administration

शासन, प्रशासन की तमाम कोशिशों के बावजूद राष्ट्र व्यापी संकट के दौरान भी कई दुकानदार सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं। लाकडाउन के दौरान आपूर्ति बाधित होने का हवाला देते हुए वे न केवल वस्तुओं को निर्धारित दरों से अधिक मूल्य पर बेचने से बाज नहीं आ रहे हैं।

तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने का सबसे कारगर उपाय उसकी सही जानकारी और उससे बचाव है। ऐसे में प्रशासन ने लोगों से अपील की है कि वह न तो अफवाह फैलाएं न ही किसी अफवाह पर ध्यान दें।

मध्यप्रदेश में चल रहे सियासी ड्रामे ने मुख्यमंत्री कमलनाथ सरकार की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। मध्यप्रदेश में कमलनाथ की कांग्रेस पार्टी वाली सरकार पर संकट के बादल छा गए हैं। दरअसल, चार दिन से गायब चार विधायकों में से एक कांग्रेस विधायक हरदीप सिंह डंग ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है।

पूर्वी यूपी के सबसे बड़ी दवा मंडी भालोटिया मार्केट में मॉस्‍क और सेनिटाइजर ब्‍लैक में कई गुना दामों पर बेचने की सूचना के बाद सिटी मजिस्‍ट्रेट के नेतृत्‍व में छापेमारी की कार्रवाई की गई।

निर्भया मामले के तीनो दोषियों को अलग अलग फांसी देने कि आज होने वाली सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई जारी है। सुनवाई के दौरान जस्टिस भूषण ने सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता से पूछा कि जब आपका चार्ट यह दर्शा रहा है

सेन्ट्रर बार एसोसिएशन ने लखनऊ की हुई एक बैठक में इस बात पर चर्चा की गयी कि जिस तरह से न्यायालय परिसर में भीड भाड और वाहनों की आवाजाही रहती है उसके कारण पूरे क्षेत्र में जाम की स्थिति बनी रहती है।

हे जयंत! तुम अमृत के संरक्षक हो, उसे बचाने को तुम ही असुरों से जुझे हो, इसके लिए संपूर्ण देव जगत तुम्हारा चिरऋणी है। अमृत कुंभ को तुम ने ही बचाया, गुरु बृहस्पति और चंद्रमा ने तुम्हारी सहायता की। इसीलिए करोड़ों बरसों बाद भी तुम तीनों लोकों में सुविख्यात हो। किंतु क्या तुम्हारे आभामंडल और स्फूर्ति में कुछ कमी आ गई है क्या? यह सवाल तो उठा रहा है जयंत।

संदीप अस्थाना आजमगढ़। आजमगढ़ का जिला प्रशासन महापंडित राहुल सांकृत्यायन व समाजवादी नेता बाबू विश्राम राय पर काफी मेहरबान दिख रहा है। इसके अलावा अन्य महापुरुष व साहित्यकार यहां के जिला प्रशासन को नहीं दिख रहे हैं। प्रशासन के इस फैसले में यहां के लोगों को राजनीतिक बू नजर आ रही है। वैसे यहां के …

रायबरेली : 2017 में जनपद ने क्या खोया क्या पाया, इसे साधारण शब्दों में यूं कहा जा सकता है कि जनाकांक्षाओं की पूर्ति में शासन और प्रशासन फिसड्डी साबित हुआ है। देश की राजनीति में महत्वपूर्ण स्थान रखने वाला रायबरेली केंद्र में सरकार बदलने के बाद उपेक्षा का शिकार रहा। बीते तीन सालों में जिले …

आशुतोष सिंह वाराणसी। पीएम के संसदीय क्षेत्र बनारस में खुलेआम खनन का खेल जारी है। ठेकेदारों और सफेदपोशों की मिलीभगत से अवैध खनन का यह खेल खेला जा रहा है। जिले में कई स्थानों पर अवैध खनन जोर-शोर से चल रहा है,लेकिन खनन विभाग से लेकर पुलिस प्रशासन के अफसरों तक ने आंख पर पट्टी …