Italy

दुनियाभर में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से अपने पैर पसार रहा है। यूरोप के देश इटली में बीते कुछ हफ्तों पहले महामारी से भीषण तबाही मची हुई थी।

इटली का एक गांव करीब 26 साल बाद झील से बाहर निकल आया है। अब इटली की सरकार ऐसा उम्मीद कर रही है कि इस मध्यकालीन ऐतिहासिक गांव को देखने के लिए इस साल के अंत तक या फिर अगले साल की शुरूआत से पर्यटक आ सकेंगे।

भारत दुनिया में 11वां ऐसा देश है, जहां कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या एक लाख के आंकड़े को पार कर चुकी है। भारत से ऊपर 10 ऐसे देश पहले से मौजूद हैं, जहां कोरोना वायरस के संक्रमित मरीजों की संख्या एक लाख से ज्यादा पहुंच चुकी है।

एक तरफ अमेरिका चीन की वुहान लैब पर दुनिया को मौत का वायरस देने का आरोप लगा रहा है तो दूसरी तरफ दुनिया के तकरीबन कई देशों की लैब में जिंदगी बचाने के लिए टीका बनाने की होड़ मची हुई है।

दुनिया में कोरोना से सर्वाधिक प्रभावित देशों में इटली भी शामिल है मगर अब यहां हालात धीरे-धीरे सामान्य हो रहे हैं। इस खतरनाक वायरस ने देश में 26 हजार से अधिक लोगों की जान ली है।

कोरोना का कहर दुनियार में जारी है। चीन के वुहान  से शुरू होकर  अब पूरी दुनिया में फैल चुका है।  जिस समय वुहान में कोरोना तबाही मचा रहा था उस समय इटली ने चीन को व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (PPE) डोनेट किया था,

वैसे तो पूरी दुनिया में इस कोरोना ने अपना संक्रमण फैला रखा है। ऐसे में स्‍पेन में कोरोना वायरस से मरने वालों का आंकड़ा 10,000 पार कर गया है। स्‍पेन में बीते 24 घंटे में रिकॉर्ड 950 लोगों की मौत हो गई।

इटली में कोरोना वायरस की वजह से अभी तक लगभग 13,000 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके साथ ही 1 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित है। कोरोना के जंजाल से इटली क्या पूरा विश्व परेशान है।

पूरी दुनिया में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या में लगातार इजाफा होता ही जा रहा है। इटली में स्थिति और भी भयावह है।  वहां की स्थिति को देखते हुए वहां प्रधानमंत्री गूइसेप कोंते ने लॉकडाउन को 12 अप्रैल तक बढ़ा दिया है।

कोरोना का प्रकोप झेल रहे इटली से एक सुकून भरी और अच्छी खबर सामने आई है। कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद भी 101 साल के एक बुजुर्ग ने इस महामारी से उबरने में सफलता पाई है।