terror attack

ताजा खबर मिली है कि पुलवामा जिले के कंगन गांव में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ शुरु हो गई है। मिली जानकारी के मुताबिक, सेना ने इस मुठभेड़ में आतंकी संगठन जैश-ए - मोहम्मद के टॉप कमांडर सहित 3 आतंकियों को मार गिराया है।

सीरियाई विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि तुर्की इदलिब में आतंकवादी समूहों का समर्थन कर रहा है, जिसमें अल कायदा से जुड़े आतंकवादी प्रमुख हैं। बयान में कहा गया है कि सीरियाई सेना आतंकवादी समूहों के खिलाफ अपनी लड़ाई जारी रखेगी।

आतंकी संगठन द्वारा सेना के जवानों पर मोर्टार दागा गया, हालाँकि ये मोर्टार एक प्राथमिक स्कूल पर गिर गये। इस हमले में 20 छात्र घायल हो गये

जब से केंद्र सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाई गई है, तब से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है और भारत पर किसी बड़े आतंकी हमले को अंजाम देने की फिराक में लगा हुआ है।

आतंकी संगठन ISI पुलवामा जैसा हमला करने की फिराक में है। पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI ने सभी आतंकी गुटों के साथ मिलकर नया ग्रुप बनाया है, जिसका नेतृत्व जैश-ए-मोहम्मद कर रहा है। ग्रुप का नाम गजनवी फोर्स दिया गया है।

अफगानिस्तान के बल्ख प्रांत में सेना ने हवाई हमले करते हुए आतंकवादी संगठन तालिबान के एक जिला कमांडर समेत तीन आतंकवादियों को ढेर कर दिया। विशेष बलों के प्रमुख ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

गणतंत्र दिवस यानी 26 जनवरी पर आतंकियों ने राष्ट्रीय राजमार्ग से सटे सैन्य शिविरों को दहलाने की साजिश रची है। सुरक्षा एजेंसियों को जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों की बातचीत का एक ऑडियो हाथ लगा है।

अमेरिका पर 11 सितंबर 2001 में अलकायदा के आतंकवादियों ने आत्मघाती हमला किया था। इसमें लगभग 3000 लोग मारे गए और 8900 लोग घायल हुए थे। यह विश्व इतिहास का सबसे बड़ा और भयंकर आतंकवादी हमला माना जाता है।

गौरतलब है कि बुर्किना फासो के पड़ोसी देश माली और नाइजर हैं जहां अक्सर आतंकी हमले होते रहते हैं। इस पूरे इलाके में 2015 के आसपास आतंकी घटनाओं में इजाफा देखा गया।

बता दें कि पिछले कई महीनों से आतंकियों पर सेना की ताबड़तोड़ कार्रवाई से आतंकी संगठन बौखालए हुए हैं। लगातार सेना को निशाना बनाने और घाटी का माहौल खराब करने की फिराक में जुटे हैं।