बिज़नेस

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने उद्योगपति राहुल बजाज के बयान पर जवाब दिया है। वित्त मंत्री ने कहा है कि ऐसी बातों से राष्ट्रीय हित पर चोट लग सकती है।

एक साल पहले इसी माह की तुलना में यह संग्रह छह प्रतिशत बढ़ा है और 1.03 लाख करोड़ रुपये रहा है। इससे पहले अक्टूबर में जीएसटी वसूली 95,380 करोड़ रुपये थी जबकि पिछले वर्ष नवंबर में 97,637 करोड़ रुपये की वसूली हुई थी।

भोपाल से बीजेपी सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर की ओर से नाथूराम गोडसे को देशभक्त कहने का मामला भी उठा। राहुल बजाज ने कहा कि साध्वी प्रज्ञा को पहले तो टिकट दिया गया, फिर जब वो चुनाव जीतकर आईं तो उन्हें डिफेंस कमेटी में लिया गया...ये माहौल जरूर हमारे मन में हैं, लेकिन इसके बारे में कोई बोलेगा नहीं।

पेटीएम के मालिक विजय शेखर शर्मा को डिजिटल भुगतान कंपनी पेटीएम के लिए 1 बिलियन अमेरिकी डालर (करीब 7,170 करोड़ रुपये) की फंडिंग मिल सकती है। ऐसा खबर है कि यूके के पूर्व प्रधानमंत्री डेविड कैमरन सहित कई निवेशकों के साथ पेटीएम के मालिक विजय शेखर शर्मा से बातचीत कर रही है। 

दिल्ली से सटे जेवर एयरपोर्ट के निर्माण के लिए ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल को जिम्‍मेदारी मिली है। ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल ने अडानी ग्रुप और दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड( DIAL )को पीछे छोड़ते  हुए बाजी मारी है।

शादियों का सीजन है सोने चांदी की खरीददारी तो लोग कर ही रहे हैं। चाहें खुशी से या मजबूरी से ।अगर आप भी सोने के गहने खरीदने का प्लान बना रहे हैं तो ये खबर पढ़ें। बता दें शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान जानकारी दी है कि  15 जनवरी से देश में सोने की हॉलमार्किंग अनिवार्य होगी।

रिलायंस इंडस्ट्रीज का बाजार पूंजीकरण गुरुवार को 10 लाख करोड़ रुपये के पार हो गया है। पिछले पांच साल में रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में 217 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है और गुरुवार को इसकी शेयर कीमत 1575 रुपये के आसपास थी। रिलायंस के बाद सबसे ज्यादा वैल्यूएशन वाली कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज है।

आम आदमी की थाली में हमेशा रहने वाला प्याज अब अमीरों का भोजन हो गया है। प्याज इतना महंगा हो चुका है कि आम लोगों के बीच चर्चा का विषय बन गया है। प्याज कई जगहों पर 90 रुपये किलो तो कई जगहों पर 100 रुपये किलो तक पहुंच गया है।

Reliance Industries Ltd (आरआईएस) हर बार की तरह इस बार भी देश में नंबर वन पर बनी हुई है। Reliance Industries के शेयर में आई तेजी की वजह से कंपनी का मार्केट कैप 10 लाख करोड़ रुपये के पार पहुंच चुका है।

अक्सर लोग नोट असली है या नकली इसकी पहचान नहीं कर पाते हैं। इसी के चलते वो धोखाधड़ी के शिकार हो जाते हैं। लेकिन अगर आप ये पहचान जाएं कि नोट असली है या नकली तो आप कभी धोखाधड़ी के शिकार नहीं होंगे।