×

प्रशासन का कार्य सराहनीय, जनपदों में बांटा गया भोजन, कोई भी नहीं सोएगा भूखा

कोरोना महामारी के कारण देशव्यापी लॉक डाउन के चलते जनपद में कोई भूखा ना सोए इसके प्रशासनिक स्तर पर सराहनीय व सकारात्मक प्रयास किए जा रहे हैं। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने विभिन्न स्थानों का दौरा कर झोपड़पट्टी में रहने वाले व अन्य स्थानों पर जरूरतमंदों को भोजन का वितरण किया।

Vidushi Mishra
Updated on: 27 March 2020 10:53 AM GMT
प्रशासन का कार्य सराहनीय, जनपदों में बांटा गया भोजन, कोई भी नहीं सोएगा भूखा
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

जनपद में कोई भी भूखा नहीं सोएगा- अनिल ढींगरा

मेरठ,२७ मार्च। कोरोना महामारी के कारण देशव्यापी लॉक डाउन के चलते जनपद में कोई भूखा ना सोए इसके प्रशासनिक स्तर पर सराहनीय व सकारात्मक प्रयास किए जा रहे हैं। जनपद के वरिष्ठ अधिकारियों अपर पुलिस महानिदेशक, जिलाधिकारी अनिल ढींगरा व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने विभिन्न स्थानों का दौरा कर झोपड़पट्टी में रहने वाले व अन्य स्थानों पर जरूरतमंदों को भोजन का वितरण किया। जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने कहा कि जनपद में कोई भी भूखा नहीं सोएगा। उन्होंने कहा कि विभिन्न सामाजिक संगठनों की सहायता से जनपद में विभिन्न स्थानों पर जरूरतमंदों को निशुल्क कच्चे राशन का वितरण किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें… बहुत खतरनाक ये 2 चीज: तुरंत बना लें दूरी, अगर बचना है कोरोना से

जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने कहा कि देशव्यापी लॉक डाउन आमजन के स्वास्थ्य व दीर्घ जीवन के लिए किया गया है आमजन को इसका महत्व समझते हुए अपने अपने घरों पर ही रहना चाहिए तथा साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखते हुए अपने हाथों को नियमित रूप से समय-समय पर साबुन से धोना चाहिए या सैनिटाइजर का इस्तेमाल करना चाहिए जिलाधिकारी ने आज सदर स्थित झोपड़पट्टी व जनपद के अन्य विभिन्न स्थानों पर जरूरतमंदों को भोजन के पैकेट का वितरण किया। इस अवसर पर अपर पुलिस महानिदेशक प्रशांत कुमार वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय साहनी सहित अन्य अधिकारी व कर्मचारी गण उपस्थित रहे

ये भी पढ़ें...कोरोना संकट: RBI ने रेपो रेट .75 बेसिस पॉइंट घटाया

जनपद में कहीं नहीं होगी आटे की कमी, जिलाधिकारी ने फ्लोर मिल स्वामियों को दिए निर्देश

करोना वायरस के चलते देशव्यापी लॉक डाउन के कारण आमजन को दैनिक उपयोग की वस्तुओं में कोई कमी ना हो इसके लिए प्रशासनिक स्तर पर सकारात्मक प्रयास किए जा रहे हैं बचत भवन में आज फ्लोर मिल स्वामियों के साथ आहूत बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने कहा कि दैनिक उपयोग की आने वाली चीजों में आमजन को कोई कमी नहीं होगी उन्होंने फ्लोर मिल स्वामियों से स्पष्ट कहा कि आटे की सप्लाई लगातार जारी रहेगी तथा वह अपनी फ्लोर मिल चालू रखें व कच्चा माल प्राप्त करने के लिए उनको पास जारी किए जाएंगे जिलाधिकारी ने छोटी फ्लोर मिल स्वामियों को भी यही निर्देश दिए।

काला बाजारी की तो होंगे जेल में

जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने कहा कि आवश्यक वस्तुओं की कालाबाजारी और जमाखोरी करने वालों के विरुद्ध आवश्यक वस्तु अधिनियम की धारा 3/ 7 के तहत कड़ी कार्यवाही अमल में लाते हुए ऐसे लोगों के विरुद्ध एफआइआर दर्ज करा कर उन्हें जेल भेजा जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रशासनिक स्तर पर जरूरतमंद लोगों को कच्चा राशन उपलब्ध कराया जा रहा है उन्होंने कहा कि ग्रामों में ग्राम प्रधान यह सुनिश्चित करें कि ग्रामों में कोई भूखा ना सोए इसके लिए शासन द्वारा प्रति ग्राम प्रधान को ₹5000 की धनराशि भी खर्च करने का अधिकार दिया गया है जिसका वह सदुपयोग करें।

