नोटबंदी के तीन साल! सड़क पर कांग्रेसी, राहुल ने कही ये बड़ी बात

केन्द्र की मोदी सरकार द्वारा लिया गया सबसे बड़ा फैसला ‘नोटबंदी’ के 3 साल पूरे हो गए हैं, नोटबंदी तरफ जहां सरकार मौन साधे हुए है, तो वहीं विपक्ष नोटबंदी के तीन साल पूरे होने पर पीएम मोदी पर हमलावर है।

नई दिल्ली: केन्द्र की मोदी सरकार द्वारा लिया गया सबसे बड़ा फैसला ‘नोटबंदी’ के 3 साल पूरे हो गए हैं, नोटबंदी तरफ जहां सरकार मौन साधे हुए है, तो वहीं विपक्ष नोटबंदी के तीन साल पूरे होने पर पीएम मोदी पर हमलावर है। खबर है कि कांग्रेस देशभर में सड़क पर उतर कर प्रदर्शन किया है।

यह भी पढ़ें.  चोरी हो गया दिल्ली का ये फुटओवर ब्रिज, है गजब कहानी

राहुल गांधी ने नोटबंदी पर किया वार…

यह भी पढ़ें. पुलिस नहीं जल्लाद है ये, वीडियो देख कांप जायेगी रूह

नोटबंदी के तीन साल पूरे होने पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सरकार पर हमला बोला है। राहुल गांधी ने नोटबंदी को ‘आतंकी हमला’ करार दिया है, इसके साथ ही उन्होंने इसके लिए जिम्मेदार लोगों को सजा देने को भी कहा है।

बताते चलें कि आठ नवंबर 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र को संबोधित करते हुए 500 और 1,000 रुपये के नोटों के प्रचलन से बाहर किए जाने की घोषणा की थी।

यह भी पढ़ें.  मोदी का मिशन Apple! अब दुनिया चखेगी कश्मीरी सेब का स्वाद

राहुल गांधी ने किया ट्वीट…

यह भी पढ़ें. अयोध्या राम मंदिर! फैसला आने से पहले यूपी में घुसे भगवा आतंकी

राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए कहा कि नोटबंदी ‘आतंकी हमला’ को तीन साल गुजर गए हैं, जिसने भारतीय अर्थव्यवस्था को तबाह कर दिया, कई लोगों की जान ले ली, कई छोटे कारोबार खत्म कर दिए और लाखों भारतीयों को बेरोजगार कर दिया।

इसके साथ ही उन्होंने हैशटैग, डीमोनेटाइजेशन डिजास्टर का प्रयोग करते हुए कहा कि इस ‘निंदनीय हमले’ के लिए जिम्मेदार लोगों को कानून के समक्ष लाया जाना बाकी है।

रणदीप सुरजेवाला ने भी किया ट्वीट…

यह भी पढ़ें.  सावधान दिल्ली वालों! हेल्थ इमरजेंसी घोषित, अब नहीं सुधरे तो भुगतोगे

कांग्रेस के प्रमुख प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भी नोटबंदी को लेकर प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधा और उन्हें, “आज का तुगलक” बताया।

इसके साथ ही उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि सुल्तान मोहम्मद बिन तुगलक ने 1330 में देश की मुद्रा को अमान्य करार दिया था। आज के तुगलक ने भी आठ नवंबर, 2016 को यही किया था।

उन्होंने कहा कि तीन साल गुजर गए लेकिन आज भी देश इस गलती को भुगत रहा है, अर्थव्यवस्था पूरी तरह से ठप हो चुकी है और रोजगार छिन गया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि नोटबंदी से न ही आतंकवाद रुका और न ही जाली नोटों का कारोबार थमा है। सुरजेवाला ने पूछा कि इसके लिए जिम्मेदार कौन है।

यह भी पढ़ें.  10 करोड़ की होगी मौत! भारत-पाकिस्तान में अगर हुआ ऐसा, बहुत घातक होंगे अंजाम

अशोक गहलोत ने किया वार…

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि देश में नोटबंदी को तीन वर्ष हो जाने के बावजूद आज तक अर्थव्यवस्था उबर नहीं पाई है। गहलोत ने नोटबंदी के तीन साल पूर्ण होने पर अपनी प्रतिक्रिया में आज यह बात कही। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार के उस व्यर्थ निर्णय नोटबंदी को तीन साल हो चुके हैं और इससे अभी भी अर्थव्यवस्था उबर नहीं पाई है।

गहलोत ने कहा कि यह सभी खातों और छोटे व्यवसायों पर विफल रही, जिससे असंगठित क्षेत्र में कार्यरत लोग अभी भी संघर्ष कर रहे हैं। सरकार ने इससे वर्षों से आर्थिक विकास को बाधित किया है।

सुरजेवाला ने नोटबंदी पर उठाये सवाल

उन्होंने नोटबंदी को मानव निर्मित आपदा बताने के लिए वैश्विक रेटिंग एजेंसी मूडीज का भारत सरकार की रेटिंग पर परिदृश्य में बदलाव करते हुए उसे घटाकर नकारात्मक किए जाने का भी हवाला दिया, सुरजेवाला ने नोटबंदी के तीन साल पूरे होने पर, सत्ता में बैठे लोगों की चुप्पी पर भी सवाल उठाए।

नोटबंदी की बरसी पर पीएम के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में प्रदर्शन

वाराणसी: उधर प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने प्रतीकात्मक शव यात्रा निकाला और अपना विरोध प्रकट किया। इस दौरान पुलिस और एनएसयूआई कार्यकर्ताओं के बीच हल्की झड़प भी हुई।

शहर में किसी तरह के जूलुस और प्रदर्शन पर रोक है। इसके बावजूद एनएसयूआई के कार्यकर्ता सड़कों पर उतरे। संपूर्णानंद संस्कृत यूनिवर्सिटी में कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन शुरू किया।

हाथों में तख्ती और पोस्टर लिए नारेबाजी के रहे कार्यकर्ताओं ने शवयात्रा निकालने की कोशिश की। तभी चेतगंज पुलिस मौके पर पहुंच गई।

एनएसयूआई के राष्ट्रीय सचिव नावेद खान ने कहा कि देश की मौजूदा हिटलरशाही ने अर्थव्यवस्था को तबाह कर दिया है। तीन साल पहले आज के ही दिन मोदी सरकार ने अडानी और अम्बानी जैसे कारोबारियों को फायदा पहुंचाने के लिए करोड़ों लोगों को लाइन में खड़ा कर दिया।

कांग्रेस का मोदी सरकार पर तंज

इस मौके पर कांग्रेस की ओर से भी एक प्रेस कान्फ्रेंस की गई। पूर्व विधायक अखिलेश सिंह ने मीडिया से बात करते हुए नोटबन्दी को देश का सबसे बड़ा घोटाला बताया।

अखिलेश सिंह ने मीडिया पर तंज करते हुए कहा कि अच्छे दिन ,काला धन ,2 करोड़ नौकरियां आदि मोदी जी के कभी पापुलर नारे हुआ करते थे, लेकिन अब इनकी हकीकत सामने आ चुकी है। देश की मौजूद कृषि विकास दर 2 फीसदी रह गई है। उन्होंने कहा कि जेट एयरवेज डूब चुका है। एयर इंडिया बंदी के कगार पर है।

यह भी पढ़ें.  जहरीली हवा में जी रहे आप, बचने के लिए करें ये उपाय