ये 70 छात्र पीएम मोदी के साथ देखेंगे चंद्रयान-2 की चांद पर लैंडिंग

आज पूरे देश को सिर्फ उस पल का इंतजार है, जब चंद्रयान-2 चांद पर सॉफ्ट लैंडिंग करेगा। भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रम के लिए आज ऐतिहासिक दिन है। चंद्रयान-2 शुक्रवार की रात डेढ़ से ढाई बजे के बीच चांद के दक्षिणी ध्रुव पर उतरेगा।

नई दिल्ली: आज पूरे देश को सिर्फ उस पल का इंतजार है, जब चंद्रयान-2 चांद पर सॉफ्ट लैंडिंग करेगा। भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रम के लिए आज ऐतिहासिक दिन है। चंद्रयान-2 शुक्रवार की रात डेढ़ से ढाई बजे के बीच चांद के दक्षिणी ध्रुव पर उतरेगा।

पूरा देश चंद्रयान-2 के चंद्रमा पर कदम रखने की ऐतिहासिक घटना का गवाह बनेगा। केंद्रीय विद्यालय के 16 छात्रों समेत पूरे देश के 70 बच्चे इसरो में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मौजूद रहेंगे।

यह भी पढ़ें…आज रात चांद पर हिंदुस्तान: पीएम बोले- दुनिया देखेगी हमारे वैज्ञानिकों का करिश्मा

पीएम मोदी के साथ चंद्रयान-2 की लैंडिंग देखने के लिए बच्चों का चयन इसरो की तरफ कराए गए ऑनलाइन स्पेस क्विज के माध्यम से हुआ है। इसमें देश भर के अलग-अलग केंद्रीय विद्यालयों से 16 छात्रों का चयन हुआ है। इस क्व‍िज में देश भर के केंद्रीय विद्यालयों से कुल 150279 छात्र शामिल हुए थे। इसके अलावा बाकी छात्रों का अलग-अलग स्कूलों से चयन हुआ है।

इस दौरान पीएम मोदी के साथ मौजूद छात्रों को उनसे बातचीत करने और सवाल पूछने का भी मौका मिलेगा। इसके साथ ही ये छात्र-छात्राएं इसरो के वैज्ञानिक से भी रूबरू होंगे। छात्रों को इसरो की कार्यप्रणाली करीब से देखने का मौका मिलेगा।

यह भी पढ़ें…रहस्यों से भरा चांद! यकीन मानिये चंद्रमा पर है धन्वंतरि का खजाना

ये बच्चे PM मोदी के साथ देखेंगे चंद्रयान-2 की लैंडिंग

-लखनऊ से 10वीं की छात्रा राशि वर्मा का इस खास पल के लिए चयन हुआ है। राशि जानकीपुरम सेक्टर-छह स्थित दिल्ली पब्लिक स्कूल में पढ़ती हैं। राशि मूलरूप से यूपी के सीतापुर की रहने वाली हैं।

लखनऊ की छात्रा राशि वर्मा

-नोएडा के शिवांस पाल भी पीएम मोदी के साथ चंद्रयान-2 की चांद पर सॉफ्ट लैंडिंग के गवाह बनेंगे। शिवांश का कहना है कि उनकी रुचि अंतरिक्ष विज्ञान में है और वह इसी क्षेत्र में करियर बनाना चाहते हैं। एमिटी स्कूल में कक्षा 10 के छात्र हैं।

-केंद्रीय विद्यालय मिजोरम की कक्षा 10 की छात्रा अन्या सिंह भी इस ऐतिहासिक पल को देखेंगी। अन्या सिंह मूल रूप से यूपी के जौनपुर की रहने वाली हैं। न्या का चयन मिजोरम राज्य से हुआ है।

यह भी पढ़ें…चंद्रयान 2 : किसी मुश्किल की घड़ी से कम नहीं आखिर के 14.5 मिनट

-दिल्ली कैंट स्थित केंद्रीय विद्यालय के छात्र मानोग्य सिंह सुयांश भी पीएम मोदी के साथ इसरो में चंद्रयान 2 की लाइव लैंडिंग देखेंगे।

-चंडीगढ़ के सेक्टर-26 स्थित सेक्रेड हार्ट स्कूल की छात्रा रेजल गुप्ता भी इस ऐतिहासिक पल को देखेंगी।

