अमेरिका में कोरोना का तांडव, एक दिन में हुई इतनी मौतें, स्कूलों को खोलने पर अड़े ट्रंप

दुनियाभर में कोरोना वायरस का कहर जारी है। इस वायरस की सबसे ज्यादा मार अमेरिका झेल रहा है। अमेरिका में पिछले चौबीस घंटे में 1813 लोगों की जान चली गई है।

Published by Ashiki Patel Published: May 14, 2020 | 8:59 am
Modified: May 14, 2020 | 9:00 am

नई दिल्ली: दुनियाभर में कोरोना वायरस का कहर जारी है। इस वायरस की सबसे ज्यादा मार अमेरिका झेल रहा है। अमेरिका में पिछले चौबीस घंटे में 1813 लोगों की जान चली गई है। इसी बीच अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने देश को खोलने की बात कर दी है। उन्होंने सभी राज्यों को गवर्नरों से बात कर स्कूल खोलने का आदेश भी दे दिया है।

ये भी पढ़ें: कोरोना पर चीन को घेरने की कवायद तेज, ट्रंप के करीबी नौ सांसदों ने पेश किया बिल

अमेरिका अब कोरोना संकट से उबर रहा है

अमेरिकी डॉ. एंथोनी फॉकी ने पिछले दिनों कहा था कि अमेरिका को देश खोलने की जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए। वरना कोरोना मामले में और भी ज्यादा तबाही आ सकती है, लेकिन डोनाल्ड ट्रंप ने इस सलाह को दरकिनार कर दिया। एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में अपनी बात को स्वीकारते हुए डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि अब स्कूल खुलने चाहिए, मैंने ऐसा कहा भी है। साथ ही डोनाल्ड ट्रंप ने यह भी दावा किया कि अमेरिका अब कोरोना संकट से उबर रहा है, अगर स्कूल नहीं खुलेंगे तो ऐसा लगेगा ही नहीं देश खुल चुका है।

ये भी पढ़ें: लॉकडाउन: पैदल घर जा रहे प्रवासी मजदूरों को रोडवेज बस ने रौंदा, 6 की मौत

बता दें कि दुनियाभर में अबतक कोरोना वायरस की चपेट में करीब 44 लाख लोग आ चुके हैं और करीब 3 लाख लोगों की मौत हो गई है। वहीं अकेले अमेरिका की बात करें तो यहां 84 हजार से अधिक लोग अपनी जान गंवा चुके हैं, जो कि दुनिया में सबसे अधिक है। कुल संक्रमितों की बात करें तो अमेरिका में अबतक करीब 14 लाख लोग इस वायरस की चपेट में हैं। इसके साथ ही कई देशों ने अब अपने यहां लॉकडाउन में ढील देना शुरू कर दिया है। बीते दिनों इटली, फ्रांस जैसे देश भी धीरे-धीरे लॉकडाउन खोलने के लिए कदम बढ़ा चुके हैं।

ये भी पढ़ें: आर्थिक पैकेज पर चिदंबरम ने कहा- गरीबों और भूखे प्रवासी मजदूरों के लिए कुछ नहीं

UP में चलती ट्रेन से गायब हुए 338 प्रवासी मजदूर, मचा हड़कंप, जांच में जुटा प्रशासन

पीएम केअर्स फंड से जारी हुआ 3100 करोड़, जानिए कहां-कहां होगा खर्च