Arunachal Pradesh

मंगलवार को उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और अरुणाचल प्रदेश में भूकंप के झटके महसूस किए गए।

चीन ने 1951 में तिब्बत के ढाई लाख स्क्वायर किलोमीटर क्षेत्र पर कब्जा कर लिया था और तब से तिब्बत में चीन का ही शासन चल रहा है।

बीते कुछ दिनों से उत्तर भारत के कई हिस्सों में भीषण गर्मी ने लोगों को परेशान कर रखा है। गर्मी के साथ-साथ गर्म हवाएं भी बह रही हैं, जिससे लोग घरों से बाहर जाने के लिए हिम्मत तक नहीं जुटा पा रहे हैं।

देशभर में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलो को देखते हुए अरुणाचल प्रदेश में कोरोना वायरस को लेकर लापरवाही बरतने वालों के खिलाफ सरकार अब और कठोर कदम उठाएगी।

भारत में लॉकडाउन की अवधि लगभग खत्म होने वाली है, वहीं एक के बाद एक राज्य सरकारें अपने प्रदेश में लॉकडाउन बढ़ा रहीं हैं। इसी कड़ी में सोमवार को अरुणाचल प्रदेश की सरकार ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन को 30 अप्रैल तक बढ़ा दिया। बता दे कि आज ही तमिलनाडु में भी लॉकडाउन 30 अप्रैल तक बढ़ाया गया है।

गृह मंत्री अमित शाह के अरुणाचल प्रदेश के दौरे पर चीन के दखल के बाद भारत ने फटकार लगाई है। चीन की आपत्ति को बेवजह बताते हुए गुरुवार को सरकार ने कहा है कि यह भारत का अभिन्न हिस्सा है।

20 साल के एक व्यक्ति का शव ब्रिटेन के ब्राइटन शहर में एक फ्लैट के बेडरूम से मिला है। बताया जा रहा है कि यह शव अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कलिखो पुल के बेटे शुभांसो पुल का है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह अरुणाचल प्रदेश के तवांग पहुंचे और सुरक्षा का जायजा लिया। साथ ही तवांग युद्ध स्मारक पर माल्यार्पण भी किया। उन्होंने कहा कि सीमावर्ती क्षेत्रों में रहने वाले लोग सामान्य नागरिक नहीं हैं, वे हमारी कूटनीतिक संपत्ति हैं।