space

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि भारतीय स्पेस स्टेशन में 15-20 दिन के लिए कुछ अंतरिक्ष यात्रियों के ठहरने की व्यवस्था होगी। अगर इसरो 5 से 7 साल में अपना स्पेस स्टेशन बना लेगा तो वह दुनिया का चौथा देश होगा, जिसका खुद का स्पेस स्टेशन होगा। इससे पहले रूस, अमेरिका और चीन अपना स्पेस स्टेशन बना चुके हैं।

इस कविता को आपने बचपन में सुना ही होगा, कभी छोटे बच्चों के मामा, कभी इश्क में महबूबा का चांद बना, कभी चलनी से चांद का दिदार हुआ, कभी ईद के चांद की बेसब्री....... आखिर चांद है क्या...

आज पूरे देश को सिर्फ उस पल का इंतजार है, जब चंद्रयान-2 चांद पर सॉफ्ट लैंडिंग करेगा। भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रम के लिए आज ऐतिहासिक दिन है। चंद्रयान-2 शुक्रवार की रात डेढ़ से ढाई बजे के बीच चांद के दक्षिणी ध्रुव पर उतरेगा।

आज हम बात करते हैं चंद्रमा की, क्या आप को मालूम है चांद की धरती में छिपा हो सकता है ढेर सारा खज़ाना! यह बात अभी तक रहस्य बनी हुई है। क्या इसी लिए सभी चांद पर जाने की तैयारी कर रहे हैं, क्या अभी भी वहां समुद्र मंथन के प्राप्त मूल्यवान धातु या खज़ाना मौजूद है?

जब ऐनी ने यह अपराध किया था, तब वह अंतरिक्ष में थीं। ऐसे में फेडरल ट्रेड कमीशन और पुलिस का कहना है कि यह अपराध उनके कार्य क्षेत्र से बाहर है क्योंकि ये अंतरिक्ष में हुआ है। इसलिए वह इस मामले में कुछ नहीं कर पाए।

कंप्यूटर ने जिंदगी के हर क्षेत्र के काम को आसान कर दिया है। विज्ञान हमें आसमान को लांघकर चांद तक पहुंचा चुका है, लेकिन साइंस के कारनामों ने हमें हैरान करना नहीं छोड़ा है।

नासा की अंतरिक्ष यात्री क्रिस्टीना कोच के अंतरिक्ष अभियान की अवधि में विस्तार होने के साथ ही अब वह अंतरिक्ष स्टेशन में 328 दिन बिताने एक नया रिकॉर्ड बनाने को तैयार हैं।

अंतराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन में बनाया गया पिज्जा

अभी तक तो सिर्फ धरती पर चलने वाली कार आपने देखी होगी, लेकिन अब चांद पर जाने वाली कार भी आपको जल्द नजर आएगी। जापान की कार निर्माता कंपनी Toyota अब चांद पर कदम रखने की तैयारी की है।

जयपुर: मार्स इनसाइट लेंडर  के बारे में जो खोलेगा पृथ्वी के “रहस्य” ! अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी ‘नासा’ का ‘मार्स इनसाइट लेंडर’ सोमवार रात मंगल की धरती पर उतरने वाला है और इससे हमें पृथ्वी के बारे में और जानकारी मिल सकती है। रिपोर्ट के अनुसार, यह यान ग्रह की आंतरिक संचरना का अध्ययन करने के …