health

जयपुर:गर्मियों का मौसम शुरू होने वाला है। इसके साथ ही कोल ड्रिंक्स के साथ पेय पदार्थ और फलों के फ्लेवर का भी सीजन आने वाला है। जहां एक तरफ कोल ड्रिंक्स कंपनी देसी पेय पदार्थ और फलों का जूस भारत में लाने की तैयारी कर रही है। वहीं दूसरी तरफ देश के कुछ ऐसे 5 देसी …

नाइट शिफ्ट के दौरान आपका पूरा शेड्यूल ही बिगड़ जाता है। खाने-पीने से लेकर सोने तक का कोई टाइम नहीं होता। इसकी वजह से हेल्थ पर काफी प्रभाव पड़ता है। इन प्रभावों को दूर रखने के लिए आप यहां बताए जा रहे तरीके अपना सकते हैं।

स्पाइनल कॉर्ड मानव शरीर में बहुत महत्वपूर्ण काम होता है। स्पाइनल कॉर्ड नसों का एक ऐसा समूह है, जो दिमाग के संदेश को शरीर के अन्य अंगों तक पहुंचाने का काम करता है। इसके अलावा स्पाइंल कॉर्ड लचीला होता है।

नई दिल्ली। बालों का झडऩा आजकल आम समस्या बन गई है। इसके पीछे सिर्फ हार्मोन्स की गड़बड़ी और दवाएं ही नहीं होतीं बल्कि रोजमर्रा की आदतें भी बालों का झडऩा बढ़ा सकती हैं। बाल न धोना बाल धोते वक्त टूटे बालों को देखकर कोई भी हताश हो सकता है। ज्यादातर लोग बाल न धोने के …

गर्मी का मौसम में गन्ने का रस हर जगह में दिखाई देने लगता है। गन्ने का रस प्राकृतिक रूप से स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता है। ऐंटीऑक्सिडेंट से भरपूर यह रस संक्रमण से लड़ने और प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने में मदद करता है।

जयपुर:लोग फास्टफूड और चटपटी चीजों का स्वाद लेना पसंद कर रहे हैं, जिसमें से अधिकाश आहार मैदा से बने हुए होते हैं।  मैदा व्यक्ति के जीवन के लिए अभिशाप बन चुका है जो धीमे जहर की तरह शरीर को खोंखला करता जा रहा हैं और बीमारियों को आगमन दे रहा हैं। मैदा के अधिक खानपान …

यात्रा के दौरान पानी कि कमी तो हो ही जाती है। जिसके कारण स्वच्छता रखने में काफी दिक्कत हो जाती है। ऐसी परिस्थिति में हमें अपने पास एक अल्कोहल आधारित वाटरलेस हैण्ड सैनिटाईजर रखना चाहिए। इसके इस्तेमाल करने का तरीका यह है कि थोडा सा सैनिटाईजर अपने हाथों में लें और दोनों हाथों से तब तक रगड़ें जब तक की सैनिटाईजर गायब न हो जाए।

हमें अपने बच्चों को यह बताना बहुत आवश्यक है कि वह कैसे अपने हाथों की सफाई या धुलाई कैसे कर सकते है । और किस प्रकार अपने हाथों को साफ़ रख कर अपने मानसिक और शारीरिक विकास को एक सही गति और दिशा दे सकते हैं । ताकि आगे चलकर एक स्वस्थ नागरिक बनकर देश के विकास और निर्माण में सहायक बन सकते हैं

रोल मॉडल बनना हो तो कोई इनसे सीखे। रोल मॉडल बनने के लिए ​सिर्फ चकाचौंध की दुनिया ही जरूरी नहीं बल्कि जरूरत है मन में अपने काम के प्रति सच्ची लगन और ईमानदारी की। मनिता दीदी के हाथों में जैसे ही वह नवजात शिशु पहुंचा उसकी दुनिया ही बदल गयी।

नई दिल्ली। ध्यान के जरिए तनाव और अवसाद को नियंत्रित किया जा सकता है। ध्यान करने के कुछ दिनों के भीतर मस्तिष्क में जबरदस्त बदलाव आने लगता है। यह दावा अब मनोविज्ञानी भी कर रहे हैं।’ यह भी पढ़ें : इस तरह बनाएं जौ का पानी, पीने से होते हैं ये 5 फायदे अपने भीतर की …