Ladakh border

भारत सीमा पर एक से बढ़कर एक मिसाइलों की तैनाती कर रहा है। इसके साथ ही वैज्ञानिक और नई तकनीकी की मिसाइलों के परीक्षण में लगे हुए हैं।इसी सिलसिले में भारत ने बृहस्पतिवार को राजस्थान के पोखरण में तीसरी पीढ़ी की टैंक रोधी गाइडेड मिसाइल ‘नाग’ का सफलतापूर्वक अंतिम परीक्षण किया गया है।

लद्दाख सीमा पर बीते कई महीनों से चल रहे भूमि विवाद की वजह से तनाव के बीच भारत अब शक्तिशाली हो गया है। ऐसे में चीन के साथ अगर युद्ध भी होता है तो भारतीय टैंक कमांडरों को भरोसा है कि चीन के हल्के टैंक भारत के टी-90 भीष्म टैंक के सामने टिक भी नहीं पाएंगें।

लद्दाख सीमा लाइन ऑफ एक्‍चुअल कंट्रोल (LAC) पर चल रहे तनाव के बीच अब भारत चीन के सामना करने के लिए बिल्कुल तैयार है। भारत की सैन्य ताकत मजबूती देखते हुए चीन बौखला उठा है।

लद्दाख सीमा पर चट्टान की तरह डटे भारतीय सैनिकों को क्या वाकई चीनी सेना परेशान कर रही है। क्या भारतीय सेना के जवान बीमार हो रहे हैं और लगातार उल्टी कर रहे हैं। चीन की ओर से दी जा रही जानकारी के अनुसार उसने लद्दाख सीमा पर ऐसा सुपर लाउड स्पीकर तैनात किया है।

लद्दाख सीमा पर लगातार चीन की तरफ से जंग के संकेत मिलने से भारतीय सेना पूरी तरह से तैयार है। सीमा पर हालातों से निपटने के लिए टी-90 और टी-72 टैंकों को जैसे दुर्गम इलाकों में पहुंचा दिया गया है।

प्राप्त सूचना के अनुसार चीन ने भारत से सटी पूरी 4000 किमी. लंबी वास्तविक नियंत्रण रेखा पर सैनिकों का जमावड़ा बढ़ा दिया है।

लद्दाख सीमा से ताजा खबर आ रही है। चीन से चल रही तनातनी के बीच भारत ने लद्दाख बॉर्डर पर स्पेशल फोर्सज की तैनाती की है। ताजा जानकारी मिली है कि देश के अलग-अलग स्थानों से पैरा स्पेशल फोर्स की यूनिट को लद्दाख में ले जाया गया है।