income tax

अगर आपके पास भी पैन कार्ड नहीं है, आप कोरोना के डर से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं, तो हम आपको ऐसा तरीका बताने जा रहे हैं जिससे आप घर बैठे ही अपना पैन कार्ड बनवा सकेंगे। ये कार्ड आपको तुरंत ही मिल जायेगा इसके लिए आपको कई दिनों तक इंतज़ार नहीं करना पड़ेगा।

द्र सरकार ने कोरोना वायरस लॉकडाउन के बीच करदाताओं को बड़ी राहत दी है। मोदी सरकार ने इनकम टैक्‍स रिटर्न (ITR) दाखिल करने की समय सीमा आगे बढ़ा दी है।

अब नए महीने की शुरूआत यानि 1 जून से आपके इनकम टैक्स से जुड़ा फॉर्म बदलने वाला है। दरअसल, केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (Central Board of Direct Taxes) यानि CBDT ने फॉर्म 26AS में संशोधन किया है।

ऐसा करने के लिए कारोबारियों और सांसदों ने भी सरकार को चिट्ठी लिखी है।जिसमें कहा गया है कि लॉकडाउन के चलते कारोबारियों के तमाम पेमेंट जगह जगह अटके है।

कोरोना संकट के बीच इनकम तक विभाग करदातों को चिट्ठी और मेल भेज रहा है। घबराने की बात नहीं है, विभाग की ये चिट्ठी आपके खाते में पैसा लाएगी। दरअसल, टैक्स विभाग करदातों का रिफंड तेजी से ट्रांसफर करने में लगा हुआ है। इस बाबत कन्फर्मेशन के लिए ये चिट्ठी भेजी जा रही है

लॉकडाउन के मद्देनजर लोगों को राहत देने के लिए इनकम टैक्स विभाग तेजी से लाखों करदाताओं को रिफंड दे रहा है। ऐसे में 8 अप्रैल के बाद से अब तक 8.2 लाख छोटे उपक्रमों, कारोबारियों, कंपनियों और ट्रस्टों के खातों में रिफंड किया गया।

लॉकडाउन के बीच कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने अपने सब्सक्राइबर में पिछले 15 दिन में करीब 946 करोड़ रुपये वितरित कर दिए हैं। दरअसल...

लॉकडाउन के मद्देनजर लोगों को राहत देने के लिए इनकम टैक्स विभाग तेजी से लाखों करदाताओं को रिफंड दे रहा है। ऐसे में अब तक 10 लाख से ज्यादा करदाताओं को कुल मिलाकर 4,250 करोड़ रुपये का रिफंड किया गया।

दुनिया में कोरोना ने तबाही-तबाही मचा रखी है। कोरोना के संक्रमण का विश्व-स्तर पर आंकड़ा 10 लाख से ऊपर निकल गया है। भारत में 21 दिनों के लॉकडाउन और कड़ी सख्ती बरती जा रही है। 

8 नवंबर 2016 का दिन तो हर किसी को याद होगा जब देर शाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी का ऐलान किया था। उस दौरान जूलर्स को यह छूट मिली थी कि वह बैंक में कितने भी 500-1000 के नोट जमा कर सकते हैं।