×

गुस्से में भाजपा! छात्रों की JU राष्ट्रविरोधियों-वामपंथियों का अड्डा

बता दें कि केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो से जादवपुर यूनिवर्सिटी में बदसलूकी की गई है। दरअसल, बाबुल सुप्रियो ने अपने ट्विटर अकाउंट पर इसकी तस्वीरें शेयर की हैं। बता दें कि गुरुवार को केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो एबीवीपी द्वारा आयोजित एक संगोष्ठी को संबोधित करने के लिए दोपहर ढाई बजे

Harsh Pandey

Harsh PandeyBy Harsh Pandey

Published on 20 Sep 2019 3:22 PM GMT

गुस्से में भाजपा! छात्रों की JU राष्ट्रविरोधियों-वामपंथियों का अड्डा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

कोलकाता: चुनाव के दौर आ गया है। जगह-जगह नेताओं की रैली देखने को मिल रही है। चुनाव आते ही अचातक राजनैतिक पार्टियां सक्रीय हो जाती है। जो काम पिछले 5 सालो में नहीं हो पाता है वह कार्य त्वरित प्रक्रिया में आ जाता है। कहीं नेता वादे कर रहें है तो कहीं थप्पड़ मार खाते नजर आ रहे हैं।

नया मामला जादवपुर यूनिवर्सिटी से है जहां, केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो से हुई बदसलूकी का मामला काफी गरमा गया है। वहीं सुप्रियो पर हमला करने वाले युवकों की तस्वीरें सामने आई हैं। बता दें कि केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो से जादवपुर यूनिवर्सिटी में बदसलूकी की गई है।

यह भी पढ़ें. झुमका गिरा रे…. सुलझेगी कड़ी या बन जायेगी पहेली?

दरअसल, बाबुल सुप्रियो ने अपने ट्विटर अकाउंट पर इसकी तस्वीरें शेयर की हैं। बता दें कि गुरुवार को केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो एबीवीपी द्वारा आयोजित एक संगोष्ठी को संबोधित करने के लिए दोपहर ढाई बजे विश्वविद्यालय आए थे।

बताया जा रहा है कि छात्रों ने शुरुआत में ‘बाबुल सुप्रियो वापस जाओ' के नारे लगाते हुए करीब डेढ़ घंटे तक सुप्रियो को कैंपस में प्रवेश करने से रोका। इसके बाद छात्रों के एक समूह ने केंद्रीय मंत्री को काले झंडे दिखाए और उनका घेराव करते हुए उन्हें कैंपस से बाहर जाने से रोक दिया। इस दौरान कुछ छात्रों ने केंद्रीय मंत्री के बाल खींचे और उनके कपड़े भी फाड़ दिए।

यह भी पढ़ें. लड़की का प्यार! सुधरना है तो लड़के फालो करें ये फार्मूला

इसके साथ ही प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि बाबुल सुप्रियो की सहायता के लिए राज्यपाल जगदीप धनखड़ जादवपुर यूनिवर्सिटी पहुंचे और किसी तरह से उन्होंने केंद्रीय मंत्री को भीड़ से निकाला और अपनी गाड़ी में बिठाया और वापस राजभवन लाए।

विश्वविद्यालय के कुलाधिपति राज्यपाल के सामने भी वामपंथी छात्र संगठनों- एसएफआई, एएफएसयू, एफईटीएसयू और आईसा और टीएमसीपी के छात्रों ने प्रदर्शन किया।

यह भी पढ़ें. लड़की का प्यार! सुधरना है तो लड़के फालो करें ये फार्मूला

जादवपुर विश्वविद्यालय के प्रवक्ता ने बताया...

जादवपुर विश्वविद्यालय अध्यापक संघ (जेयूटीए) के एक प्रवक्ता ने बताया कि छात्रों को मनाने के लिए अध्यापक आगे आए जिसके बाद धनखड़ और बाबुल सुप्रियो शाम में वहां से रवाना हो सकें।

कैंपस में सेमिनार आयोजित करने वाली एबीवीपी के समर्थकों ने आर्ट फैकल्टी स्टूडेंट्स यूनियन (एएफएसयू) के कमरे में तोड़फोड़ की, इसके साथ ही ‘जय श्री राम' और ‘भारत माता की जय' के नारे लगाते हुए एबीवीपी के समर्थक कमरे के फर्नीचर, कंप्यूटर और पंखों में आग लगाते हुए नजर आए।

यह भी पढ़ें. असल मर्द हो या नहीं! ये 10 तरीके देंगे आपके सारे सवालों के सही जवाब

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि एबीवीपी के समर्थकों ने कमरे की दीवार पर एबीवीपी भी लिख दिया। वहीं इस घटना पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि वह किसी तरह की राजनीति करने नहीं गए थे लेकिन छात्रों के व्यवहार से दुख हुआ।

बाबुल सुप्रियो ने कहा....

