dussehra

नागपुर में विजय दशमी के मौके पर अपने भाषण में जो कुछ संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा वह देश के सभी नागरिकों के लिए बेहद अहम है। उन्‍होंने अपने भाषण में न केवल वाह़य शक्तियों से निपटने का रास्‍ता सुझाया बल्कि भारत में आंतरिक शांति बनाए रखने को भी जरूरी करार दिया।

दशहरा या विजयादशमी सर्वसिद्धिदायक तिथि मानी जाती है। इसलिए इस दिन सभी शुभ कार्य फलकारी माने जाते हैं। दशहरा के दिन बच्चों का अक्षर लेखन, घर या दुकान का निर्माण, गृह प्रवेश, मुंडन, नामकरण, अन्नप्राशन, कर्ण छेदन, यज्ञोपवीत संस्कार और भूमि पूजन आदि कार्य शुभ माने गए हैं।

छत्तीसगढ़ में बस्तर जिले के लोग 600 साल से यह त्योहार मनाते आ रहे हैं। यहां पर रावण का दहन नहीं किया जाता। यहां के आदिवासियों और राजाओं के बीच अच्छा मेल जोल था।

नाथ संप्रदाय में पात्र पूजन की परम्परा पौराणिक है। यह परम्परा आंतरिक अनुशासन बनाए रखने का माध्यम है। गोरक्षपीठ के पीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री का पद संभालने के बाद भी पीठ के प्रति अपने उत्तरदायित्व को निष्ठा से निवर्हन करते हैं।

लोग इस वीडियो को शेयर करते हुए लिख रहे हैं कि 'दिल्ली में रावण को भी हुआ कोरोना, अस्पताल ले जाया गया, दशहरा उत्सव रद्द'। 'रावण हुआ कोरोना पाजिटिव, अस्पताल में भर्ती'। 'रावण को हुआ कोरोना, दिल्ली के अस्पतालों ने दिया जवाब, खरखौदा के सेठी अस्पताल में भर्ती कराया गया', यह सिर्फ सोनीपत में ही संभव है।

रविवार यानी 25 अक्टूबर को देशभर में दशहरा (Dussehra) मनाया जाएगा। इस दिन को बुराई पर अच्छाई की जीत के रूप में मनाया जाता है। नवरात्रि के आखिरी दिन जगह-जगह रावण दहन किया जाता है। बता दें कि भारत में रावण को एक बुराई के प्रतीक के तौर पर देखा जाता है। लेकिन कुछ ऐसी …

जय श्रीराम विजयादशमी उत्सव 2020 का प्रचार भारत के 30 मुख्य एयरपोर्ट पर भी प्रसारित हो रहा है। समिति के सदस्यों के अनुसार शाम 7:30 बजे अग्निक्रीड़ा (आतिशबाजी) का भी आयोजन किया जा रहा है।

जून के मध्य में गलवान घाटी में भारत और चीन की सेना बीच में हिंसक टकराव हो गया था। भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे, जबकि चीन के भी कई जवानों की मौत हुई थी। उसके बाद से दोनों देशों के बीच तनाव और भी ज्यादा बढ़ गया है।

इन तमाम बातों के बीच ध्यान देने वाली बात ये है कि बैंक बंद रहने के दौरान बाकी सारी ऑनलाइन सेवा और एटीएम संबंधित सेवाएं सुचारू रूप से संचालित होगी।

अगर हम अगस्त के मुकाबले सितंबर महीने की बात करे तो अब तक सोने-चांदी की कीमतों में तेजी देखी गई। लेकिन इसके बावजूद सर्राफा बाजार में सोना अपने 7 अगस्त के ऑल टाइम हाई से 4634 रुपये प्रति 10 ग्राम सस्ता है।