यह भी पढ़ें. बेस्ट फ्रेंड बनेगी गर्लफ्रेंड! आज ही आजमाइये ये टिप्स

फजल कभी उन शीर्ष खिलाड़ियों में शूमार थे, जो अंडर-19 और 'ए' टीम के बाद पाकिस्तान की राष्ट्रीय टीम में खेलने से बेहद करीब थे, लेकिन परिवार का पेट-पालने के लिए उन्हें इस खेल को ही तौबा करना पड़ा।

यह भी पढ़ें. असल मर्द हो या नहीं! ये 10 तरीके देंगे आपके सारे सवालों के सही जवाब

फजल की बात सुने तो वह विभागीय क्रिकेट में 1 लाख रुपये वेतन पाते थे, पर पीसीबी द्वारा उसे बंद करने के बाद वह पिकअप वाहन चलाने को मजबूर है, जहां उसकी कमाई 30,000-35,000 रुपये के करीब है।

ऐसा रहा है करियर...

यह भी पढ़ें. होंठों का ये राज! मर्द हो तो जरूर जान लो, किताबों में भी नहीं ये ज्ञान

40 प्रथम श्रेणी मैच में 32.87 की औसत से 2301 रन बनाने वाले फजल ने पांच शतक और 11 अर्द्धशतक भी लगाए हैं।

अब इस क्रिकेटर की कहानी आग की तरह फैल रही है, कई मौजूदा और पूर्व क्रिकेटर्स ने भी सोशल मीडिया पर वीडियो देखने के बाद दुख जाहिर किया।

बताते चलें कि कामरान अकमल और मोहम्मद हफीज सहित कई शीर्ष खिलाड़ियों ने नए मॉडल को लागू करने के लिए पीसीबी को आड़े हाथों लिया है।

यह भी पढ़ें: लड़कियों को पसंद ये! बताती नहीं पर हमेशा ही खोजती हैं ये चीजें

Harsh Pandey

Harsh Pandey

Next Story