life

जीवन की विडम्बना यह है कि हम अपनी हर अनगढ़ता, हर अपूर्णता के लिए दुनिया को जिम्मेवार ठहराते हैं। जबकि हमें इसके कारणों को स्वयं में खोजना चाहिए।

घर और स्कूल से निकलकर जब कॉलेज जाने की तैयारी करते है तो भी उस अहसास से कम नहीं होता जब हम  बचपन में पहले दिन स्कूल जाने के लिए महसूस करते हैं। स्कूल का पहला दिन और कॉलेज का पहला दिन में अंतर बस उम्र का होता है,लेकिन अहसास लगभग सेम ही होता है। 

पिता जी चले गए तब मैंने इन गानों के बोल सुने। मुझे यह समझ में आया कि जीवन क्या है। अच्छे बुरे सभी लोगों को एक साथ लेकर चलना है। जीवन एक संघर्ष है,-सभी से प्यार से बोलो एंव प्यार से रहो। यही जीवन का यथार्थ है। इन गानों के माध्यम से पिताजी हम सभी को यह संदेश दे गए कि, यही जीवन है।

अपने स्वभाव को शांत बनाइए और अपने आपको सरल बनाइए। छल-कपट से अपने आपको बचाइए। ‘मनु’ के अनुसार आदमी जितना बनावटी होगा, दिखावा करेगा उतना ही वह अशांत होगा। व्यक्ति सरल बने, मन को संतोष दे, ऐसे व्यक्ति का नाम है ‘सौम्य’।

दिल पर पत्थर रखकर मैंने  मेकअप कर लिया,सैय्या जी से आज मैंने ब्रेकअप कर लिया....आज के युवा कुछ ऐसा ही ट्रिक अपना रहे हैं ब्रेकअप के दर्द से निपटने के लिए। जब हम किसी के प्यार में रहते हैं तो एक दूसरे के साथ लंबा वक्त गुजारते हैं

भारत के सबसे अच्छे कप्तानों में सौरव गांगुली को गिना जाता है। गांगुली को टीम इंडिया में जीत का जज्बा भरने वाला लीडर कहा जाता है। वो गांगुली ही थे, जिन्होंने टीम इंडिया को विदेश में जीतने का हौसला दिया और अब खबर आ रही है कि उनकी जिंदगी का यही सफर अब फिल्मों में दिखने वाला है।

भारतीय वायुसेना के 4 पायलट देश की महत्‍वाकांक्षी मानवयुक्त अंतरिक्ष मिशन 'गगनयान' को सफलतापूर्वक अंजाम देने के लिए रूस में कड़ा प्रशिक्षण ले रहे हैं। रूस के गैगरिन रिसर्च ऐंड टेस्‍ट कॉस्‍मोनॉट ट्रेनिंग सेंटर में ट्रेनिंग ले रहे भारतीय अंतरिक्ष यात्रियों को इस गोपनीय ट्रेनिंग के दौरान जान तक को भी जोखिम में डालना पड़ रहा है।

आजकल लोग कपड़े से लेकर किचेन तक ट्रेंडी व स्टाइलिश हो गए है। जैसे अपने फैशन पर ध्यान देते है वैसे ही किचेन में बर्तनों पर भी। आज हर गृहणी की पहली पसंद नॉनस्टिक हैं। कम तेल में ठीक से बना हुआ खाना, खासकर सब्जियों के लिए नॉनस्टिक सबकी पसंद बन गए हैं। नॉनस्टिक बर्तनों पर कैमिकल कोटिंग लगी रहती है,

जयपुर: शास्त्रों में कहा गया  है कि अच्छे काम के लिए बोला गया झूठ सौ सच के बराबर है। ऐसा कहा जाता है कि रिश्ता कोई भी हो वह सच की नींव पर टिका होता है। किसी भी रिश्ते की अच्छी बॉडिंग के लिए उसमें सच्चाई होना बहुत जरूरी है। झूठ की नींव पर टिका …

अपने ग्रहों की चाल है। नवग्रहों की चाल मानव को न केवल परेशानी में डालती है, बल्कि कभी की स्थिति विकट भी हो जाती है। आज हम आपको नवग्रहों को शांत करने का ऐसा तरीका बता रहे हैं, जिसमें आपको ऐसे उपाय बताने जा रहे हैं, जिन्हें कर आप अपने नवग्रहों को आसानी से शांत कर सकते हैं, वह भी बिना रुपये खर्च किए।