article 370

कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद 27 सितम्बर को पहली बार पीएम नरेंद्र मोदी और पाकिस्तान के पीएम इमरान खान आमने - सामने होंगे। संयुक्त राष्ट्र महासभा के 74वें सत्र को पहले मोदी संबोधित करेंगे।

पीओके में रह रहे लोगों ने आजादी की मांग को लेकर आवाजें और बुलंद कर ली हैं और इसको लेकर पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शनों की संख्या में भी बढ़ोत्तरी हुई है।

प्रदेश अध्यक्ष ने हाईकोर्ट के सेवा निवृत जज खेमकरन से उनके आवास आशियाना लखनऊ में सम्पर्क किया तथा हाईकोर्ट के सेवा निवृत जज श्री वीरेन्द्र कुमार दीक्षित से उनके आवास विपुल खण्ड गोमतीनगर में जाकर भेंट करके उन्हें साहित्य सौंपा और अनुच्छेद 370 व 35ए की समाप्ति पर चर्चा की।

मैं तो समझता हूं कि कश्मीरी लोगों को अपना क्रोध या गुस्सा प्रकट करने की इजाजत वैसे ही मिलनी चाहिए, जैसी कि चीन ने हांगकांग के लोगों को दे रखी है। अहिंसक प्रदर्शन करने का पवित्र अधिकार सबको है।

जम्मू-कश्मीर से विशेषाधिकार को खत्म किये जाने के बाद और पीओके के तरफ भारत का अक्रामक रुप देखते हुए पाकिस्तान डरा हुआ है। पाकिस्तान को पीओके के छिन जाने का डर सता रहा है।

पाकिस्तान की नापाक हरकतों पर भारत ने एक बार फिर से पानी फेर दिया है। सीमा पर लाइन ऑफ कंट्रोल से 2 किलोमीटर की दूरी पर पाकिस्तान की ओर से कुछ आतंकवादियों ने घुसपैठ करने की कोशिश की लेकिन भारत ने इसे नाकामयाब कर दिया है।

प्रवक्ता हुआ के मुताबिक दोनों नेताओं के बीच बातचीत के लिए कश्मीर बड़ा मुद्दा नहीं हो सकता है। उन्होंने कहा, ''मुझे नहीं लगता कि बातचीत का असली मुद्दा कश्मीर होगा। बेहतर होगा कि दोनों नेताओं को बातचीत के लिए छोड़ दिया जाए।

पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर मुद्दे को इंटरनेशनल लेवल के मंच पर भी उठाया था लेकिन उसे यहां भी मुंह की खानी पड़ी थी। दरअसल तमाम देशों का कहना है कि ये भारत का अंदरूनी मामला है।

जम्मू-कश्मीर के विशेषाधिकार को खत्म किए जाने के बाद से ही पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। पाकिस्तान ने एक बार फिर से सीजफायर का उल्लंघन करते हुए गोलीबारी की है।

पंकज सिंह ने कहा कि पूर्व की सरकार ने संसद में चर्चा किए बिना और बिल पास किए बिना 370 और 35 ए को गलत तरह से लागू कराया गया था। सरदार वल्लभभाई पटेल, बाबा भीमराव अम्बेदकर और श्यामा प्रसाद मुखर्जी का सपना पूर्ण हुआ है।