bsp chief mayawati

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री सुश्री मायावती के पिता प्रभु दयाल के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने मायावती से फोन पर वार्ता कर उन्हें सांत्वना दी।

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के पिता का बृहस्पतिवार को निधन हो गया।सुश्री मायावती के पिता की उम्र 95 वर्ष थी। इस दुख की घड़ी में बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा की तरफ से जारी शोक संदेश में कहा गया है कि पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के पिता प्रभु दयाल का 95 वर्ष की उम्र में निधन हो गया।

मायावती और बसपा के लिए उसका दलित वोट ही आधार वोट बैंक है। बसपा सुप्रीमों जानती है कि केवल दलित वोट बैंक उन्हे सत्ता तक पहुंचाने के लिए काफी नहीं है। ऐसे में बसपा के पास भाजपा के साथ जाने के अलावा और कोई विकल्प बचा भी नहीं है।

डा. शर्मा ने कहा कि विरोधी दलों पर करारा हमला बोलते हुए कहा कि येन केन प्रकारेण सत्ता पर काबिज होना ही केवल उनकी मंशा है। इनका जनता की सेवा से कोई लेना देना नहीं है। उन्होंने लोगों को से कहा कि कुछ वोट कटवा पार्टी भी चुनाव मैदान में हैं।

बसपा सुप्रीमों मायावती ने शुक्रवार को सुबह केंद्र सरकार द्वारा पारित कराये गए इन बिलों से असहमति जताते हुए ट्वीट किया है कि संसद में किसानों से जुड़े दो बिल, उनकी सभी शंकाओं को दूर किए बिना ही, कल पास कर दिए गए है। उससे बीएसपी कतई भी सहमत नहीं है।

मायावती ने मांग की है कि सरकार कानून हाथ में लेने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करके पीड़ितों को न्याय दे तथा पीड़ितों की आर्थिक मदद भी करे।

भाजपा नेता उमेश द्विवेदी ने कहा है कि ब्राह्मण वोटर समझदार है। उसे सब पता है कि कौन हितैषी है। सरकार के इस फैसले से गरीब ब्राह्मणों को फायदा होगा।

मायावती ने कहा कि इस नीति को पूरे देश में सख्ती से लागू किया जाए। वरना कोरोना पीड़ितों की यह तादाद् लगातार और भी ज्यादा बढ़ती ही चली जायेगी

कांग्रेस के पूर्व प्रदेश सचिव चौधरी यशपालसिंह कहते हैं कि राजस्थान में विधानसभा सत्र चल ही नहीं रहा है तो बसपा के व्हिप का कोई मतलब नहीं रह जाता है।

बसपा महासचिव सतीश मिश्रा ने राजस्थान में अपने सभी 6 विधायकों को व्हिप जारी कर कांग्रेस सरकार की ओर से लाए जाने वाले विश्वास मत के खिलाफ वोट करने को कहा है।