ec

प्रमुख राजनीतिक दल जैसे बीजेपी, कांग्रेस, एनसीपी, सीपीआई, डीएमके, आरजेडी, शिवसेना, तेलुगुदेशम पार्टी, एआईएमआईएम और आल इंडिया फॉरवर्ड ब्लाक भी शामिल हैं। यह खुलासा एडीआर की रिपोर्ट में हुआ है।

चुनाव आयोग ने शुक्रवार को झारखंड में विधानसभा चुनाव की तारीखों को ऐलान कर दिया। प्रदेश में पांच चरणों में विधानसभा चुनाव होंगे। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने यह घोषणा की।

देश में एक बार फिर चुनावी मौसम शुरू हो गया है। शनिवार को चुनाव आयोग ने महाराष्ट्र और हरियाणा में होने वाले विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया। इन दोनों राज्यों में 21 अक्टूबर को वोट डाले जाएंगे और 24 अक्टूबर को नतीजे आएंगे।

महाराष्‍ट्र और हरियाणा में आगामी विधानसभा चुनावों को लेकर चुनाव आयोग तैयारियां कर रहा है। चुनाव आयोग ने अपनी चुनाव प्रबंधन व प्लानिंग टीम को महाराष्ट्र और हरियाणा के संबंध में चुनावी घोषणा से जुड़ी बुकलेट तैयार करने को कहा है।

आयोग ने कहा कि हम जम्‍मू एंड कश्‍मीर के हालात पर नजर बनाए हुए हैं। आपको बता दें कि अमरनाथ यात्रा अगस्‍त में रक्षाबंधन पर खत्‍म होती है, जिसके बाद चुनावों का ऐलान कर दिया जाए।

2019 में कुल 90.90 करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करने के पात्र थे जिनमें से 67 प्रतिशत से अधिक ने वोट डाला है और इस बार लोकसभा चुनावों में रिकॉर्ड मतदान हुआ है।

देश में लोकसभा चुनाव खत्म हो चुका है और कल यानी गुरुवार को साफ हो जाएगा कि कौन सी पार्टी की सरकार बनेगी। लेकिन इससे पहले आए एग्जिट पोल को लेकर विपक्षी पार्टियों में हलचल मच गई है। विपक्षी नेता लगातार चुनाव आयोग पर सवाल उठा रहे हैं।

चुनाव आयोग की ईवीएम के मुद्दे पर बैठक हुई। विपक्षी पार्टियों को बड़ा झटका देते हुए चुनाव आयोग ने वीवीपैट मिलान की मांग को ठुकरा दिया है जिसमें 50 फीसदी पर्चियों के मिलान की बात कही जा रही थी।

लोकसभा चुनावों की मतगणना से महज दो दिन पहले इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) में कथित छेड़छाड़ की खबरें सामने आने के बाद मंगलवार को राजनीतिक विवाद पैदा हो गया। विपक्ष ने चुनाव आयोग से अपील की है कि वह मतगणना में पूरी पारदर्शिता बरते।

देश में लोकसभा चुनाव खत्म हो चुका है। कल यानी 23 मई को नतीजे आएंगे और पत चल जाएगा कि किस पार्टी की सरकार बनेगी। इस बीच चुनाव आयोग में मतभेद की खबरों ने हलचल मचा दी है। पिछले दिनों चुनाव आयुक्त अशोक लवासा ने कुछ सवाल खड़े किए थे।