loc

जम्मू-कश्मीर में सटे नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान ने बीते 24 घंटे से रुक-रुककर भारी गोलाबारी कर रहा है। पाकिस्तानी सेना के जवान रुक-रुककर पुंछ जिले में एलओसी के पास वाले रिहाइशी इलाकों और सेना की पोस्टों को निशाना बना रहे हैं।

कश्मीर से बड़ी खबर सामने आ रही है। एक बार फिर पाकिस्तान ने अपनी कायराना हरकत दिखाते हुए पुंछ जिले में LoC के पास सीजफायर का उल्लंघन किया है।

पाकिस्तान ने आग्नेयास्त्रों का जखीरा सीमा पर बढ़ा दिया है। भारतीय सेना ने इस संबंध में व्यापक विश्लेषण किया है और इसकी रिपोर्ट सरकार को दे दी है। सरकार को सौंपी गयी रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान ने संघर्षविराम समझौते का उल्लंघन करने और भारतीय क्षेत्र में लगातार गोलाबारी करने के लिए नियंत्रण रेखा पार आर्टिलरी बंदूकें भी तैनात कर दी हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस बार दिवाली मनाने LoC पर जा सकते हैं। बड़ी खबर आ रही है कि पीएम मोदी इस बार दिवाली सिमाई इलाकों में मना सकते हैं, बता दें कि सिमाई इलाकों (पाकिस्तान और चीन से लगे क्षेत्र) तैनात भारतीय जवानों के साथ दिवाली मना सकते हैं।

पाकिस्तान ने मंगलवार को भारतीय सेना से अपील कि वह अपनी कार्रवाई रोक दे। पाक सेना ने कुछ विदेशी अधिकारियों और पत्रकारों को उस क्षेत्र में ले गई जहां भारतीय सेना ने आतंकी कैंपों पर कार्रवाई की थी।

जम्मू कश्मीर के पुछ जिले के नियंत्रण रेखा के पास एक गांव में भारतीय सेना ने पाकिस्तानी सेना द्वारा दागी गई दो मिसाइल शेल को तबाह कर दिया। यह गांव जम्मू कश्मीर के पुंछ सेक्टर के अंर्तगत आता है।

दिवाली से पहले सीमा पर भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ गया। पाकिस्तान लगातार सीजफायर का उल्लंघन कर रहा है जिसका भारतीय सेना करारा जवाब दे रही है। हाल ही सेना ने पीओके में कई आतंकी कैंपों, आतंकियों और पाक रेंजर्स को ढेर कर दिया था।

रविवार को कश्मीर के बारामूला के उरी में नियंत्रण रेखा (LoC) पर पाक सेना की गोलाबारी का जवाब देते हुए भारतीय सेना ने पाकिस्तान की तीन चौकियों को तबाह कर दिया।

जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। सीमा पार से बॉर्डर पर अशांति फ़ैलाने के लिए रुक- रुक कर फायरिंग की जा रही है। भारतीय सेना इसका मुंहतोड़ जवाब देने का काम रही है।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अब खुद सच स्वीकार किया है कि सामीपार से भूसपैठ होती है। उन्होंने यह बात सीधे तौर पर तो नहीं, लेकिन अप्रत्यक्ष रूप से स्वीकार की है।