samajvadi party

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि बड़ा सपना, बड़ा काम हो तभी प्रदेश का भला हो सकता है। भाजपा सरकार विकास के जो बड़े-बड़े दावे कर रही है, उसकी सत्यता भी प्रमाणित करनी चाहिए। प्रचार में भी ईमानदारी होनी चाहिए। झूठा प्रचार नहीं करना चाहिए।

सोनभद्र के उम्भा गांव में 17 जुलाई को जमीन विवाद को लेकर हुये नरसंहार के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के धरना और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सिंह के दौरे के बाद अब बहुजन समाज पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल उम्भा गांव पहुंचा और मृतकों के परिजनों की पीड़ा सुन कर उनका दर्द बांटा।

समाजवादी पार्टी संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने चन्द्रशेखर के निधन के बाद उनके परिवार की परम्परागत सीट बलिया से टिकट देकर उनको राजनीतिक संरक्षण देने का काम किया।

आजमगढ़ से सांसद चुने जाने के बाद जनता का धन्यवाद करने आये अखिलेश ने एक जनसभा में कहा कि लोकसभा चुनाव में फरारी कार और साइकिल के बीच मुकाबला था। सब जानते थे कि फरारी जीत जाएगी। लोकसभा चुनाव मुद्दों पर नहीं हुआ, वह तो कुछ और ही बातों पर हुआ है।

सपा मुखिया के जारी कार्यक्रम के अनुसार अखिलेश यादव तीन जून को निजी हैलीकाप्टर से सुबह करीब 10 बजे अपने संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ के लिए रवाना होंगे। करीब 11ः15 पर आजमगढ़ पहुंच क रवह आईटीआई मैदान में आयोजित जनसभा में वह जीत के लिए वहां की जनता का आभार प्रकट करेंगे।

अखिलेश यादव ने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी से व्यापार को नुकसान हुआ है। समाजवादी सरकार में दिये लैपटाॅप आज भी काम आ रहे हैं। बाबा मुख्यमंत्री खुद लैपटाॅप चलाना नहीं जानते इसलिए किसी को देना नहीं चाहते। उन्होंने कहा कि अगर काम पर वोट नहीं मिला तो लोग जाति-धर्म की राजनीति ही करने लगेंगे।

समाजवादी पार्टी ने शुक्रवार को लोकसभा चुनाव को लेकर अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया। इसमें विकासपरक शिक्षा नीतियां बनाने का वादा किया गया है। इसके साथ ही केंद्र में सरकार बनने पर एक्सप्रेस वे जैसी सड़के बनाने का वादा किया गया है।

प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल सिंह की नेता जी से गुप्त वार्ता की बात, जैसे ही सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की जानकारी में आयी वैसे ही, आनन फानन में अखिलेश यादव सैफई से समाजवादी रथ लेकर सीधे इटावा मुलायम सिंह आवास पर पहुँच गए, जहाँ उन्होंने मुलायम सिंह से वार्तालाप की और मीडिया से भी रूबरू हुए।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने रविवार को कहा कि किसानों के लिए घड़ियाली आंसू बहाने वाली भाजपा के झूठ, फरेब की पोल रोज-ब-रोज खुलती जा रही है। गन्ना किसान परेशान हैं और मिल मालिक मौज कर रहे हैं। किसान भुगतान के लिए ही नहीं, बल्कि मिल तक गन्ना पहुंचाने के लिए पर्चियों की खातिर भी तरस गए हैं, जबकि माफिया उन्हीं पर्चियों के सहारे लूट मचा रहे हैं। सरकारी दावों के विपरीत अभी भी गन्ना किसानों का 10,074.98 करोड़ रुपये बकाया चल रहा है।

रीता जोशी का सियासी तजुर्बा अपर्णा यादव से ज़्यादा क्यों न हो, लेकिन युवा नेता के तौर पर सियासी समर के पहले से ही अपर्णा का ज़मीन से जुड़े रहना और काम करते रहना रीता को झटका देने के लिए काफी है।