odisha

यही नहीं, भारी बारिश के कारण रेल, सड़क और हवाई यातायात भी काफी प्रभावित है। सरकार इससे निपटने के इंतजाम में लगी हुई है। महाराष्ट्र में भी अब तक 29 लोगों की मौत हो चुकी है। यह संख्या शुक्रवार को और बढ़ गयी। कोल्हापुर में 34 राहत दल और सांगली में 36 राहत दल काम कर रहे हैं।

भारत ने ओडिशा के परीक्षण केंद्र से एक परिष्कृत मिसाइल का रविवार को परीक्षण किया। ‘सतह से हवा में मार करने में सक्षम त्वरित प्रक्रिया मिसाइल’ (क्यूआरएसएएम) को प्रत्येक मौसम तथा प्रत्येक इलाके में इस्तेमाल हो सकने के लिहाज से तैयार किया गया है।

जगन्नाथ मंदिर वापस पहुंचने के बाद देवी-देवताओं के लिए मंदिर के दरवाजे एकादशी को खोले जाते हैं, विधिवत स्नान और मंत्रोच्चार के बीच विग्रहों को पुनः स्थापित किया जाता है। इस अवसर पर घरों में कोई भी पूजा नहीं होती है। पुरी यात्रा के दौरान एकता में अनेकता देखने को पूरी तरह से मिलता है।

ओडिशा में हावड़ा-जगदलपुर समलेश्वरी एक्सप्रेस के इंजन समेत कई डिब्बे पटरी से उतरने की खबर सामने आ रही है। यह हादसा सिंगापुर रोड और केतुगुडा के बीच हुआ, जहां हावड़ा-जगदलपुर समलेश्वरी एक्सप्रेस के इंजन समेत कई डिब्बे पटरी से उतरे।

ओडिशा के बालासोर शहर में शोभारामपुर में एक सरकारी स्कूल के परिसर के अंदर स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा टूटी-फूटी अवस्था में मिली। पुलिस ने सोमवार को यह जानकारी दी।

अभी हाकी का गढ़ बन चुका ओड़िशा अब अन्य खेलों की अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं के आयोजन पर भी ध्यान दे रहा है ताकि वह भविष्य में भारत की ओलंपिक मेजबानी के प्रयासों में मेजबान शहर के रूप में सबसे आगे रहे। 

ओडिशा के तटीय जिलों में पिछले महीने आए चक्रवाती तूफान ‘फानी’ के कारण राज्य को 9,336.26 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। तूफान की चपेट में आने से 64 लोगों की मौत हो गई थी। एक वरिष्ठ अधिकारी ने गुरुवार को यह जानकारी दी।

भुवनेश्वर से दिल्ली की रायसीना हिल तक का चंद्राणी का सफर एक परी कथा की तरह है। कुछ महीने पहले, चंद्राणी भी अन्य बेरोजगार लड़कियों की तरह नौकरी खोज रही थी। प्रतियोगिता परीक्षाएं में लक आजमा रही थी।

ओडिशा विधानसभा ने सत्तारूढ़ बीजू जनता दल पार्टी के वरिष्ठ विधायक सूर्या नारायण पैट्रो को सर्वसम्मति से अपना अध्यक्ष चुन लिया है। शनिवार को राज्य की 16वीं विधानसभा का सत्र आयोजित किया गया, जिसमें पैट्रो का निर्वाचन हुआ

भुवनेश्वर : भाजपा ने मोदी लहर पर सवार होकर पूरे देश में प्रचंड जीत हासिल की वहीं ओडिशा में सीएम नवीन पटनायक ने मोदी लहर का मजबूती से सामना किया। लोगों का विश्वास जीतने के कारण ही नवीन पटनायक पांचवीं बार ओडिशा के सीएम पद की शपथ लेने में कामयाब हुए। ओडिशा में इस बार …