-पंचकूला की रहने वाली कक्षा आठ की छात्रा निष्ठा इस पल का गवाह बनेंगी।

-रांची के धुर्वा की रहने वाली मृदुला कुमारी भी इसरो में पीएम मोदी के साथ चंद्रयान की लैंडिग देखेंगी। मृदुला धुर्वा के नौवीं कक्षा की छात्रा हैं।

-मणिपुर के छात्र वाहेंगबम देवनंदा भी इस ऐतिहासिक पल के गवाह बनेंगे। वह पूर्वी इम्फाल के यारलपत स्थित जवाहर नवोदय विद्यालय में पढ़ाई करते हैं।

यह भी पढ़ें…ये 9 गाने! बिना चंद्रयान के कराएंगे चांद की सैर

-राजस्थान के चुरू स्थित केंद्रीय विद्यालय की 9वीं कक्षा की छात्रा गरिमा शर्मा भी चंद्रयान 2 की लाइव लैंडिंग देखेंगी।

-छ्त्तीसगढ़ के महासमुंद जिला स्थित केंद्रीय विद्यालय की 9वीं की छात्रा श्रीजल चंद्राकर का भी चयन हुआ है।

-मेघालय के चेरापूंजी स्थित रामकृष्ण मिशन स्कूल के छात्र रिबैत फावा का भी चंद्रयान-2 की लैंडिंग देखेंगी।

-उत्तराखंड के हरिद्वार स्थित शिवालिकनगर के रहने वाले छात्र गर्व सक्सेना।

-ओडिशा के झारसुगुड़ा के चिन्मय चौधरी।

यह भी पढ़ें…इस चैनल पर देखें, चंद्रयान-2 की एक्सक्लूसिव लाइव लैंडिंग

-महाराष्ट्र के खरड़ की शगुन पंजवानी।

-हैदराबाद की कंचना बालाश्री वासवी।

-अहमदाबाद के छात्र निश्चल इस पल के गवाह बनेंगे।

-अहमदाबाद की ही छात्रा अनुष्का अग्रवाल भी इस मौके का गवाह बनेंगी।

-बेंगलुरू के जीशान संजीब का भी चयन हुआ है।

-करेरा मध्य प्रदेश की कनिष्का गुप्ता भी क्विज में चयनित हुई हैं।

-मध्य प्रदेश के जबलपुर के छात्र सिदक छाबड़ा भी चंद्रयान-2 की लैंडिंग देखेंगे।

यह भी पढ़ें…अफवाह या हकीकत, भारत का चंद्रयान उठायेगा इस झूठ से पर्दा

-लक्षद्वीप की छात्रा नफरसथ निधा।

-असम की छात्रा देवलीना हजारिका।

-जम्मू-कश्मीर के छात्र औजासव।

-सिक्किम के छात्र यश गुप्ता।

-शिलांग की छात्रा अविप्सा।

-मणिपुर की छात्रा सोनी नांगमैथम।

-अरुणाचल प्रदेश की छात्रा तेजस्विनी।

यह भी पढ़ें…इस महिला किसान ने हिम्मत और हौंसले से लिखी सफलता की नई इबारत

-चंडीगढ़ के छात्र अक्षत।

-बिहार के बोधगया के एक निजी स्‍कूल में कक्षा आठ की छात्रा सौम्‍या भी पीएम मोदी के साथ इस ऐतिहासिक पल का गवाह बनेंगी।

जानिए कैसे हुआ छात्रों का चयन

इसरो ने भारत सरकार के साथ स्पेस क्विज प्रतियोगिता का आयोजन किया था। ऑनलाइन स्पेस क्विज के जरिए छात्रों का चयन किया गया है। इसरो द्वारा ये क्विज 15 से 25 अगस्त तक आयोजित किया गया था। इस क्विज में कक्षा आठ से 12 के छात्र-छात्राओं ने हिस्सा लिया।

यह भी पढ़ें…मोदी की इको फ्रेंडली रैली: देंखे आखिर क्यों है ये इतनी ज्यादा खास

इस क्विज में शामिल होने वाले छात्रों से स्पेस साइंस से संबंधित 20 सवाल पूछे गए थे। 10 मिनट में सबसे ज्यादा सही जवाब देने वालों का पीएम मोदी के साथ इस ऐतिहासिक पल को देखने के लिए चयन किया गया। इसके तहत प्रत्येक राज्य व केंद्र शासित प्रदेश से दो छात्रों का चयन हुआ है।