ये भी पढ़ें...संसार के सारे कष्टों की तारणहार हैं मां चंद्रघंटा, इन मंत्रों के जप से करें उद्धार

अपर जिलाधिकारी वित्त सुभाष चंद्र प्रजापति ने सोशल डिस्टेंसिंग को आज की आवश्यकता बताते हुए कहा कि लोग एक दूसरे से कम से कम एक मीटर की दूरी पर अवश्य रहे। उन्होंने कहा कि लॉक डाउन आमजन की बेहतरी के लिए किया गया है

इस अवसर पर अशोका, वर्धमान व रामा फ्लोर मिल के प्रतिनिधि , उपनिदेशक मंडी पुष्पेंद्र कुमार सिंह व अन्य अधिकारीगण आदि उपस्थित रहे।

रायबरेली मे लॉकडाउन: ड्यूटी भी दे रही महिला दरोगा और आरक्षी, किचन मे खाना बनाकर गरीब बस्ती मे पहुंचा भी रही

रायबरेली. लाकडाउन के दौरान सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली से पुलिस की बेहतरीन तस्वीर सामने आई है। महिला थाने की दरोगा संतोष सिंह और उनके साथ महिला सिपाही अपनी ड्यूटी भी दे रही, साथ मे गरीबो की भूख मिटाने के लिए किचन भी संभाल रखी हैं।

गौरतलब हो कि प्रधानमंत्री की अपील पर कोरोना महामारी के प्रभाव से बचने के लिए देश मे लाकडाउन है। इस हालत मे सबसे अधिक दुश्वारियां दिहाड़ी मजदूरों के सामने हैं। बहुत से परिवार भुखमरी के कगार पर हैं।

ये भी पढ़ें...लॉकडाउन के बीच योगी के मंत्री की अनूठी पहल, एक फ़ोन पर ऐसे पहुंचा रहे मदद

इसकी खबर पाकर रायबरेली के महिला थाने में महिला दरोगा और उनके साथ महिला आरक्षी ड्यूटी दे रही। बचे समय मे भोजन बना रही हैं। और ये सभी कुछ पुलिस व जिला प्रशासन के आला अधिकारियों की निगरानी में चलाया जा रहा है।

महिला दरोगा संतोष सिंह ने बताया कि भोजन तैयार होने के बाद वो और उनकी टीम इसे गरीब बस्तियों और दूर दराज से पैदल सफर करके.आने वाले राहगीरो तक पहुंचा रही हैं। आज उन्होंने अपनी पूरी टीम के साथ सर्वोदय नगर स्थित गरीब बस्ती में पहुंचकर लंच पैकेट बांटा है। इस खबर पर अपर पुलिस अधीक्षक नित्यानंद राय वह एडीएम प्रशासन रामविलास भी वहां पहुंचे और मातहतों की इस पहल पर उनकी सराहना की है।

ये भी पढ़ें...कोरोना के चपेट में पूरा अमेरिका, जॉबलेस लोगों ने किया भत्‍ते का आवेदन

अनंतराम टोल टैक्स पर जिला व पुलिस प्रशासन ने आगंतुकों को कराया जलपान

औरैया। जहां एक और पूरा देश लाक डाउन की समस्या से जूझ रहा है। वही जनपद औरैया में एक ऐसा नजारा भी देखने को मिला जिसमें जिला प्रशासन द्वारा भूखे लोगों को नाश्ता करा कर उन्हें गंतव्य तक पहुंचाए जाने में उनकी सहायता की गई। उत्तर प्रदेश के जनपद औरैया में शुक्रवार को पुलिस व जिला प्रशासन की दरियादिली देखने को मिली। जिसमें जिला प्रशासन के अधिकारियों ने दिल्ली से पैदल चलकर आए लोगों को बस जलपान कराते हुए लड्डू का नाश्ता करा कर रोडवेज बस द्वारा निशुल्क उनके गंतव्य तक पहुंचाया।

इस दौरान करीब आधा सैकड़ा यात्रियों को टोल प्लाजा से रवाना किया गया। शुक्रवार की सुबह कोतवाली अजीतमल क्षेत्र के अंतर्गत अनंतराम टोल प्लाजा पर गुड़गांव व दिल्ली से पैदल चलकर आए आधा सैकड़ा लोग टोल प्लाजा पर एकत्रित हुए।

ये भी पढ़ें...क्या अब इनका प्लाज्मा बचाएगा, कोरोना पीड़ितों की जान!

