pulwama terror attack

बीते साल 2019 में दक्षिण कश्मीर में हुए पुलवामा आतकीं हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल(सीआरपीएफ) के 40 जवान शहीद हो गए थे। ऐसे में इस मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने चार्जशीट दाखिल कर दी है।

भारत ने एक बार फिर  पाकिस्तान पर हमलावर रुख अपनाया है। भारत ने आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान पर हमला बोला है। भारत ने कहा है कि  पुलवामा हमले का आरोपी जैश-ए-मोहम्मद आतंकी समूह का सरगना मसूद अजहर पाकिस्तान में पनाह लिए हुए है।

यही लोगों का हुजूम उमड़ा जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद हुए जौनपुर के लाल जिलाजीत यादव की अंतिम यात्रा में।

उदित राज ने ट्वीट कर कहा, 'जो लोग सत्ता पाने के लिये गुजरात में नरसंहार करवा सकते हैं, वो सत्ता बनाये रखने के लिये 40 जवानों की जान का सौदा भी कर सकते हैं। इनके लिये देशभक्ति और राष्ट्रवाद जनता को भरमाने का एक टूल भर है।'

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ जवानों पर हमले के बाद से पूरे देश में गुस्से और आक्रोश का माहौल है। साथ ही भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ सख्त रुख अपना हुआ है। भारत के सख्त रुख से पाकिस्तान सहम गया है और नई दिल्ली से शांति लाने का मौका देने की गुजारिश कर रहा है।

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले पर भारत को अंतरराष्ट्रीय मंचों से भरपूर समर्थन मिल रहा है। अब भारत को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) का भी साथ मिला है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने पुलवामा हमले को जघन्य और कायराना कृत्य करार दिया है। साथ ही उसने इस हमले की कड़ी निंदा की है।

पुलवामा हमले के बाद जिस तरह से देश भर में गुस्सा और आक्रोश उत्पन्न हुआ है उसका असर क्रिकेट जगत पर भी पड़ना लाजिमी है।भारत की ओर ​से 2019 क्रिकेट विश्व कप में पाकिस्तान को बाहर रखने की मांग और पड़ोसी मुल्क से हर तरह के रिश्ते खत्म करने की मांग ने जोर पकड़ लिया है।

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए। इस आतंकी हमले की आतंकवादी संगठन जैश ए मोहम्मद का नाम सामने आाया है। इसके बाद से पाकिस्तान हर तरफ से घिर गया है।

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी घटना में 44 जवानों की जान चली गई। शहीद होने वालों में उन्नाव का भी एक लाल है। उन्नाव के लोकनगर के रहने वाले शहीद अजित आज़ाद (CRPF bn 115) में तैनात थे।