farmers

HDFC बैंक ने खास किसानों के लिए 'ई-किसान धन' (e-Kisaan Dhan) ऐप लॉन्च किया है। अब देश के किसान इस ऐप की मदद से घर बैठे अपने मोबाइल पर ही कृषि और बैंकिंग से जुड़ी सेवाओं का लाभ उठा सकेंगे।

जनपद में अंतर्देशीय फिशयार्ड /मछली मंडी जल्द विकसित किए जाने के निर्देश ताकि क्षेत्र के मत्स्य पालकों को लाभ हो सके। दुग्ध उत्पादकों को लघु डेयरी...

जनपद के किसानों को अपनी फसलों की बुवाई व सिंचाई के लिए पानी की समस्या का सामना न करना पड़े इसके लिए कृषि राज्य मंत्री ने जल शक्ति मंत्री को ज्ञापन सौंपकर मांग उठाई है

वैश्विक महामारी और संकट की इस घड़ी में आज एक बार फिर से केंद्रीय कैबिनेेट की बैठक हुई है। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में बुधवार को प्रधानमंत्री आवास पर ये केंद्रीय कैबिनेट की बैठक हुई।

कोरोना वायरस ने हमारे देश की अर्थव्यवस्था को जो जख्म  दिए हैं, उन्हें भरने का समय अब आ गया है। मानसून ने भारत में दस्तक दे दी है। केरल में इस समय अच्छी बारिश हो रही है। यूपी, बिहार और देश के बाकी राज्यों में भी मानसून जल्द ही दस्तक देने वाला है।

सरकार कि निगाह में किसानों कि हालत खोटे सिक्के जैसी हो गई है । उसकी फरियादें सरकारी नक्कार खाने में तूती साबित हो रही है। बांदा सहित चित्रकूट धाम मंडल इसी श्रेणी कि श्रंखला में आता है!

यह एक सराहनीय कदम है। इससे किसानों को ऐसे फसलों के उत्पादन में प्रोत्साहन मिलेगा जिन्हें क्रॉप या नगदी फसल कहा जाता है। ऐसे फसलों के उत्पादन से किसान हिचकते थे कि अगर बाजार नहीं मिला समय से, तो उसका क्या होगा।

आल इण्डिया पावर इंजीनियर्स फेडरेशन ने केंद्र सरकार द्वारा निजीकरण के बाद उपभोक्ताओं को सस्ती बिजली देने के वादे को खारिज करते हुए कहा है कि निजीकरण, किसानों और आम घरेलू उपभोक्ताओं के साथ धोखा है और निजीकरण के बाद बिजली की दरों में बेतहाशा वृद्धि होगी।

प्रदेश के आयुक्त, गन्ना एवं चीनी, संजय आर. भूसरेड्डी द्वारा गन्ने की फसल में लगने वाले पायरिला कीट की रोक-थाम के लिये दिशा निर्देश जारी किये गये हैं। इस संबंध में विस्तृत जानकारी देते हुए उन्होनें बताया कि प्रदेश के कुछ गन्ना बाहुल्य क्षेत्रों में पायरिला कीट का प्रकोप देखा जा रहा है।

कृषि मंत्री ने मंगलवार को बताया कि मंडी में अब तक 35.80 लाख कुंतल गेहूं की आवक हुई है। इस प्रकार प्रदेश की विभिन्न मण्डियों तथा सरकारी क्रय केन्द्रों से कुल 123.10 लाख कुन्तल गेहूं की खरीद सुनिश्चित की गई है।