×

पाक विमान हादसे की चौंकाने वाली रिपोर्ट, पायलटों की इस गलती से गई 97 लोगों की जान

पूरी दुनिया में कोरोना का कहर इतना ज्यादा बढ़ चुका है कि हर समय लोग इसी पर चर्चा करने में मशगूल रहते हैं। अब एक नया खुलासा हुआ है कि...

Ashiki
Updated on: 24 Jun 2020 5:47 PM GMT
पाक विमान हादसे की चौंकाने वाली रिपोर्ट, पायलटों की इस गलती से गई 97 लोगों की जान
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

अंशुमान तिवारी

इस्लामाबाद: पूरी दुनिया में कोरोना का कहर इतना ज्यादा बढ़ चुका है कि हर समय लोग इसी पर चर्चा करने में मशगूल रहते हैं। अब एक नया खुलासा हुआ है कि पाकिस्तान में पिछले महीने हुए प्लेन क्रैश का कारण भी पायलटों का कोरोना पर चर्चा में मशगूल रहना था। हादसे के बारे में आई शुरुआती जांच रिपोर्ट में कहा गया है कि यह हादसा पायलटों की गलती की वजह से हुआ जो लैंडिंग के समय कोरोना पर चर्चा करने में मशगूल थे।

ये भी पढ़ें: लाखों कुत्तों को खा जाएंगे चीनी, शुरु हुआ ये फेस्टिवल, ऐसे की जाती है बर्बरता

कराची के रिहायशी इलाके में गिरा था विमान

पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस के विमान का यह हादसा 22 मई को कराची में लैंडिंग से ठीक पहले हुआ था। यह विमान लैंडिंग से पहले रिहायशी इलाके में गिर पड़ा था जिससे 97 लोगों की मौत हो गई थी। इस हादसे में सिर्फ दो लोगों की ही जान बच सकी थी। पाकिस्तान के नागरिक विमानन मंत्री गुलाम सरवर खान हादसे की शुरुआती जांच रिपोर्ट संसद में पेश करते हुए कहा कि पायलट और एयर ट्रेफिक कंट्रोलर नेता नियमों का पालन नहीं किया।

ये भी पढ़ें: UP में 11 लाख लोगों को नौकरी देगी ये कंपनी, 26 जून को देगी नियुक्ति पत्र

कोरोना पर चर्चा कर रहे थे पायलट

उन्होंने कहा कि एयर बस ए 320 की लैंडिंग के समय पायलट और एयर ट्रेफिक कंट्रोलर कोरोना वायरस के संबंध में बातचीत कर रहे थे। इस कारण पायलट और कोपायलट का फोकस विमान की लैंडिंग पर नहीं था। पूरे सफर के दौरान उनकी बातचीत का मुद्दा सिर्फ कोरोना ही था। उनके परिवार के लोग इस वायरस से प्रभावित थे अौर इस कारण वे इसी पर चर्चा कर रहे थे।

ये भी पढ़ें: सुशांत सुसाइड केस: आई फाइनल पोस्टमार्टम रिपोर्ट, हुआ चौंकाने वाला खुलासा

दोगुनी ऊंचाई पर उड़ान भर रहा था विमान

हादसे के बारे में तैयार की गई रिपोर्ट में कहा गया है कि रनवे की ओर बढ़ते समय विमान की ऊंचाई जितनी होनी चाहिए, विमान उससे दोगुनी ऊंचाई पर उड़ान भर रहा था। इसके साथ ही पायलट और एयर ट्रेफिक कंट्रोलर ने नियमों का उल्लंघन किया। इस कारण विमान के इंजन को नुकसान पहुंचा और विमान हादसे का शिकार हो गया। रिपोर्ट में कहा गया है कि लैंडिंग के दूसरे प्रयास के दौरान विमान हादसे का शिकार हुआ और एयरपोर्ट के नजदीक स्थित रिहायशी इलाके में गिर पड़ा।

ये भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश में लगाए जायेंगे 25 करोड़ पौधे, इन वृक्षों को मिलेगी प्राथमिकता

जांच करने वाली टीम ने कॉकपिट डाटा और वॉइस रिकॉर्डर की मदद से हादसे की जांच करने के बाद यह निष्कर्ष निकाला है। हालांकि अभी यह हादसे की शुरुआती जांच रिपोर्ट है और विस्तृत जांच रिपोर्ट साल के अंत तक आने की उम्मीद है।

उड़ान के लिए पूरी तरह फिट था विमान

संसद में रिपोर्ट पेश करते हुए विमानन मंत्री ने कहा कि यह कहना पूरी तरह गलत है कि विमान उड़ान के लिए फिट नहीं था। उन्होंने कहा कि विमान उड़ान के लिए 100 फ़ीसदी फिट था और इसमें कोई तकनीकी समस्या नहीं थी। विमान हादसे की वजह से एयरपोर्ट के पास स्थित रिहायशी इलाके के 29 घरों को नुकसान पहुंचा है। सरकार की ओर से इन गृह स्वामियों को मुआवजा देने का ऐलान किया गया है। दोमहीने के लॉक डाउन के दौरान पाकिस्तान में विमान सेवाएं पूरी तरह बंद थीं और विमान सेवा की शुरुआत होने के बाद ही यह हादसा हुआ था। हादसे के समय ईद का त्योहार नजदीक था और विमान में सवार अधिकांश लोग ईद का त्योहार मनाने के लिए घर जा रहे थे।

ये भी पढ़ें: UP Board Result 2020: इस दिन आएगा यूपी बोर्ड का रिजल्ट, ऐसे और यहां करें चेक

Ashiki

Ashiki

Next Story