कौन हैं वो दो IPS, जिनको मिली लखनऊ-नोएडा की कमिश्नरी की कमान

योगी कैबिनेट ने मंगलवार को लखनऊ और नोएडा में कमिश्नर प्रणाली के प्रस्ताव पर मुहर लगा दी है। इसी के साथ लखनऊ के पहले कमिश्नर के नाम का ऐलान भी कर दिया गया।

Published by Shivani Awasthi Published: January 13, 2020 | 12:07 pm
Modified: January 13, 2020 | 4:54 pm

COMMISSIONER

लखनऊ: योगी कैबिनेट ने मंगलवार को लखनऊ और नोएडा में कमिश्नर प्रणाली लागू करने के प्रस्ताव पर मुहर लगा दी है। इसी के साथ लखनऊ के पहले कमिश्नर (New Commissioner) के नाम का ऐलान भी कर दिया गया। आईपीएस सुजीत पांडेय (Sujeet Pandey) लखनऊ के कमिश्नर होंगे, वहीं नोएडा का चार्ज आईपीएस आलोक सिंह (Alok Singh) को मिला है।

जानें, लखनऊ के कमिश्नर सुजीत पांडेय के बारे में:

आईपीएस सुजीत पांडेय ने का नाम पुलिस विभाग में जाना पहचाना नाम है। मूल रुप से भागलपुर (बिहार) के रहने वाले सुजीत पांडेय 1994 बैच के आईपीएस हैं। इनके पिता बिहार कैडर में आईएएस ऑफिसर रह चुके हैं। सुजीत पांडेय सीबीआई में सात साल तैनात रहे हैं।

ये भी पढ़ें: भारत आ रहा सबसे अमीर शख्स, करना पड़ सकता है इन्हें, इसका सामना

आईपीएस ने बॉम्बे ब्लास्ट, नंदी ग्राम समेत अन्य कई बड़े बम ब्लास्ट मामलों पर काम किया है। इतना ही नहीं उत्तर प्रदेश में करीब 12 से ज्यादा जिलों की कमान संभाली है। इसके अलावा सुजीत आईजी एसटीएफ का चार्ज भी संभाल चुके हैं। वहीं डीजीपी ओपी सिंह ने उनका अच्छा रिपोर्टकार्ड देखते हुए उन्हें लखनऊ आईजी का चार्ज दिया था।

सुजीत पाण्डेय को लेकर कहा जाता है कि पूर्व डीजीपी सुलखान सिंह के समय में कुछ अंदरूनी विवाद के चलते उन्हें साइड लाइन कर दिया गया था। वहीं उन्हें आईजी टेलीकॉम का जिम्मेदारी सौंप दी गई थी।

ये भी पढ़ें: निर्भया के दोषियों को हुई फांसी! पुलिस ने डमी बना किया ट्रायल

लखनऊ के दो बड़े हत्याकांड के जांच का चार्ज :

लखनऊ के सनसनीखेज विवेक तिवारी हत्याकांड में सीएम के आदेश पर सुजीत पाण्डेय के नेतृत्व में एसआईटी गठित की गई। काफी आलोचनाओं के बीच उन्होंने इस केस को सुलझाया।

वहीं प्रत्यूषमणि त्रिपाठी हत्याकांड पर जब भाजपा कार्यकर्ताओं ने नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर दबाव बनाया, तबभी सुजीत पाण्डेय ने नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं की थी। बाद में प्रत्युष के पांच साथियों की गिरफ्तारी के साथ आइपीएस ने स्वह उजागर किया और चार बेगुनाहों को जेल जाने से बचा लिया।

ये भी पढ़ें: JNU हिंसा: जानें कैसा है इस नकाब के पीछे का चेहरा, पुलिस ने की पहचान

आलोक सिंह को मिला नोएडा की कमिश्नरी का चार्ज:

मेरठ रेंज के आईजी रहे आलोक सिंह को नोएडा का चार्ज दिया गया है। अलीगढ जिले के निवासी आलोक सिंह ने बड़े मामलों को सुलझाया।

ये भी पढ़ें: गिरफ्तार DSP के साथ भी होगा आतंकियों जैसा व्यवहार, J&K पुलिस का बड़ा बयान

NewsTrack ने पहले ही कमिश्नरी सिस्टम यूपी में लागू होने की खबर की थी प्रसारित:

बता दें कि न्यूजट्रैक इस खबर को तीन दिन पहले ही प्रसारित कर दिया था कि यूपी में जल्द ही कमिश्नरी प्राणाली लागू की जा सकती है। और आखिरकार आज कैबिनेट ने इस पर मुहर लगा दी है। ऐसे ही न्यूजट्रैक आपको आगे भी सबसे पहले और सबसे तेज खबर दिखाता रहेगा।

यहां मौजूद है खबर का लिंक:  योगी सरकार ने प्रशासनिक क्षेत्र में लिया बड़ा फैसला

ये भी पढ़ें: CAA पर विपक्षी दलों में दरार: बैठक से पहले ममता-माया और AAP ने किया किनारा

 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App