zodiac sign

देश के कुछ भाग में 23 को 24 को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व मनाया जा रहा है।  इस जन्माष्टमी पर मनोकामना पूर्ण करने के कुछ जरुरी टिप्स बता रहे हैं। इस जन्माष्टमी पर यदि  राशि के अनुसार पूजन करते हैं तो निश्चित ही आपको हर कार्य में सफलता प्राप्त होगी। 

प्यार एक ऐसा जज्बात है जिसमें पड़कर लोग बड़े-बड़े से सकंट को पार करने को तैयार रहते है। प्यार में पड़कर मनपसंद साथी से शादी करने के लिए कुछ भी कर गुजरने को तैयार रहते है। आज के समय में ज्यादातर लोग अपनी पसंद का जीवनसाथी चुनते है

शुक्र ग्रह अपनी राशि को छोड़ अब दूसरी राशि में जाने वाला है।कहने का मतलब की शुक्र कर्क राशि से अब सिंह राशि जाने वाला है।  जो 17 अगस्त से 9 सितंबर तक रहेंगे। इससे 12 राशियों पर क्या होगा असर जानते हैँ। ज्योतिष के अनुसार शुक्र का सिंह राशि में जाना बहुत शुभ नहीं है।

माह – भाद्रपद ,तिथि – प्रतिपदा – 20:23,पक्ष – कृष्ण,वार – शुक्रवार,नक्षत्र – धनिष्ठा , सूर्योदय – 05:50, सूर्यास्त – 19:00। शुक्रवार को मां लक्ष्मी का दिन है , इस दिन उन्हे प्रसन्न करने के लिए पूजा व्रत का विधान है।

हर बहन अपने भाई की कलाई में राखी बांधते हुए उनके शुभ जीवन की कामना करती हैं। और भाई बहन को उपहार देता है। इसी के साथ ही बहन भी भाई को तोहफा देती हैं। अगर राशि के अनुसार भाई को उपहार दे तो भाई के जीवन में खुशहाली बनी रहती है।

माह – श्रावण, तिथि – तृतीया – 22:06:45 तक,पक्ष – शुक्ल, वार – शनिवार, नक्षत्र – मघा व पूर्वा फाल्गुनी – 28:05, सूर्योदय – 05:43,सूर्यास्त – 19:11 राहुकाल – 09:05से 10:46।

चंद्र ग्रहण 16 जुलाई की रात 1:31 बजे से आरंभ होगा। जिसका मोक्ष 17 जुलाई की सुबह 4:31 बजे होगा। यानि इस चंद्र ग्रहण की पूरी अवधि कुल 3 घंटे की होगी। यह चंद्र ग्रहण भारत में दिखाई देगा, इसके अलावा एशिया, यूरोप, अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अमेरिका के कई देशों में भी चंद्र ग्रहण दिखाई देगा। ग्रहण से 9 घंटे पहले  सूतक लगेगा, जिसमें पूजा-पाठ निषेध है। ग्रहण का लोगों पर क्या असर होगा हो जानते हैं...

तिथि -द्वादशी 24:30:20 तक,नक्षत्र : अनुराधा 16:28:01 तक, करण : बव 12:27:52 तक, बालव 24:30:20 तक, पक्ष : शुक्ल पक्ष, योग: शुक्ल 28:02:19 तक, वार : शनिवार, सूर्योदय का समय : 05:31:52 सूर्यास्त का समय : 19:21:30।

आषाढ़ शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि गुरुवार का दिन है ।दोपहर 3 बजकर 55 मिनट तक स्वाती नक्षत्र चलेगा ।सुबह 8 बजकर 4 मिनट तक सिद्धि योग स्वाती नक्षत्र और सिद्धि योग के संयोग में कुछ विशेष फल की प्राप्ति राशि के अनुसार...

जितना जरूरी परीक्षा का परिणाम है उतना ही जरूरी है सही दिशा में अपना भविष्य बनाना। करियर की थोड़ी परेशानी को ज्योतिष  के माध्यम से कम किया जा सकता है। किस राशि के छात्रो को कौन सा करियर अपनाना चाहिए ये भी ज्योतिष में है।