Arunachal Pradesh

लद्दाख में सीमा पर भारत और चीन के बीच तनाव चरम पर है। लद्दाख में मात खान के बाद चीन बौखलाया हुआ है। अब इस बीच चीन ने अरुणाचल सीमा पर हलचढ़ बढ़ा दी है। लेकिन भारतीय सेना ने भी जवाब देने के लिए तैयार है।

चीन द्वारा पूर्वी लद्दाख में चीनी सैनिकों की घुसपैठ करने की कोशिश कामयाब नही हो पा रही है, ऐसे में चीन अब अरुणाचल प्रदेश के बॉर्डर पर अपनी नजर भिड़ाए हुए हैं। जिसके चलते ताजा जानकारी मिली है कि चीन अब अरुणाचल प्रदेश में लाइन ऑफ एक्चूअल कंट्रोल (LAC) पर अपने सैनिकों के लिए ठिकाने बना रहा है।

दुश्मनों के खिलाफ मोर्चाबंदी के लिए निकले सैनिकों की ट्रक अरुणाचल प्रदेश में खाई में जा गिरी। इस हादसे में बिहार के गया जिला के अलीपुर थाना के केसपा निवासी रौशन कुमार समेत कई जवानों की मौके पर मौत हो गया।

भारत की बड़ी जीत हुई है। सैन्य तनाव से बौखलाए चीन ने अरुणाचल प्रदेश के पांच भारतीय युवाओं को अगवा कल लिया था, लेकिन ड्रैगन को भारत के आगे झुकना पड़ा।

अरुणाचल प्रदेश से राहत देने वाली बड़ी खबर आ रही है। राज्य के सुवानसिरी जिले में रास्ता भटक गए 5 भारतीय नागरिक वापस अपने वतन में आ गए हैं। ये पांचों नागरिक भटकते हुए चीन की सीमा के पार चले गए थे।

अरुणाचल प्रदेश में चीनी सीमा के पास रहने वाले भारतीयों की जिंदगी बहुत संघर्षभरी है। चीनी सीमा के करीब रहने वाले ये लोेग भारतीय सेना के लिए काफी मददगार साबित हुए हैं।

भारत चीन सीमा विवाद के बीच आज की बड़ी खबर अरुणाचल प्रदेश से आ रही है। चीन अगवा किये गये पांच भारतीय नागरिकों को आज किसी भी वक्त भारत को सौंप सकता है।

केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू ने मंगलवार को जानकारी दी कि अगवा भारतीयों को वापस लाने की प्रक्रिया चल रही है। बता दें कि पांचों युवक अरुणाचल प्रदेश के सुबनसिरी जिले के रहने वाले हैं।

लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर रोज नई चाल चलने वाले चीन ने अब एक नई शरारत की है। भारत की ओर से पांच लापता भारतीय युवकों का मुद्दा उठाए जाने पर चीन ने एक और हिमाकत करते हुए अरुणाचल प्रदेश को ही अपना हिस्सा बता डाला।

लद्दाख सीमा पर भारत के साथ बढ़ते तनाव के बावजूद चीन अपनी नापाक हरकतों को अंजाम देने में जुटा हुआ है। इसी कड़ी में अरुणाचल प्रदेश की सीमा पर एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है।