CAA

अमेरिकी राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बाइडन ने कश्मीर मुद्दे और नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर भारत विरोधी बयान दिए हैं।

सीएए व एनआरसी के विरोध में हुए प्रदेशव्यापी आंदोलन के अंतर्गत गत 19 दिसंबर को लखनऊ में एक व्यक्ति की मौत हुई थी और कई घायल हुए थे। प्रदेश के विभिन्न जिलों में हुई हिंसा में कुल 23 लोगों की मौत हुई और पुलिस कर्मियों समेत लगभग 600 लोग घायल हुए थे।

सीएए के विरोध में राजधानी लखनऊ में मुस्लिम महिलाओं का धरना अपने आप मंे ऐतहासिक रहा। 2 प्रदर्शनकारी महिलाओं की तबियत खराब होने से जान तक चली गयी। प्रदर्शन से हटने के बाद महिलाएं धरना स्थल पर दुपट्टा छोड़कर गई हैं।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के घंटाघर पर 17 जनवरी यानी 66 दिन से नागरिकता कानून(सीएए) के खिलाफ चल रहा महिलाओं का धरना प्रदर्शन खत्म हो गया है।

कई महीनो से उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में CAA और NRC के विरोध में चल रहे प्रदर्शन को लेकर अब नई खबर आ रही है।

यूपी में अगले विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी लगतार विरोध प्रदर्शन करती रहेगी। पार्टी ने सड़कों पर उतरकर सरकार की...

सीएम योगी आदित्यनाथ सरकार की तरफ से दंगाइयों के खिलाफ लगाए गए पोस्टरों ने अब राजनीतिक रंग लेना शुरू कर दिया है। फैसले के खिलाफ विपक्षी दलों ने भी पोस्टर लगाने शुरू कर दिए हैं।

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार सीएए को लेकर हुई हिंसा और उसके बाद दंगाईयों से वसूली के लिए पीछे हटने को तैयार नहीं है। राज्य सरकार ने आज कैबिनेट की बैठक उत्तर..

नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में हाल ही में हुई हिंसा किसी भ्रांति के कारण नहीं बल्कि एक कूटनीति व षड्यंत्र का परिणाम थी। देश के विपक्षी दलों ने इसमें...