इसकी जानकारी जिला प्रशासन को जैसे ही मिली तो वह लोग आनन-फानन में स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ मौके पर पहुंच गए और उन लोगों द्वारा आए हुए लोगों को चाय नाश्ता कराते हुए लड्डू वितरित किए। उप जिलाधिकारी रमेश यादव ने तत्काल प्रभाव से उन्हें गंतव्य तक भेजने के लिए रोडवेज बस की निशुल्क व्यवस्था कराई।

उन्होंने आए हुए सभी लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग कराई और उनसे अपील कि यदि उन्हें कोई भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या दिखाई दे तो वह अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर जाकर अपनी जांच तुरंत कराएं और जांच कराने के उपरांत अपने अपने घरों में सुरक्षित रहें।

उप जिलाधिकारी रमेश यादव के साथ अजीतमल कोतवाली प्रभारी सुधीर कुमार सिंह, अनंतराम चौकी प्रभारी चंद्रका प्रसाद यादव व अन्य पुलिसकर्मी भी मौजूद रहे। गुड़गांव में दिल्ली से चलकर आने वालों में मूसानगर, भोगनीपुर, रायबरेली व कानपुर के करीब आधा सैकड़ा लोग मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें...इस विलुप्त होते जानवर से फैला कोरोना, वैज्ञानिकों का दावा, सांप-चमगादड़ से नहीं

उप जिलाधिकारी ने अपनी देखरेख में आए हुए सभी यात्रियों को रोडवेज बस के माध्यम से निशुल्क उनके गंतव्य तक पहुंचाने में सहायता की। पैदल चलकर आए हुए लोगों ने जिला प्रशासन की जमकर सराहना की।

अंबेडकरनगर जरूरतमन्दों को पुलिस ने उपलब्ध कराया राशन व भोजन

अंबेडकरनगर। कोरोना वायरस की महामारी के कारण लाक डाउन किए गए जिले में जरूरतमंदों को सहायता उपलब्ध कराने के लिए खाकी भी आगे आ गई है। अयोध्या समाचार द्वारा काश ! इनकी कोई सुध लेता, शीर्षक से समाचार प्रकाशित किए जाने के बाद पुलिस अमला अचानक हरकत में आ गया । अपर पुलिस अधीक्षक अवनीश कुमार मिश्र ने प्रभारी निरीक्षक अकबरपुर अमित कुमार सिंह के साथ जिला मुख्यालय पर स्थित जरूरतमंदों व गरीबों को राशन के पैकेट उपलब्ध कराने के साथ ही भोजन भी उपलब्ध कराया।

अपर पुलिस अधीक्षक ने कहा कि पुलिस आगे भी लोगों की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए उन्हें सहायता उपलब्ध कराती रहेगी। अपर पुलिस अधीक्षक ने हाइडल के सामने झुग्गी में रह रहे परिवारों को राशन उपलब्ध कराया तथा उन्हें आश्वासन दिया कि आने वाले दिनों में भी उन्हें इस प्रकार की सुविधा प्रदान की जाती रहेगी।

ये भी पढ़ें...लॉकडाउन के बीच किसानों के लिए योगी सरकार ने उठाया ये बड़ा कदम

इसके अलावा अकबरपुर थाने की उपनिरीक्षक देविका सिंह ने भी जरूरतमंदों को भोजन के पैकेट उपलब्ध कराए। शहजादपुर चौकी प्रभारी नीरज कुमार ने भी तमसा पुल पर रहने वाले घरिकार बिरादरी के जरूरतमंदों को बिस्कुट व अन्य खाद्य सामग्री प्रदान की ।

इसके पूर्व पुलिस की पीआरवी भी ने एक जरूरतमंद को कुत्ता काटे जाने की सूचना मिलने के बाद उसे दवाई उपलब्ध करवाई। पुलिस के इस मानवीय चेहरे को देखकर लोग उनकी प्रशंसा कर रहे है।