बाबुल सुप्रियो ने कहा कि विश्वविद्यालय के कुछ छात्रों के व्यवहार से दुखी हूं, जिस तरह उन्होंने मेरा घेराव किया। उन्होंने मेरे बाल खींचे और मुझे धक्का दिया। शाम पांच बजे परिसर से बाहर निकलते समय भी भाजपा नेता को विरोध प्रदर्शन का सामना करना पड़ा।

यह भी पढ़ें. बेस्ट फ्रेंड बनेगी गर्लफ्रेंड! आज ही आजमाइये ये टिप्स

राज्यपाल ने कहा...

राज्यपाल धनखड़ ने कहा कि विश्वविद्यालय में छात्रों के एक समूह द्वारा केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो का घेराव किया जाना एक गंभीर मुद्दा है। उन्होंने घटना के संबंध में राज्य के मुख्य सचिव को तुरंत कदम उठाने को कहा।

विश्वविद्यालय सूत्रों के मुताबिक ...

विश्वविद्यालय सूत्रों के मुताबिक प्रदर्शन के दौरान विश्वविद्यालय के कुलपति सुरंजन दास की तबीयत बिगड़ गई और उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया।

यह भी पढ़ें: लड़कियों को पसंद ये! बताती नहीं पर हमेशा ही खोजती हैं ये चीजें

कैलाश विजयवर्गीय ने कहा...

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और पार्टी के पश्चिम बंगाल मामलों के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि यह घटना राज्य में बिगड़ती कानून व्यवस्था का पर्याप्त सबूत है।

JU राष्ट्रविरोधियों-वामपंथियों का अड्डा...

इस मामले से बीजेपी गुस्से में है। बीजेपी ने कहा कि जेयू का कैंपस राष्ट्रविरोधियों और वामपंथियों का अड्डा बन गया है और उनके कैडर इस अड्डे को तहस-नहस करने के लिए बालाकोट जैसी ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ करेंगे।

यह भी पढ़ें. होंठों की लाल लिपिस्टिक! लड़कियों के लिए है इतनी खास

दिलीप घोष ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में राज्य की तृणमूल कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाया कि वह जादवपुर यूनिवर्सिटी में इतनी बड़ी घटना होने के बावजूद हाथ पर हाथ धरे इसलिए बैठी रही क्योंकि उसे कैंपस में बाबुल सुप्रियो की हत्या का इंतजार था। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वह केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पूरी घटना विस्तार से लिखकर बताएंगे।

उन्होंने कहा, ‘जादवपुर यूनिवर्सिटी कैंपस राष्ट्रविरोधी और कम्यूनिस्ट गतिविधियों का केंद्र बन चुका है। इस तरह की घटना पहली बार नहीं हुई है। जिस तरह हमारे सुरक्षा बलों ने पाकिस्तान में आंतकी अड्डों को तबाह किया था, हमारे कैडर भी उसी तरह की सर्जिकल स्ट्राइक कर जेयू कैंपस में इन राष्ट्रविरोधी अड्डों को तहस-नहस कर देंगे।’

यह भी पढ़ें. महिलाओं के ये अंग! मर्दो को कर देते हैं मदहोश, क्या आप जानते हैं

बताया जा रहा है कि बाबुल सुप्रियो पर हुए हमले की खबर जैसे ही राज्य के गवर्नर जगदीप धनकड़ को मिली वो तुरंत कैंपस के अंदर पहुंचे।

घोष ने राज्यपाल के इस कदम का समर्थन करते हुए कहा कि राज्य सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठे रही और सुप्रियो की हत्या का इंतजार करती रही।

उन्होंने जादवपुर यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर सुरंजन दास के तत्काल प्रभाव से इस्तीफे की मांग की क्योंकि वह कैंपस के अंदर बिगड़े हालात पर नियंत्रण पाने में असफल रहे।

Harsh Pandey

Harsh Pandey

Next Story