relationship news

आज हम भले हम भले ही कितने आधुनिक हो गए हैं, लेकिन आज भी जब शादी की बात आती है तो हम दकियानुसी सोच के शिकार हो जाते हैं। अरैंज मैरीज शादी की जब बात आती है सारी सोच धरी की धरी  रह जाती है। अब अभी भी कुछ ऐसे परिवार है जहां लव मैरिज करना आसान नहीं होता,

इंसान का युवावस्था होता है- उसके ख्वाब को सजाने नए नए सपने देखने का और होता विपरीत लिंग के प्रति आकर्षण का। वो कही का भी इंसान हो और किसी भी जेंडर का युवावस्था में आकर्षण पैदा होना आमबात है।

फादर्स डे पर अपने पापा को स्पेशल फील कराने के बहुत से तरीके हैं लेकिन कभी-कभी शब्दों में बयां की गई बात उनके दिल में उतर जाती है  तो इस फादर्स डे अपने पापा के लिए  कुछ बच्चे मैसेज दे रहे है जिनके लिए उनकी दुनिया है उनके पापा, कुछ लोगों  के लिए उनके पापा  हीरो हैं अपने पापा को लेकर उनके क्या जज्बात हैं जानते हैं...

आज के समय में बच्चों, की परवरिश कैसे करें, यह बात अभिभावकों, के लिए बहुत बड़ी चुनौती बनती जा रही है। जहां आधुनिक अभिभावक चाहते है की उनका बच्चा, किसी भी स्थिति में किसी से कम नहीं हो, और बस इसी भागदौड़ मे लगे रहते हैं।

जो कपल मां-बाप नहीं बन पाते हैं वे बच्चों को गोद लेना पसंद करते हैं और उनकी परवरिश करते हैं। लेकिन जाने-अनजाने में कुछ ऐसा होता हैं जिसकी वजह से गोद लिए हुए बच्चों के मन को तकलीफ होती हैं और उन्हें दर्द महसूस होता हैं। अगर आप भी बच्चा गोद लिए है तो इन बातों का ध्यान रखें।

शादी हर व्यक्ति के जीवन का खूबसूरत सच हैं। चाहे लड़का हो या लड़की हर कोई शादी तो करना चाहता है। लेकिन उससे पहले घबराता है कि उसका भावी साथी कैसा होगा। उसके साथ जिंदगी की गाड़ी निभेगी या नहीं। कोई भी लड़का यही चाहता है कि उसकी पत्नी खूबसूरत के साथ-साथ संस्कारी, सुशील हो।

कोई भी रिश्ता हो वो सिर्फ प्यार और सौहार्द से ही टिकता है। इसलिए रिश्ते में प्यार और खुशी का मिलना बहुत जरूरी होता है। सुना होगा, किसी को जादू की झप्पी देने से सारी कड़वाहट दूर हो जाती है। इसका सबसे आसान तरीका होता है हग। हग करके लोग पार्टनर या किसी खास को खुश तो करते है। रि

शादी कभी भी दो अलग लोगों का मिलन नहीं होता है। बल्कि ये दो परिवारों का मिलन होता है। देश में लव मैरिज करने वाले  ज्यादातर इंटरकास्ट मैरिज करते है लेकिन समाज के कुछ लोग इसे सही नहीं मानते हैं। ऑनर किलींग करते हैं। देश में आज ओनर किलिंग एक बड़ी समस्या बन गई है।

ऐसे में पेरेंट्स पर बच्चों की पढ़ाई की जिम्मेदारी बढ़ जाती है। सभी माता-पिता की चाहत होती है कि उनके बच्चे पढ़-लिखकर भविष्य में नाम कमाएं। लेकिन इस पढ़ाई-लिखाई के साथ ही कुछ नया करने की चाह होना भी जरूरी हैं। ऐसे में पेरेंट्स को बच्चों को पढ़ाते समय कुछ टिप्स आजमाने चाहिए

स्मार्टफोन रिबूट होने के बाद रिलॉक होना या फोन कॉल के साथ ही टेक्स्ट मैसेज का ब्लॉक कर पाना इसके कुछ खास फीचर्स हैं। बच्चा यदि जरूरत से ज्यादा इंटरनेट का उपयोग करता है तो इस एप्लिकेशन से उसको भी ब्लॉक किया जा सकता है।