लाक डाउन की स्थिति में थानाध्यक्ष मालीपुर द्वारा गरीब व असहाय लोगों के बीच लंच पैकेट बाट कर इंसानियत की मिसाल पेश की गई। क्षेत्र की जनता भी थानाध्यक्ष मालीपुर विवेक वर्मा की प्रसंशा कर रही है। थानाध्यक्ष विवेक ने ऐसे लोगों की मदद करने का वीडा उठाया है। थानाध्यक्ष मालीपुर ने कहा कि उनकी जानकारी में कोई भी व्यक्ति भूखा नही रहेगा ।

ये भी पढ़ें... लॉकडाउन: लोगों के लिए वरदान साबित हो रही प्रभु जी की रसोई, ऐसे मिल रही मदद

किसी को भी राशन सहित अन्य जरूरी सामान के लिए व्यवस्था न हो तो ऐसी विषम परिस्थिति में तत्काल मालीपुर थाने के सरकारी नंबर पर फ़ोन करें जरूरी वस्तुएं गरीबों तक निःशुल्क पहुँचाई जाएगी। थानाध्यक्ष विवेक वर्मा ने यह भी कहा कि लॉक डाउन की इस परिस्थिति में कोई भी घर से बाहर न निकले।

अयोध्या। कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते समाजवादी पार्टी भी उतरी मदद में। बांट रही राहत सामग्री व खाने का पैकेट। सपा के महानगर महासचिव हामिद जाफर मीसम व दो अन्य सपा पार्षदों ने वार्डों में बांटे राहत सामग्री। जो श्रम विभाग में नहीं है पंजीकृत उन लोगों को पहुंचाई मदद।

देव दूत बन कर आये लोगो ने चार दिनों से भूंखे सैकड़ो ट्रक ड्राइवर, क्लीनरों को बांटे लंच पैकेट ।

हमीरपुर ज़िले में नेशनल हाइवे में ट्रक सहित फसे , चार दिनों से भूंखे प्यासे फसे सैकड़ो ड्राइवरों , कंडेक्टरों के लिये कुछ लोग" देव दूत" बन कर प्रकट हुई और भोर के अंधेरे में लांच पैकेट बांट कर उनकी भूंख मिटाने की कोशिश की है । चार दिनों बाद ही सही अचानक खाना मिलने से इन ड्राईवर , कंडेक्टरों के चेहरे खिल उठे है ।

भोर के अंधेरे में ट्रक चालको को लांच पैकेट बांट रहे यह लोग वोह गुमनाम समाज सेवी है जिनसे इन ट्रक ड्राइवरों की भूंख देखी नही गयी और इन्होंने आपस मे मिल कर पूड़ी सब्जी बनवा कर भूंख से बेहाल ट्रक ड्राइवर, कंडेक्टरों को बांटी है । जिससे चार दिनों से बिना खाने से भूंखे ड्राइवरों में खुशी की लहर दौड़ गयी है ।

हमीरपुर ज़िले में लॉक डाउन होते ही नेशनल हाइवे में रोके गये सैकड़ो ट्रकों के ड्राइवर और कन्डेक्टर चार दिनों से भूंख , प्यास से बेहाल थे जिनकी जानकारी मिलने पर कई समाज सेवी आगे आये और भोर के अंधेरे में इन ड्राइवरों को लांच पैकेट दे कर उनकी भूंख मिटाई है ।

ये भी पढ़ें... लॉकडाउन के बीच योगी के मंत्री की अनूठी पहल, एक फ़ोन पर ऐसे पहुंचा रहे मदद

हमीरपुर ज़िले से हो कर गुजरने वाले एन एक 34 मे मंगलवार की दोपहर को ही ट्रकों का आवा गमन रोक दिया गया था जिससे ज़िले में कई स्थानों पर सैकड़ो ट्रक खड़े हो गये थे । सभी दुकान, होटल, ढाबे बन्द हो जाने से इन ट्रक ड्राइवरों, कंडक्टरों के सामने भूख मरी की समस्या पैदा हो गयी थी ।

जब भूंख, प्यास से परेशान न ट्रक वालो की सूचना लोगो को मिली तो कई समाज सेवी आगे आये और उन्होंने खाने के पैकेट बनवा कर इन ट्रक वालो की भूंख मिटाने की कोशिश की है जिसकी ट्रक वालो के साथ आम जन भी खुल कर तारीफ कर रहे है ।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story