USA की बड़ी चाल! इस देश के खिलाफ 200 सैनिक, खतरनाक मिसाइलो से लैस

बताया जा रहा है कि इस हमले के बाद अमेरिका ने ईरान को जिम्मेदार ठहराया था। ड्रोन हमले के संदर्भ में पेंटागन प्रमुख ने कहा था कि जून में अमेरिकी स्पाई ड्रोन पर हमला, ब्रिटेन के तल टैंकर को जब्त किया जाना और सऊदी के दो प्रतिष्ठानों पर हमला नाटकीय रूप से ईरान की बढ़ी हुए आक्रमकता

न्यूयॉर्क: अमेरिकी रक्षा विभाग पेंटागन ने बड़ा ऐलान किया है, खबर है कि अमेरिका 200 सैन्य टुकड़ियां सऊदी अरब में भेजने वाला है, सैन्य टुकड़ियां सऊदी अरब की सुरक्षा में पैट्रियट मिसाइलों के साथ तैनात होंगी।

यह भी पढ़ें करतारपुर कॉरिडोर! दुश्मन देश में लहराएगा भारतीय तिरंगा

यह भी पढ़ें.  हार गया बाजी! जुए के खेल में पत्नी बनी खिलौना, दोस्तो ने किया ये हाल

बता दें कि यह सुरक्षा की दृष्टि से कदम तब उठाया जा रहा है जब, सऊदी अरब के दो तेल प्रतिष्ठानों पर हाल ही में ड्रोन हमला हुए था।

पेंटागन के प्रवक्ता ने कहा….

यह भी पढ़ें: लड़कियों को पसंद ये! बताती नहीं पर हमेशा ही खोजती हैं ये चीजें

यह भी पढ़ें. सलमान बनेंगे राधे! सच्चाई जानकर खुली रह जायेंगी आंखें

पेंटागन के प्रवक्ता जोनाथन हॉफमैन ने कहा कि इस तैनाती से किंगडम के संवेदनशील सैन्य एवं नागिरक संस्थानों की हवाई और मिसाइल सुरक्षा बढ़ेगी।

रक्षा विभाग ने कहा…

यह भी पढ़ें. अरे ऐसा भी क्या! बाथरूम में लड़कियां सोचती हैं ये सब

यह भी पढ़ें. ओह तेरी! पत्नी कहेगी पति से, बिस्तर पर ‘ना बाबा ना’

रक्षा विभाग के मुताबिक, तैनाती में सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइलों की एक बैटरी शामिल होगी, साथ ही एयर और मिसाइल डिफेंस सिस्टम के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले चार राडार तैनात होंगे।

जोनाथन हॉफमैन ने कहा…

यह भी पढ़ें.  होंठों का ये राज! मर्द हो तो जरूर जान लो, किताबों में भी नहीं ये ज्ञान

यह भी पढ़ें. बेस्ट फ्रेंड बनेगी गर्लफ्रेंड! आज ही आजमाइये ये टिप्स

इसके साथ ही जोनाथन हॉफमैन ने कहा कि यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि ये कदम क्षेत्रीय भागीदारों और मिडल ईस्ट में सुरक्षा और स्थिरता के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को दर्शाता है।

बताते चलें कि 14 सितंबर को सऊदी अरब की तेल कंपनी अरामको के अबकैक और खुराइस स्थित तेल कुओं पर ड्रोन हमला हुआ था।

यह भी पढ़ें. लड़की का प्यार! सुधरना है तो लड़के फालो करें ये फार्मूला

यह भी पढ़ें. असल मर्द हो या नहीं! ये 10 तरीके देंगे आपके सारे सवालों के सही जवाब

पेंटागन प्रमुख ने कहा…

बताया जा रहा है कि इस हमले के बाद अमेरिका ने ईरान को जिम्मेदार ठहराया था। ड्रोन हमले के संदर्भ में पेंटागन प्रमुख ने कहा था कि जून में अमेरिकी स्पाई ड्रोन पर हमला, ब्रिटेन के तल टैंकर को जब्त किया जाना और सऊदी के दो प्रतिष्ठानों पर हमला नाटकीय रूप से ईरान की बढ़ी हुए आक्रमकता को दिखाता है।

यह भी पढ़ें.  झुमका गिरा रे…. सुलझेगी कड़ी या बन जायेगी पहेली?

यह भी पढ़ें. लड़की का प्यार! सुधरना है तो लड़के फालो करें ये फार्मूला

अमेरिकी रक्षा मंत्री ने कहा…

अमेरिकी रक्षा मंत्री मार्क एस्पर ने सऊदी अरब के तेल ठिकानों पर हुए ड्रोन हमले के बाद कहा था कि सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के आग्रह पर अमेरिका खाड़ी क्षेत्र में अमेरिकी सुरक्षा बल भेजेगा।